हिमाचल प्रदेश का इतिहास और जानकारी

Himachal Pradesh History in Hindi

Himachal Pradesh – हिमाचल प्रदेश उत्तरी राज्य है, जो किसी स्वर्ग से कम नही। प्रदेश में सर्वोच्च शिखर तो नही लेकिन पर्वतारोहण के लिए यहाँ बहुत सी जगहे है। इस राज्य के नाम का अर्थ “बर्फ के निवास” से है।

हिमाचल प्रदेश का इतिहास और जानकारी – Himachal Pradesh History in Hindi

हिमाचल प्रदेश के बारेमें – Himachal Pradesh Information in Hindi

राज्य का नामहिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh)
राजधानी का शहर (Capital of Himachal Pradesh)
  • शिमला (गर्मी के मौसम में राजधानी का शहर),
  • धरमशाला (ठंडी के मौसम में राजधानी का शहर)
क्षेत्रफल के अनुसार राज्य का देश में स्थान१७ वा(17th)
राज्य की प्रमुख भाषा
  • हिंदी,
  • संस्कृत,
  • महसु पहाड़ी,
  • मण्डेली,
  • कांगड़ी इत्यादि।
जनसँख्या के अनुसार राज्य का देश में स्थान२१ वा(21th)
राज्य अंतर्गत कुल जिलों की संख्या (District of Himachal Pradesh)१२
कुल तालुका (तहसील) (Himachal Pradesh total taluka)७५
कुल ग्रामीण विभाग (Village in Himachal Pradesh)२०,६९०
क्षेत्रफल में राज्य का सबसे बड़ा जिला (Largest District in Himachal Pradesh)लाहौल और स्पीती।
राज्य का प्रमुख जानवर (State Animal of Himachal Pradesh)हिम तेंदुआ।
राज्य का प्रमुख पक्षी (State Bird of Himachal Pradesh)पश्चिमी ट्रोपोपन।
प्रमुख फूल (पुष्प) (State Flower of Himachal Pradesh)गुलाबी बुरांश (रोडोडेंड्रोन कैम्पैनुलैटम)
प्रमुख पेड़ (वृक्ष) (State Tree of Himachal Pradesh)देवदार वृक्ष।
प्रमुख फल (State Fruit of Himachal Pradesh)सेब (Apple)
राज्य का प्रमुख खेल (State Game of Himachal Pradesh)वॉलीबॉल।
वित्तीय तथा राज्यनिहाय राज्य की कोड संख्या (State Code of Himachal Pradesh)२ (Two)
राज्य की परंपरागत वेशभूषा (Dress of Himachal Pradesh)
  • धोती,
  • कुर्ता,
  • कोट,
  • वेस्टकोट,
  • तुर्बान (पगड़ी),
  • हाथ का तौलिया,
  • चूड़ीदार पायजामा,
  • लंबाई वाला कोट,
  • रेष्टा (औरतो का पोशाख)
राज्य का परंपरागत नृत्य (Dance of Himachal Pradesh)
  • दांगी,
  • छनक छम,
  • नाती,
  • छाम नृत्य,
  • डँड्रस इत्यादि।

हिमाचल प्रदेश का इतिहास – Himachal Pradesh ka Itihas

हिमाचल प्रदेश का इतिहास सिन्धु घाटी सभ्यता के समय का है। कोइली, हाली, दागी, धौग्री, दसा, खासा, किन्नर और किरात जैसे समुदाय के लोग इस क्षेत्र में रह रहे थे। वैदिक काल में जनपद के नाम से जाने जाना वाला छोटा सा गणराज्य यहाँ बसा हुआ था, जिसपर बाद में गुप्त साम्राज्य ने कब्ज़ा कर लिया।

लंबे समय तक राजा हरिशचंद्र के प्रभुत्व के बाद सरदारों और राजपूतो की अगुवाई में इस क्षेत्र को छोटे-छोटे भागो में विभाजित किया गया। इस साम्राज्य को बड़े पैमाने पर स्वतंत्रता मिली और कई बार दिल्ली सल्तनत ने इस साम्राज्य पर आक्रमण भी किया।

