उत्तर प्रदेश के पर्यटन स्थल | Uttar Pradesh tourism places

Uttar Pradesh tourism places

भारत के उत्तरी भाग में बसा, अपनी राजधानी दिल्ली की सीमा पर बसा उत्तर प्रदेश भारत के सबसे प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में से एक है। एतिहासिक धरोहरों और धार्मिक जोश की समृद्धि की वजह से उत्तर प्रदेश एक महत्वपूर्ण राज्य है।

Uttar Pradesh tourism places

उत्तर प्रदेश के पर्यटन स्थल – Uttar Pradesh tourism places

यह ताजमहल और हिन्दुओ के पवित्र शहर वाराणसी का घर है। भारतीय संघ के सबसे प्रसिद्ध राज्य के साथ-साथ सांस्कृतिक विरासत में भी यह राज्य समृद्ध है।

कत्थक भारतीय क्लासिकल डांस का आठवा प्रकार है, जिसकी उत्पत्ति उत्तर प्रदेश में ही हुई। उत्तर प्रदेश को भारत का गढ़ भी कहा जाता है। उत्तर प्रदेश के भोजन जैसे अवधी भोजन, मुघलाई भोजन, कुमौनी भोजन पुरे भारत और विदेश में भी प्रसिद्ध है।

राज्य की कुछ रोचक जगहे और स्थान:

अल्लाहाबाद और प्रयाग: कुम्भ मेला:

एक ऐसी जगह जहाँ भारत की राष्ट्रिय नदी गंगा और यमुना और सरस्वती नदी का मिलन होता है। एक विशाल तीर्थयात्रा पर सभी हिन्दू गंगा किनारे जमा होते है। हिंदुत्व के आधुनिक भारत के प्राचीनतम धार्मिक सेंटर में भी यह शहर शामिल है। साथ ही यह शहर उत्तर प्रदेश की प्रशासनिक और शैक्षणिक राजधानी है।

वाराणसी:

यह हिंदुत्व का उगम स्थल और दुनिया के सबसे प्राचीन शहरो में से एक है। इस स्थल को मंदिरों का शहर भी कहा जाता है और साथ ही यह भगवान शिव के भक्तो के लिए सबसे पवित्र स्थलों में से एक है। दुनिया की सबसे बेहतरीन कपड़ो का उत्पादन भी यही किया जाता है।

झाँसी:

एतिहासिक स्थल। रानी लक्ष्मीबाई की युद्धभूमि।

आगरा:

यह तीन हेरिटेज स्थलों का शहर है, जिनमे ताजमहल, आगरा किला और फतेहपुर सिकरी शामिल है। आगरा में दुसरे भी बहुत से एतिहासिक धरोहर और बाग़ भी है। साथ ही शहर में तिमद-उद-दूलह का मकबरा और अकबर का मकबरा भी है।

लखनऊ:

यह उत्तर प्रदेश की राजधानी है। साथ ही उत्तर प्रदेश का सबसे योजनाबद्ध शहर है। यहाँ मुघल, ब्रिटिश और मॉडर्न आर्किटेक्चर में बने दुसरे एतिहासिक धरोहर भी है। लखनऊ का भोजन और चिकन के कपडे दुनियाभर में प्रसिद्ध है।

मथुरा:
हिन्दू धर्म के भगवान कृष्णा की जन्मभूमि और जैन धर्म का नेमिनाथ।

अयोध्या:

हिन्दू धर्म के भगवान राम की जन्मभूमि।

सारनाथ:

यहाँ गौतम बुद्धा ने सबसे पहले धर्म पढाया, भगवान बुद्धा के चार प्रमुख तीर्थस्थलो में से यह एक है। साथ ही यह जैन धर्म के ग्यारहवे जैन तीर्थंकर श्रेयांसनाथ की जन्मभूमि भी है।

कुशीनगर:

यह एक महत्वपूर्ण बुद्ध धर्म का स्थल है, माना जाता है की यहाँ गौतम बुद्धा की मृत्यु के बाद उनका परिनिर्वाण किया गया था।

बिठूर:

