5 प्रेरणादायक जीवन मंत्र | 5 Jeevan Mantra in Hindi

Jeevan Mantra

“अपने विचारो को सकारात्मक रखे क्योकि आपके विचार ही आपके शब्द बनते है. अपने शब्दों को सकारात्मक रखे क्योकि आपके शब्द ही आपका स्वभाव बनते है. अपने स्वभाव को सकारात्मक रखे क्योकि आपका स्वभाव ही आपकी आदत बनता है. अपनी आदतों को सकारात्मक रखे क्योकि आपकी आदते ही आपके गुण बनते है. अपने गुणों को सकारात्मक रखे क्योकि आपके गुण ही आपकी किस्मत निर्धारित करते है.” – महात्मा गांधी – Mahatma Gandhi

Jeevan Mantra in Hindi

5 प्रेरणादायक जीवन मंत्र – 5 Jeevan Mantra in Hindi

1) Jeevan Mantra – अपने विचारो को बताने से पहले थोडा सोच ले :

गलत समय पर गलत बाते बोलना आपकी मुसीबतों को बढ़ा सकता है.
अंततः हम सभी को आत्ममंथन की जरुरत होती ही है. ये एक साधारण उपाय है हम हमारे रवैये को बदलकर ही जिंदगी में बहोत सी मुसीबतों का सामना आसानी से कर सकते है. और प्यार भरे रिश्तो को जिंदगीभर के लिये बनाये रख सकते है.

2) Jeevan Mantra – आलोचनाओ से दूर रहे और दूसरो का मजाक न उडाये :

हमारी अनुभूति और उसके प्रकोप के दो तरह के प्रभाव होते है. यदि आप प्यार, स्नेह, दया, करुणा, कल्याण के रूप में सकारात्मक विचारो को भेजते हो तो इससे आपके संबंध और भी मधुर और मजबूत बनेंगे. इसके विपरीत जो लोग गुस्सा, नफरत, चिंता, आलोचना, गलतिया ढूंडना, नकारात्मक सोचना और बुरे शब्दों का प्रयोग करते है, उनके संबंध ख़त्म होते हुए नज़र आते है. और इसी की चिंता में इंसान के जीवन से प्यार और ख़ुशी हमेशा के लिये चली जाती है. दो इंसानों में संबंध में दोनों में एक-दूजे को समझने की ताकत होनी चाहिये, ना की एक-दूजे में अहंकार और द्वेषभाव होना चाहिये.

3) Jeevan Mantra – क्या आप आसानी से दुखी होते हो और मुश्किल से खुश होते हो ?

मेरा ऐसा मानना है की अच्छी और बुरी आदतों को सिमित जगह तक ही रखना आपको गलत रास्तो पर ले जा सकता है. लोगो में बुरी आदतों को जल्दी अपनाने की और उन्हें विकसित करने की आदत होती है जबकि अच्छी आदते बड़ी मुश्किल और लाख कोशिशो के बाद ही लगती है. और इसी वजह से हम एक-दुसरे से नाराज़ रहते है. हमें हमारी आंतरिक भावना को सोच-समझकर ही बाहर लाना चाहिये. आंतरिक भावना के बारे में विचार करते हुए हमें सकारात्मक भावनाओ को बाहर लाना चाहिये और नकारात्मक भावनाओ को नष्ट कर देना चाहिये.

इसके विपरीत ख़ुशी का अहसास, प्यार, आकर्षण, ध्यान रखना, दया और करुणा ये सब हमें अपने स्वभाव में ही दिखाई देता है. हमारा स्वभाव ही हमारे गुणों को दर्शाता है और हमारे स्वभाव पर ही हमारा खुश रहना निर्भर करता है.

रिश्तो में आयी खटास को दूर करने का शबे आसान उपाय अपने स्वभाव को नम्र बनाना और परिस्थिति चाहे आपके अनुकूल हो या विपरीत हमेशा मुस्कुराते रहना ही है. खुश रहने के लिये आपको अपने स्वभाव को बदलने की जरुरत होगी.

4) Jeevan Mantra – अपनी परीभाषा को बदले :

अपनी परीभाषा को इस कदर बनाये की आप आसानी से खुश हो जाये और बड़ी मुश्किल से मायूस हो पाये. निश्चित करे की आपका सबसे अच्छा दिन आज ही है, आज ही आप आसानी से मनचाही जिंदगी जी सकते हो. इन बातो को हमेशा याद रखे तभी आपके जीवन में ख़ुशी, प्यार, आज़ादी हमेशा बनी रहेंगी.

यदि आपसे कोई यह प्रश्न करता है की आप बहोत खुश और उत्साही कैसे रहते हो? तो आपका जवाब, “मै इसलिए खुश हु क्योकि मै आज में जीता हु और आसानी से सांस ले पाटा हु और आसानी से खुश हो जाता हु” होना चाहिये.

आपका ये रवैया आपको एक खुशनुमा जिंदगी जीने में सहायक साबित होगा. और आप हमेशा के प्यार, आकर्षण, सहायक और दया, करुणा के वातावरण में रहने लगोगे, जिससे आपका स्वास्थ और आपकी संपत्ति दोनों ही सुरक्षित होंगे.