10 वी शताब्दी के शुरू में ही महमूद घजनवी ने काँगड़ा पर कब्ज़ा कर लिया। तिमुर और सिकंदर लोदी भी राज्य के निचले पहाड़ी क्षेत्र पर कब्ज़ा कर रहे थे और बहुत से युद्ध कर उन्होंने कयी किलो पर कब्ज़ा कर लिया था। आज़ादी के बाद हिमाचल प्रदेश के मुख्य आयुक्त के प्रान्तों की भी घोषणा की गयी।

15 अप्रैल 1948 को 28 छोटे प्रांतीय राज्यों के एकीकरण के चलते इन्हें पश्चिमी हिमालय के राज्यों में शामिल कर लिया गया। जिन्हें शिमला पहाड़ी राज्य और चार पंजाब दक्षिणी पहाड़ी राज्य के नाम से जाना जाने लगा। 1948 में अंडर सेक्शन 3 और 4 के तहत इन राज्यों का एकीकरण किया गया था।

1 अप्रैल 1954 को हिमाचल प्रदेश और बिलासपुर (नया राज्य) एक्ट, 1954 के तहत बिलासपुर को हिमाचल प्रदेश में ही शामिल कर लिया गया। 26 जनवरी 1951 को भारतीय संविधान के लागु होते और लेफ्टिनेंट गवर्नर के नियुक्त होते ही हिमाचल प्रदेश पार्ट C राज्य बन गया। 1952 में विधानसभा चुनाव का आयोजन किया गया था। इसके बाद 1 नवम्बर 1956 को हिमाचल प्रदेश केंद्र शासित प्रदेश बन चूका था।

1 नवम्बर 1966 को पंजाब पुनर्निर्माण एक्ट, 1966 के तहत पंजाब राज्य के कुछ भाग जैसे शिमला, काँगड़ा, कुलु और स्पीती जिले, अम्बाला जिले की नालागढ़ तहसील, लोहरा अम्ब और उनकानुंगो सर्किल, संतोखागार्ज कनुंगो सर्किल और होशियारपुर जिले के कुछ भाग, धार कालन कनुंगो सर्किल के गुरदासपुर जिले की पठानकोट तहसील को हिमाचल प्रदेश में मिला लिया गया।

18 दिसम्बर 1970 को संसद ने हिमाचल प्रदेश एक्ट जारी कर दिया और 25 जनवरी 1971 को इस नये राज्य की अधिकारिक रूप से शुरुवात हुई। डॉ. यशवंत सिंह परमार के पहले मुख्यमंत्री बनते ही हिमाचल प्रदेश भारतीय संघ का 18 वा राज्य बन चूका था। शिमला हिमाचल प्रदेश राज्य की राजधानी हैं।

हिमाचल प्रदेश की भाषा – Himachal Pradesh Language

हिमाचल प्रदेश के लोग बहुभाषी है और बहुत सी भाषाओ में बातचीत करते है। हिमाचल प्रदेश की अधिकारिक राज्य भाषा हिंदी है। हिमाचल प्रदेश दूसरी सबसे प्रसिद्ध भाषा पहरी है। इसके अलावा राज्य में पंजाबी, डोंगरी, कांगरी और किन्नौरी भाषा का भी प्रयोग किया जाता है।

हिमाचल प्रदेश के जिले – Districts of Himachal Pradesh.

