पी.जी.डी.एम (PGDM) कोर्स के बारे मे संपूर्ण जानकारी

PGDM Course Details in Hindi

मैनेजमेंट के क्षेत्र मे अच्छे खासे रोजगार के विकल्प होने के वजह से आजकल अधिकतर छात्रो का झुकाव इस ओर देखने को मिलता है। यहा आपको जानने योग्य बात ये है के इस क्षेत्र मे स्नातक स्तर से लेकर मास्टर डिग्री, मास्टर डिग्री डिप्लोमा तक के बेहतरीन कोर्सेस हाल फिलहाल मे मौजूद है।

अगर आप भी इस क्षेत्र मे करियर बनाने की सोच रहे है तो ये लेख आपके लिये खास होनेवाला है, क्योंकी आपको बता दे एम.बी.ए ही एकमात्र मैनेजमेंट मे उच्च शिक्षा का विकल्प नही होता है। इसके अलावा स्नातक उत्तीर्ण करने के उपरांत आप पी.जी.डी.एम जैसे कोर्स भी पुरे कर सकते है जिसमे एम.बी.ए के समकक्ष विषय शामिल होते है। जिनको पुरा कर आप मैनेजमेंट मे अच्छा भविष्य निर्माण कर सकते है।

यहा हम आपको पी.जी.डी.एम कोर्स इस विषय पर ही संपूर्ण आवश्यक तथा महत्वपूर्ण जानकारी देंगे, जिसे पढने के बाद आपको भविष्य मे करियर संबंधी शिक्षाक्रम के चयन मे काफी हद तक मार्गदर्शन प्राप्त होगा।

पी.जी.डी.एम (PGDM) कोर्स के बारे मे संपूर्ण जानकारी – PGDM Course Details in Hindi

PGDM Course Details in Hindi
PGDM Course Details in Hindi

पी.जी.डी.एम का फुल फॉर्म या अर्थ क्या होता है?- PGDM Course Full Form or What is PGDM

पी.जी.डी.एम का फुल फॉर्म ‘पोस्ट ग्रेज्यूएट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट'(Post Graduate Diploma In Management) होता है, जो के एक पोस्ट ग्रेज्युएट डिप्लोमा स्तर का कोर्स होता है।

पी.जी.डी.एम कोर्स का अवधी – PGDM Course Duration

इस कोर्स का न्यूनतम अवधी २ साल का होता है, जिसे पुरा करने के लिये किसी भी छात्र को कमसे कम दो साल का वक़्त देना होता है।

कोर्स का शिक्षा शुल्क – PGDM Course Fees

बात करे इस कोर्स के शिक्षा शुल्क की तो ये लगभग १ लाख से लेकर २० लाख तक के बिच मे होता है। यहा आपके महाविद्यालय के चयन अनुसार कोर्स शुल्क मे काफी हद तक अंतर देखने को मिलता है।

पी.जी.डी.एम कोर्स मे प्रवेश हेतू पात्रता – PGDM Course Eligibility

  1. किसी भी शिक्षा धारा से न्यूनतम ग्रेज्यूएशन की शिक्षा उत्तीर्ण करना आवश्यक होता है, जिसमे कमसे कम ५० प्रतिशत अंको के साथ उत्तीर्ण होना अनिवार्य होता है।
  2. आपने स्नातक कि डिग्री किसी भी मान्यताप्राप्त युनिव्हर्सिटी से उत्तीर्ण करना आवश्यक होता है।
  3. कुछ विशिष्ट महाविद्यालय इस कोर्स मे प्रवेश हेतू पात्रता परीक्षा का आयोजन करते है, उस स्थिती मे आपको पात्रता परीक्षा देना आवश्यक होता है।

पी.जी.डी.एम के लिये प्रवेश हेतू महाविद्यालय/युनिव्हर्सिटी – PGDM Colleges / Universities

  1. इंटरनेशनल मैनेजमेंट इन्स्टिट्यूट – नई दिल्ली
  2.  आई.आई.एम – कोलकता
  3. नरसी मोन्जी इन्स्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज – मुंबई
  4. आई.आई.एम बंगलौर
  5. आई.आई.एम उदयपुर
  6. आई.आई.एम अहमदाबाद, इत्यादि ..