आसानी से खुश होने के अलावा एक और बात है जो आपमें होनी चाहिये, और वह है की आसानी से दुखी न होना. किसी भी इंसान के लिये आपको दुखी कर पाना असंभव होना चाहिये. अपने मायूसी की एक सीमा निश्चित कर ले. ठान ले की आप तभी मायूस होंगे जब आपका दिन में 10 लाख डॉलर से भी ज्यादा का नुकसान होगा, यदि इस तरह की कोई घटना आपके जीवन में होती है तो आपको मायूस होना चाहिये. यदि आप इन सीमाओ को अपने जीवन में उपयोग करो तो आप कभी आसानी से मायूस नहीं हो पायेंगे. और आप जिंदगीभर खुश रह पायेंगे.

5) Jeevan Mantra – इन शर्तो को प्रयोग में लाये :

आप जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने के लिये ही सारे बदलाव करते हो. इन आदतों को बढाने के लिये आपको नम्र, इमानदार और लगातार किशिशे करते रहने की जरुरत है. हर समय आपको जीवन की इस नयी परीभाषा का ज्ञान होना चाहिये. इन सभी शर्तो को बहोत सारे पन्नो पर लिखे और उन्हें घर में अलग-अलग जगहों पर लगाये. ताकि बार-बार आपका ध्यान उनकी तरफ जाये. आप इन सभी शर्तो को अपने कंप्यूटर, लैपटॉप या मोबाइल का वॉलपेपर बनाकर भी रख सकते हो.

ऐसा करने से कुछ ही दीनो में आपकी बुरी आदते अच्छी आदतों में परीवर्तित हो जाएँगी, और आप खुद को इस दुनिया का सबसे खुश इंसान पाओगे. ऐसा करने से आप हमेशा खुश रह सकते हो. और अपने रवैये से दूसरो को कैसे खुश किया जा सकता है यह भी सिख सकते हो. और इस दुनिया में गुस्सा, नफरत, मायूसी और मुसीबत के लिये कोई जगह नही होंगी.

एक बात हमेशा याद रखे…….
प्यार और ख़ुशी की हर जगह जीत होती है.

More Articles :

  1. सफल लोगो की 12 अच्छी आदते
  2. Success steps and tips in Hindi
  3. सफलता के लिये ज्ञान की बाते
  4. जीवन में सफलता पाने के 11 सूत्र

जीवन मंत्र पर 10 अनमोल विचार – 10 Quotes On Jeevan Mantra in Hindi

  1. हम शिकायत कर सकते है की गुलाब के पौधे को कांटे होते है या हम आनंदित भी हो सकते है की काटो को गुलाब लगे है. – Abraham Lincoln
  2. इस क्रोध दिलाने वाले को आपने कहा जन्म दिया? इसे लाने में मुझे कई साल कोशिशे करनी पड़ी. – Misty Massey
  3. मुझे वो लोग पसंद है जो मुसीबतों में भी हसते है… – Leonardo da Vinci
  4. हर कोई दुनिया को बदलने की सोच रहा है लेकिन कोई खुद को बदलने के बारे में नहीं सोच रहा. – Leo Tolstoy
  5. रवैया एक बहोत छोटी चीज जो आपमें बहोत बड़ा बदलाव ला सकती है. – Winston Churchill
  6. हम हमारे भुतकाल को नहीं बदल सकते…हम लोगो के स्वभाव को भी नही बदल सकते. हम निश्चितता को भी नही बदल सकते. यदि हम कुछ कर सकते है तो हम एक रस्सी पर खेल सकते है और वह रस्सी होगी हमारा रवैया. मै इस बात का कायल हु की जिंदगी सिर्फ 10% कुछ करती है बाकी 90% हमारी प्रतिक्रिया पर निर्भर करता है. इसीलिए हमें सकारात्मक रवैये के साथ चलना चाहिये. – Charles R. Swindoll
  7. हमारी सबसे ख़ुशी ख़ुशी का सबसे बड़ा भाग हमारे स्वभाव पर निर्भर करता है, ना की हमारी परिस्थितियों पर. – Martha Washinton
  8. यदि आप ये नही सोच सकते की हर दिन एक अच्छा दिन है, तो उन्हें याद करने की कोशिश कीजिये. – Cavett Robert
  9. यदि कोई इंसान खुश रहना चाहता है तो वह लम्बे समय तक खुश रह सकता है. – Alexander Solzhenitsyn
  10. यदि आप सही में खुश रहना चाहते है तो आपको कोई नही रोक सकता. –A uthor Unknown

पढ़े :- सफलता के लिये ज्ञान की बाते

Note: अगर आपको Jeevan Mantra In Hindi For Success With Moral अच्छी लगे तो जरुर Share कीजिये.
Note: E-MAIL Subscription करे और पायें Jeevan Mantra In Hindi And More New Article आपके ईमेल पर.

11 COMMENTS

  1. Many thanks sir, my utmost appreciation for the effort of your team, i
    am indeed a regular visitor to your articles , i thought to, (out
    of courtsey) provide some suggestion and feedback of my very own , would be thankful if you could
    reply or recognize my suggestions to make this site more content focused .

    Regards.
    Rana Duggal.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.