  1. चम्बा
  2. हमीरपुर
  3. उना
  4. बिलासपुर
  5. काँगड़ा
  6. कुन्नूर
  7. कुल्लू
  8. लाहौल और स्पीती
  9. सिरमौर
  10. शिमला
  11. मंडी
  12. सोलन

हिमाचल प्रदेश के पर्यटन क्षेत्र – Himachal Pradesh Tourist Places

राज्य के आर्थिक विकास में पर्यटन क्षेत्र का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। हिमालय के परिदृश्य के साथ वाला यह पहाड़ी राज्य दुनियाभर के लाखो पर्यटकों को आकर्षित करता है। शिमला, मनाली, डलहौजी, चंबा, धर्मशाला और कुल्लू जैसे हिल स्टेशन घरेलु और विदेशी पर्यटकों के बीच काफी प्रसिद्ध है।

हिन्दू मान्यताओ के आधार पर इसे देवताओ की भूमि भी कहा जाता है, माना जाता है की भगवान शिव हिमालय को ही अपना घर मानते थे और राज्य का ज्यादातर भाग हिमालय से ही घिरा हुआ है। आधुनिक साहित्य में उत्तराखंड को भी देवताओ की भूमि कहा गया है। पंजाब राज्य से हिमाचल प्रदेश में प्रवेश करने वाले पर्यटकों को रास्ते में “देवताओ की भूमि पर आपका स्वागत है” नामक बोर्ड भी दिखाई पड़ता है।

Tourism of Himachal Pradesh

Tourism of Himachal Pradesh
Tourism of Himachal Pradesh

साथ ही राज्य में बहुत से तीर्थस्थल जैसे नैना देवी मंदिर, भीमकाली मंदिर, वज्रेश्वरी देवी मंदिर, ज्वालाजी मंदिर, चिंतपूर्णी,  बैजनाथ मंदिर, बिजली महादेव, मनु मंदिर, चामुंडा देवी मंदिर, रेणुका झील और जाकू मंदिर है। प्राचीन धार्मिक ग्रंथो में इसका उल्लेख होने की वजह से राज्य को “देवभूमि” के नाम से भी जाना जाता है।

राज्य साहसिक पर्यटन गतिविधियों जैसे शिमला में आइस स्केटिंग, कुल्लू में राफ्टिंग, बिर्बिलिंग और सोलांग घाटी में पैराग्लाइडिंग, मनाली में स्कीइंग, बिलासपुर में बोटिंग और राज्य के विविध भागो में ट्रेकिंग और घुड़सवारी के लिए भी प्रसिद्ध है। लाहौल में स्पीती घाटी 3000 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है और साहसिक पर्यटकों के लिए यह एक महत्वपूर्ण गंतव्य है। क्षेत्र में एशिया के प्राचीनतम बौद्ध मठ भी है।

फिल्म शूटिंग के लिए भी हिमाचल प्रदेश जाना जाता है। रोजा, हिना, जब वी मेट, वीर-जारा, यह जवानी है दीवानी और हाईवे जैसी फिल्मो की शूटिंग हिमाचल प्रदेश में हुई है। 24 अक्टूबर से 31 अक्टूबर 2015 तक हिमाचल प्रदेश ने भारत में पहले पैराग्लाइडिंग वर्ल्ड कप की मेजबानी की थी। हिमाचल में बीर बिलिंग हवाई खेलो का केंद्र है और पैराग्लाइडिंग करने की बेहतरीन जगहों में से एक है।

हिमाचल प्रदेश की संस्कृति – Himachal Pradesh Culture

हिमाचल प्रदेश बहुधर्मी, बहुभाषी और साथ ही बहुसांस्कृतिक राज्य है। हिमाचल प्रदेश में आदिवासी लोग भी रहते है। हिमाचल मुख्यतः हस्तशिल्प के लिए जाना जाता है। कारपेट, लेदर वर्क, शॉल, काँगड़ा पेंटिंग, चाम्बरुमल, धातु की वस्तुए, लकड़ी की कारीगरी और चित्रकला यहाँ की हस्तशिल्प के मुख्य उदाहरण है।

हिमाचल प्रदेश की पश्मीना शॉल की मांग केवल हिमाचल प्रदेश में ही नही बल्कि देशभर में रहती है। हिमाचली टोपियाँ मुख्यतः कारीगरी के लिए जानी जाती है। स्थानिक संगीत और नृत्य राज्य की सांस्कृतिक पहचान के रूप में जाने जाते है।