पी.जी.डी.एम कोर्स का पाठ्यक्रम –- PGDM Syllabus

  • प्रथम साल (First Year)
  1. मैनेजरियल इकोनॉमिक्स
  2. क्वांटिटिव मेथड्स
  3.  मैनेजमेंट फंक्शन्स एंड आर्गेनाइजेशन बिहेवियर
  4. फाइनेंशियल एंड मैनेजमेंट एकाउंटिंग
  5. इंट्रोडक्शन टू इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी
  6. बिजनेस कम्युनिकेशन
  7. ह्युमन रिसोर्स मैनेजमेंट
  • द्वितीय साल (Second Year)
  1. प्रोडक्शन एंड ऑपरेशन मैनेजमेंट
  2.  मैनेजमेंट ऑफ इन्फॉर्मेशन सिस्टम
  3.  ऑपरेशन मैनेजमेंट
  4. मार्केटिंग मैनेजमेंट
  5. ह्युमन रिसोर्स मैनेजमेंट
  6. रिसर्च मेथोडोलॉजी
  7.  मैनेजमेंट सायन्स
  8.  इकोनॉमिक एंड सोशल एनवायरनमेंट

पी.जी.डी.एम कोर्स के बाद रोजगार के अवसर तथा सैलरी – Job Opportunities And Salary After PGDM

इस कोर्स के पश्चात आप निचे दिये गये पदो पर काम कर सकते है जैसा के;

  1.  इन्वेस्टमेंट बैंकर
  2.  बिजनेस एनालीस्ट
  3. एच.आर मैनेजर
  4.  फाइनेंशियल एडवायजर
  5. रिलेशनशिप मैनेजर
  6. सेल्स एंड मार्केट एनालीस्ट, इत्यादि ..

उपरोक्त पदो पर शुरुवात मे सालाना ३ लाख से लेकर ६ लाख तक सैलरी दी जाती है जिसमे बढोतरी होकर कुछ् सालो बाद सालाना १५ से २० लाख तक लगभग सैलरी भी दी जाती है। यहा आपके नौकरी का शहर और कंपनी का स्तर इत्यादी प्रमुख चिजो के अनुसार सैलरी मे बदलाव देखने को मिलता है।

इस प्रकार से आपने अबतक पी.जी.डी.एम कोर्स के बारे मे लगभग सभी महत्वपूर्ण पह्लूओ से जुडे जानकारी को पढा, आशा करते ये जानकारी आपको काफी पसंद आयी होगी और आपके लिये ये फायदेमंद साबित होगी। हमसे जुडे रहने के लिये बहुत बहुत धन्यवाद।…

इस विषय पर अधिकतर बार पुछे जाने वाले सवाल – FAQ on PGDM Course

  1. पी.जी.डी.एम का फुल फॉर्म क्या होता है?

जवाब: पोस्ट ग्रेज्यूएट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट।

2. कृपया मुझे पी.जी.डी.एम कोर्स का अवधी क्या होता है बताइये?

जवाब: २ साल।

3. पी.जी.डी.एम कोर्स मे प्रवेश हेतू शिक्षा की पात्रता क्या होती है?

जवाब: किसी भी शिक्षा धारा से स्नातक या ग्रेज्यूएशन की शिक्षा न्यूनतम ५० प्रतिशत अंको से उत्तीर्ण करना अनिवार्य होता है।

4. एम.बी.ए और पी.जी.डी.एम कोर्स मे क्या मुलभूत अंतर होता है? (Difference Between M.B.A and PGDM / M.B.A Vs PGDM )

जवाब: वैसे तो ये दोनो मैनेजमेंट के शिक्षाक्रम है, पर एम.बी.ए एक मास्टर डिग्री कोर्स होता है वही पी.जी.डी.एम एक डिप्लोमा स्तर का कोर्स है। एम.बी.ए के तुलना मे पी.जी.डी.एम कोर्स का शिक्षा शुल्क बहुत ज्यादा होता है। एम.बी.ए का मतलब मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन होता है वही पी.जी.डी.एम का मतलब पोस्ट ग्रेज्यूएट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट होता है।

5. पी.जी.डी.एम कोर्स मे प्रवेश की प्रक्रिया क्या होती है? (Admission Process For PGDM)

जवाब: स्नातक की परीक्षा के बाद आपको पी.जी.डी.एम के लिये संबंधित महाविद्यालय मे आवेदन करना होता है, जिसमे कुछ महाविद्यालय पात्रता परीक्षा के अंको के आधार पर प्रवेश देते है। इस स्थिती मे इस तरह के पात्रता परीक्षा के अंको के आधार पर या फिर अन्य जगहो पर स्नातक परीक्षा के अंको के आधार पर मेरीट लिस्ट जारी की जाती है।यहा उच्च अंक प्राप्त छात्रो का प्रवेश निश्चित हो जाता है।

6. क्या पी.जी.डी.एम कोर्स को ऑनलाइन के माध्यम से पुरा किया जा सकता है? (PGDM Course Through Online)

जवाब: हा।

Gyanipandit.com Editorial Team create a big Article database with rich content, status for superiority and worth of contribution. Gyanipandit.com Editorial Team constantly adding new and unique content which make users visit back over and over again.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.