यह उत्तर प्रदेश के महत्वपूर्ण औद्योगिक शहरो और राज्य के विशालकाय शहरो में से एक है। साथ ही यह राज्य के सर्वाधिक सर्वदेशीय शहरो में एक है। यहाँ बहुत से एतिहासिक स्थल जैसे बिठूर और एलन जंगल चिड़ियाघर भी है। उत्तरी भारत के विशालकाय मेट्रोपोलिटन शहरो में यह एक है, जहाँ बहुत सी ब्रिटिशकालीन आर्किटेक्चरल इमारते भी है। वाल्टर ग्रंविल्ले द्वारा कांपर की घेराबंदी की याद में बनाया गया गोथिक चर्च भी इसी शहर में है।

चुनर:

यह मिट्टी की कलाकृतियों का केंद्र है। चुनर छठी शताब्दी में चन्द्रगुप्त
विक्रमादित्य द्वारा बनाया गया एक किला है। इस किले पर हुमायूँ और शेर शाह सूरी ने शासन भी किया है और मौर्य साम्राज्य का यह प्रवेश द्वार हुआ करता था। साथ ही इस शहर में बहुत से झरने और प्राकृतिक स्थान भी है।

फतेहपुर सिकरी:

मुघल साम्राज्य के पैलेस और किले की यह एतिहासिक जगह है।

हस्तिनापुर:

यह एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थल है, क्योकि माना जाता है की यह कौरवो की राजधानी और 3 तीर्थंकार शांतिनाथ, कुंथुनाथ और अरनाथ की जन्मभूमि भी है।

देवगढ़:

यह शहर देवगढ़ किले और यहाँ पाए पाए जाने वाले 8 वी और 9 वी शताब्दी में बने मंदिरों के लिए प्रसिद्ध है।

मिर्ज़ापुर डिवीज़न:

यह दुनिया के बेहतरीन कालीन उद्योग के लिए और अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए प्रसिद्ध है। साथ ही यह शहर उत्तर प्रदेश के तेजी से विकसित हो रहे शहरो में से एक है। साथ ही इसमें विध्यांचल शक्तिपीठ का भी समावेश है।

गाज़ियाबाद:

प्राचीन भारत का एक एतिहासिक स्थल और आधुनिक भारत के सबसे विकसित औद्योगिक स्थलों में से एक। यहाँ हमें बुद्ध इंटरनेशनल सर्किट भी देखने मिलता है।

मीरुत:

1857 और भारतीय आज़ादी के पहले स्वतंत्रता अभियान के सेपॉय विद्रोहियों का यह एतिहासिक स्थल है। प्राचीन भारत के महाभारत के समय से आधुनिक भारत की एतिहासिक जगहों में से यह शहर एक है। साथ ही उत्तर प्रदेश के तेजी से विकसित शहरो में से भी यह एक है।

नॉएडा और ग्रेटर नॉएडा:

उत्तरी भारत का आईटी, इलेक्ट्रॉनिक्स और शिक्षा हब। साथ ही भारत का सबसे बड़ा योजनाबद्ध और हाई-टेक आवासीय क्षेत्र।

गोरखपुर:

यह शहर बुद्ध, हिन्दू, मुस्लिम, जैन और सिक्ख संतो का घर है। परमहंस योगनंदा, महान हिन्दू शासक चन्द्रगुप्त मौर्य की यह जन्मभूमि भी है।

जौनपुर:

दिल्ली के सुल्तान फिरोज शाह तुगलक द्वारा स्थापित इस शहर का नाम उनके पिता मुहम्मद बिन तुगलक की जौनपुर सल्तनत के नाम पर रखा गया। यहाँ मुघल, लोदी और इस्लामिक शासको के प्राचीन भारतीय किले हमें देखने मिलते है।

दुधवा नेशनल पार्क:

दुधवा टाइगर रिज़र्व, पक्षी अभयारण्य, ऑयल का मेंढक मंदिर, सूरत भवन पैलेस, एलीफैंट राइड्स।

रिहर:

शहर के आस-पास बहुत से मुख्य पर्यटन आकर्षण है। जिनमे जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क भी शामिल है।

Read More:

Hope you find this post about ”उत्तर प्रदेश के पर्यटन स्थल – Uttar Pradesh tourism places” useful. if you like this information please share on Facebook.

Note: We try hard for correctness and accuracy. please tell us If you see something that doesn’t look correct in this article about Uttar Pradesh tourism… and if you have more information about Uttar Pradesh tourism then help for the improvements this article.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.