नृत्य और संगीत के माध्यम से स्थानिक महोत्सव और विशेष पर्वो पर वे भगवान से विनती करते है। मेलो और महोत्सवो के अलावा यहाँ बहुत से दुसरे उत्सव भी बड़ी-धूम धाम से मनाये जाते है। क्षेत्र में विविध जगहों पर मेलो का आयोजन किया जाता है।

हिमाचल प्रदेश का धर्म – Himachal Pradesh Religion

हिमाचल प्रदेश का मुख्य धर्म हिन्दू ही है। कुल जनसँख्या के 95% से भी ज्यादा लोग हिन्दू धर्म को मानते है। भारत में दुसरे राज्य और संघीय प्रान्तों की तुलना में हिमाचल प्रदेश में हिन्दुओ का अनुपात सर्वाधिक है। हिमाचल प्रदेश में रहने वाले दुसरे धर्म के लोगो में मुख्यतः इस्लाम, बौद्ध और सिक्ख धर्म के लोग शामिल है। मुस्लिम मुख्यतः उना, चंबा, सिरमौर और सोलन जिले में पाए जाते है।

Himachal Pradesh Religion

Himachal Pradesh Religion
Himachal Pradesh Religion

हिमाचल प्रदेश का भोजन भी ज्यादातर उत्तरी भारतीयों की ही तरह है। उनके पास भी मसूर, शोरबा, चावल, सब्जियाँ और ब्रेड है। उत्तर भारत के दुसरे राज्य की तुलना में यहाँ भी मासाहारी भोजन को प्राधान्य दिया जाता है। हिमाचल प्रदेश के विशेष खाद्य पदार्थो में म्हणी, पटीर, मधरा, भग्जेरी, चौचक, और तिल की चटनी शामिल है।

हिमाचल प्रदेश के प्रमुख शिक्षा संस्थान / यूनिवर्सिटी – University of Himachal Pradesh

  1. अभिलाषी यूनिवर्सिटी
  2. हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी, शिमला
  3. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, मंडी
  4. हिमाचल प्रदेश तकनिकी यूनिवर्सिटी, हमीरपुर
  5. श्री साई यूनिवर्सिटी पालमपुर
  6. शूलिनी यूनिवर्सिटी, सोलन
  7. सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ़ हिमाचल प्रदेश, धरमशाला
  8. बहरा यूनिवर्सिटी
  9. अरनी यूनिवर्सिटी, काँगड़ा
  10. मानव भारती यूनिवर्सिटी, सोलन

हिमाचल प्रदेश राज्य की जानेमानी हस्तियाँ – Famous Personalities of Himachal Pradesh

Famous Personalities of Himachal Pradesh
Famous Personalities of Himachal Pradesh

1. प्रीती झिंटा (Preity Zinta):

हिंदी सिनेजगत ‘बॉलीवुड’ की ये जानी मानी अभिनेत्री है, जिन्होंने ढेर सारे दर्जेदार फिल्मों में अपने अभिनय से दर्शको के दिलो पर छाप बनाई है। प्रीटी झिंटा मूलतः हिमाचल प्रदेश से ही आती है, वही उनके फ़िल्मी करियर का ज्यादातर समय मुंबई के अलावा अन्य शहरो और विदेशो में गुजरा।

बॉलीवुड में डिम्पल गर्ल के नामसे मशहूर अभिनेत्री प्रीटी झिंटा आजकल इंडियन प्रीमियर लीग के क्रिकेट प्रतियोगिता में किंग्ज इलेवन पंजाब टीम की मालकिन है।

2. कंगना रनौत (Kangana Ranaut):

हिंदी सिनेजगत बॉलीवुड की सुप्रसिध्द अभिनित्रियो में कंगना रनौत का नाम खासा मशहूर है, जो के रानी लक्ष्मीबाई के जीवन चरित्र पर आधारित फिल्म मणिकर्णिका से काफी चर्चा में आयी थी।

