पंजाब राज्य का इतिहास और जानकारी | Punjab History Information

Punjab

पंजाब देश का सबसे समृद्ध राज्य है। साथ ही इसे सिक्ख धर्म का घर भी कहा जाता है। चंडीगढ़ शहर पंजाब की राजधानी है। कृषि ही पंजाब के लोगो का मुख्य व्यवसाय है और राज्य की अर्थव्यवस्था में इसका महत्वपूर्ण योगदान रहा है।
Panjab History Information

पंजाब राज्य का इतिहास और जानकारी – Punjab History Information

भारतीय राज्य पंजाब का निर्माण 1947 में भारत विभाजन के समय किया गया, जिस समय पंजाब को भारत और पाकिस्तान में विभाजित किया जा रहा था। ज्यादातर प्रांत के मुस्लिम पश्चिमी भाग को पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में शामिल किया गया और सिक्ख पूर्वी भाग को भारतीय पंजाब राज्य में शामिल किया गया। विभाजन के बाद बहुत से दंगे और आंदोलन हुए, क्योकि बहुत से सिक्ख और मुस्लिम लोग पश्चिम में रहते थे और बहुत से मुस्लिम लोह पूर्व में रहते थे। बहुत से छोटे पंजाबी प्रांतीय राज्य जैसे पटियाला को भी भारतीय पंजाब का ही भाग बनाया गया।

1950 में दो स्वतंत्र राज्यों का निर्माण किया गया : पंजाब में भूतपूर्व राज प्रांत को शामिल किया गया, जबकि पटियाला, नाभा,  कपूरथला, मलेरकोटला, जींद, फरीदकोट और कलसिया नामक प्रांतीय राज्यों को नये राज्य दी पटियाला और ईस्ट पंजाब स्टेट यूनियन (PEPSU) में शामिल किया गया। बहुत से प्रांतीय राज्य और काँगड़ा जिले को मिलाकर ही हिमाचल प्रदेश की स्थापना केंद्र शासित प्रदेश के रूप में की गयी। 1956 में PEPSU को पंजाब में शामिल कर लिया गया और हिमालय में पंजाब के बहुत से उत्तरी जिलो को हिमाचल प्रदेश में शामिल कर लिया गया।

पंजाब राज्य के जिले – Districts of Punjab State

पंजाब राज्य में कुल 22 जिले है। पंजाब को मालवा, माझा और दोआबा नामक तीन क्षेत्रो में विभाजित किया गया है। पंजाब के मालवा क्षेत्र में 11 जिले है। क्षेत्र के मुख्य जिलो में लुधियाना, मोहाली, संगरूर, भटिंडा, और पटियाला है। पठानकोट, अमृतसर और दुरदासपुर माझा जिले में शामिल है। पंजाब के दोआबा क्षेत्र में होशियारपूर, जालंधर, नवानशहर और कपूरथला शामिल है।

पंजाब राज्य का धर्म – Religion of Punjab state

आज, पंजाब के ज्यादातर क्षेत्र में सिक्ख धर्म के लोग रहते है, जिनकी उत्पत्ति पहले सिक्ख गुरु, गुरुनानक की शिक्षा से हुई है। राज्य में ज्यादातर हिन्दू धर्म के लोग रहते है लेकिन यहाँ मुस्लिम धर्म के भी प्रयाप्त लोग रहते है। राज्य में कुछ जगहों पर क्रिस्चियन और जैन धर्म के लोग भी रहते है। पंजाब की कुल जनसँख्या के 2/5 भाग में हिन्दू रहते है और अनुसूचित जाति में गिने जाने वाले सिक्ख धर्म के लोग साधारणतः निचले स्तर पर आते है।

पंजाब राज्य की भाषा – Punjab State Language

पंजाबी ही पंजाब की अधिकारिक भाषा है। हिंदी के साथ यहाँ ज्यादातर पंजाबी भाषा का ही प्रयोग किया जाता है। साथ ही बहुत से लोग अंग्रेजी और उर्दू भाषा भी बोलते है।

पंजाब राज्य का नृत्य – Dance of state of Punjab

भांगड़ा : भांगड़ा नृत्य और संगीत का एक प्रकार है, जिसकी उत्पत्ति पंजाब क्षेत्र से ही हुई।

भांगड़ा डांस की शुरुवात लोक नृत्य के रूप में होती है, जिसे पंजाबी किसान फसल के मौसम में मनाते है। इंग्लैंड, कनाडा और USA में भी पंजाबी लोगो ने इस लोक नृत्य को प्रसिद्ध बनाया है। वर्तमान में भांगड़ा नृत्य के विविध प्रकार देशभर में दिखाई देते है।

पंजाब फिल्म इंडस्ट्री – Punjab Film industry

पंजाब, पंजाबी फिल्म इंडस्ट्री का घर है, इसे ‘पॉलीवूड’ भी कहा जाता है। यह भारत के तेजी से बढ़ रहे फिल्म उद्योगों में से एक है। यह चंडीगढ़ शहर के आस-पास ही बसा हुआ है।

1936 में पहली पंजाबी फिल्म बनाई गयी। सन 2000 से हर साल बहुत सी पंजाबी फिल्म रिलीज़ हो रही है, बहुत सी पंजाबी फिल्मो में बॉलीवुड फिल्म अभिनेताओ ने भी काम किया है।

पंजाब राज्य का भोजन – Food of the state of Punjab

पंजाबी भोजन की मुख्य बात यहाँ के व्यंजनों की विविध श्रेणी है। यहाँ के व्यंजनों में ज्यादा मात्रा में घी का उपयोग किया जाता है। पंजाबी के कुछ प्रसिद्ध व्यंजनों में मक्की दी रोटी, सरसों दा साग, शमी कबाब, तंदूरी चिकन, इत्यादि शामिल है।

पंजाब राज्य के उत्सव – Festival of Punjab State

पंजाबी बहुत से महोत्सव मनाते है और बहुत से महोत्सवो को देशभर में भी मनाया जाता है। कुछ प्रसिद्ध महोत्सवो में बंदी छोर दिवस (दिवाली), लोहरी, मेला माघी, होला मोहल्ला, राख्री, वैसाखी, तीयान और बसंत। इस उत्सवो के अलावा राष्ट्रिय उत्सव भी बड़ी धूम-धाम से मनाये जाते है।

पंजाब के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल – Famous tourist sites of Punjab

पंजाब राज्य में बहुत से पर्यटन स्थल है। जबकि यह सभी स्थान राज्य के विविध शहरो में स्थापित है। इनमे से कुछ प्रसिद्द पर्यटन स्थल निम्न है :

  • गोल्डन टेम्पल (अमृतसर)
  • जगतजीत पैलेस (कपूरथला)
  • रॉक गार्डन (चंडीगढ़)
  • बीर मोटी बाघ अभयारण्य (पटियाला)
  • महाराजा रणजीत सिंह वॉर म्यूजियम (लुधियाना)
  • भटिंडा प्राणी उद्यान (भटिंडा)
  • शहीद-ए-आज़म सरदार भगत सिंह म्यूजियम (जालंधर)
  • नूरपुर किला (पठानकोट)

जिंदगी में एक बार आपको अवश्य ऐसे महमोहक राज्य की यात्रा करनी चाहिए।

Read More:

Note: We try hard for correctness and accuracy. please tell us If you see something that doesn’t look correct in this article about Punjab and if you have more information about Punjab History then help for the improvements this article.

Gyanipandit.com Editorial Team create a big Article database with rich content, status for superiority and worth of contribution. Gyanipandit.com Editorial Team constantly adding new and unique content which make users visit back over and over again.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.