कंगना रनौत भी हिमाचल प्रदेश से आती है, जिन्होंने एक से बढ़कर एक कई सारे हिंदी फिल्मो में अपने अभिनय से देश और दुनिया के दर्शको के दिल में जगह बनाई है।

3. मोहित चौहान (Mohit Chauhan): 

प्रसिध्द पार्श्वगायक मोहित चौहान का जन्म भी हिमाचल प्रदेश में हुआ जहा इन्होंने शुरुवाती संगीत से जुड़ा अभ्यास पूरा किया, और आगे इन्होने बॉलीवुड के कई प्रसिध्द गानो में अपने मधुर आवाज से श्रोताओ को भावविभोर कर दिया।

साल २००२ से लेकर आजतक इनके सुरीले और मधुर आवाज में गाये गीतों को सभी लोग सुनते आ रहे है, तथा भविष्य में संगीत सफर के लिए इन्हे बहुत बहुत शुभकामनाए।

4. सुषमा वर्मा (Sushama Verma):

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की सदस्य सुषमा वर्मा भी मूलतः हिमाचल प्रदेश से है, जो के क्रिकेट के खेल में विकेट किपर और बल्लेबाज के रूप में अपने प्रदर्शन से खासी पहचानी जाती है। कई आंतरराष्ट्रिय मुकाबलों में इन्होने भारत के तरफसे उमदा प्रदर्शन किया है तथा विकेट के पिछे उत्कृष्ट कैच को पकड़ा है, महिलाओ के लिए क्रिकेट खेल कुछ सालो पहले तक इतना पसंदीदा खेल नहीं हुआ करता था उसमे हिमाचल प्रदेश जैसे छोटे राज्य से सुषमा वर्मा जैसे खिलाड़ियों का सामने आना सचमे गर्व की बात है।

5. अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur):

केंद्रीय मंत्रिमंडल के राज्यमंत्री स्तर के सदस्य तथा लोकसभा के निर्वाचित सदस्यों में से एक अनुराग ठाकुर मूलतः हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जिले से संबंधित जानी मानी शख्सियत है। हाल फ़िलहाल ये राज्यमंत्री के तौर पर राज्यों से जुड़े वित्तीय मामले और कॉर्पोरेट से जुड़े मामलो के पदभार को संभाल रहे है।

इन्होने १६ वी लोकसभा के कार्यकाल में संसद रत्न अवार्ड को प्राप्त किया हुआ है, साथमे साल २०१६ में भारतीय क्रिकेट नियामक बोर्ड के अध्यक्ष के पदभार को भी ये संभाल चुके है। इसके अलावा भारतीय सेना की तरफ से दिया जानेवाला लेफ्टनंट मानद पद भी इनको दिया गया है तबसे इनको कैप्टन अनुराग ठाकुर के नामसे जाना जाता है।

हिमाचल प्रदेश की कुछ रोचक बाते – Interesting facts about Himachal Pradesh

  • गठन की तिथि – 25, जनवरी 1971
  • क्षेत्र – 55,673 वर्ग किलोमीटर
  • घनत्व – 123 वर्ग किलोमीटर
  • जनसँख्या (2011) – 68,64,602
  • जिलो की संख्या – 12
  • राजधानी – शिमला
  • नदियाँ – रवि, चेनाब, सतलज, बईस, यमुना
  • जंगल और राष्ट्रिय पार्क – ग्रेटर हिमालय, रेणुका, पिन वैली नेशनल पार्क, चिल, कलाटोपे खज्जियार, सिम्बलबरा
  • भाषाएँ – हिंदी, अंग्रेजी, किन्नौरी, पहरी, पंजाबी, कांगरी और डोगरी
  • पडोसी राज्य – जम्मू और कश्मीर, पंजाब, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा.

हिमाचल प्रदेश राज्य के बारेमें अधिकतर बार पूछे जाने वाले सवाल – Himachal Pradesh Quiz

1. हिमाचल प्रदेश के लोगो के खानपान में कौनसे प्रमुख व्यंजन शामिल होते है? (Staple food of Himachal Pradesh)                                                                                                            जवाब: प्रमुखता से गेहू, मका, चावल से बने व्यंजन शामिल होते है इसके अलावा भटूरा, गुलगुले, माह दाल के पकौड़े, कचनार, लसियरे के सब्जी, खट्टी भुजी इत्यादि।

2. कुल कितनी यूनिवर्सिटी हिमाचल प्रदेश राज्य के अंतर्गत मौजूद है? (Total universities in Himachal Pradesh)                                                                                                              जवाब: २०।

3. कौनसी प्रमुख पर्वतश्रेणियाँ हिमाचल प्रदेश राज्य के अंतर्गत मौजूद है? (Mountains range in Himachal Pradesh)                                                                                                              जवाब: धौलधार, झांस्कर, पीर पंजाल,पश्चिमी हिमालयीन पर्वत श्रेणियाँ इत्यादि।

4. हिमाचल प्रदेश राज्य की ऐतिहासिक जानकारी हमे किन प्रमुख किताबो से उपलब्ध होती है? (Himachal Pradesh History Book)                                                                                                जवाब: स्टेटस ऑफ़ इण्डिया – हिमाचल प्रदेश, द पैराडाइस हिमाचल प्रदेश, हिमाचल प्रदेश कल्चरल सर्वे ऑफ़ रूरल हिमाचल, हिमाचल प्रदेश – हिस्ट्री,कल्चर एंड इकोनॉमी, क्नो यूअर स्टेट- हिमाचल प्रदेश, डिस्कवर इण्डिया – ऑफ टू हिमाचल प्रदेश।

5. हिमाचल प्रदेश के अंतर्गत भारत की कौनसी प्रमुख नदिया बहती है? (Rivers in Himachal Pradesh) जवाब: रावी, बियास,सतलज, टोंस, चिनाब, यमुना, पारबती, पेब्बर, बेस्पा, भागा , चक्की, शलवी, स्पीती, मार्कण्ड इत्यादि।

6. कौनसे प्रमुख वन्यजीव अभयारण हिमाचल प्रदेश के अंतर्गत मौजूद है? (Wildlife Sanctuaries in Himachal Pradesh)                                                                                                    जवाब: बांदी, धौलधार, खोखन, किब्बर, लिप्पा असरंग, नैना देवी, रूपी भाबा, सेचु तुआन इत्यादि।

7. हिमाचल प्रदेश राज्य में कौनसे प्रमुख त्यौहार मनाये जाते है?(Main Festivals of Himachal Pradesh) जवाब: कुल्लू दशेहरा, लोसार, हल्दा, साज़ो, डूंगरी यात्रा इत्यादि।

8. कौनसा समय हिमाचल प्रदेश राज्य की पर्यटन यात्रा हेतु उत्तम होता है ? (Best time to visit Himachal Pradesh)                                                                                                                जवाब: मार्च से लेकर जून तक, दिसंबर से लेकर फरवरी तक, जुलाई से लेकर सितंबर तक।

9. हिमाचल प्रदेश के कौनसे प्रमुख स्थान पर्यटन की दृष्टी से देश और दुनिया के पर्यटकों के आकर्षण का केंद्रस्थान बन चुके है? (Famous Tourist destination in Himachal Pradesh)                                          जवाब: शिमला, कुल्लू, मनाली, डलहौजी, चम्बा,धरमशाला इत्यादि।

10. हिमाचल प्रदेश में कौनसे पवित्र धार्मिक स्थल मौजूद है? (Holy religious places in Himachal Pradesh)                                                                                                                     जवाब: नैना देवी मंदिर, चामुंडा देवी मंदिर, चिंतपूर्णी,ज्वालाजी मंदिर, बैजनाथ मंदिर, जाकू मंदिर, वज्रेश्वरी, भीमकाली देवी मंदिर इत्यादि।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here