अच्छी लिखावट के लिए कुछ टिप्स | How to Improve Handwriting

How to Improve Handwriting

भगवान ने हम सभी को एक जैसे ही अंग दिए हैं लेकिन हर कोई हर किसीसे अलग हैं। फिर चाहे वह देखने में हो या स्वभाव से। उसी तरह हर किसी की लिखावट अलग अलग होती हैं। कहते हैं लिखावट से उस इंसान का दिल समझ ज्याता हैं वो तो चलो अपने अपने समझ की बात हैं।

लेकिन लिखावट अगर सुंदर हो तो हम अपना इम्प्रेशन अलग ही पड़ता हैं। साथ ही हर एक तरफ की लिखावट का आपके व्यक्तित्व से लेना-देना जरुर होता है, इस बात की पुष्टि मनोविज्ञान के विज्ञान से की जा सकती है। कुछ लोगो की लिखावट बहुत अच्छी होती है, जबकि कुछ लोगो की लिखावट इतनी अच्छी नही होती। इसी को ध्यान में रखते हुए आज हम यहाँ आपको अच्छी लिखावट के कुछ उपाय बताने जा रहे है।

How to Improve Handwriting

अच्छी लिखावट के लिए कुछ टिप्स – How to Improve Handwriting

1. लिखते समय आराम से लिखे।

इसका अर्थ लिखते समय आरामदायक अवस्था में लिखना है। समय-समय पर अपने हाँथो को आराम दे और पेन या पेन्सिल को आरामदायक अवस्था में हाँथो में पकड़कर लिखे। लिखावट करते समय यदि आपके हातो पर ज्यादा जोर लगता है, तो आप कभी भी चिकनाई से नही लिख सकते। इसीलिए लिखावट करते समय आरामदायक अवस्था में रहना बहुत जरुरी है। लिखते समय हमेशा सीधी स्थिति में बैठे। इसके साथ-साथ लिखावट करते समय निचे टेबल रखे।

2. सही लेखन पत्र और पेपर का उपयोग करे।

अच्छी लिखावट में पेपर भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। आप शासित पत्र का उपयोग कर सकते हो, इसके उपयोग से आप आसानी से अपनी लिखावट में सुधार ला सकते हो। साथ ही लेखन पत्र के भी माध्यम से आप समान रूप से पेपर पर लिख सकते हो।

3. लिखते समय रिक्त स्थान की ओर ध्यान दे।

लिखावट को अच्छा बनाने के लिए पर्याप्त रिक्त स्थान छोड़ना भी बहुत जरुरी है। रिक्त स्थान का मतलब यहाँ दो शब्दों के बीच में छोड़ी जाने वाली जगह से है। हर शब्द के बीच 1 से 2 उंगलियों का अंतर होना बहुत जरुरी है। ऐसा करने से केवल आपकी लिखावट में सुधार ही नही आएगा बल्कि आपकी लिखावट दिखने में भी सुंदर दिखेगी।

4. धैर्य बनाए रखे।

हाँ, आपने सही सुना। लिखावट में धैर्य बनाए रखना भी बहुत जरुरी है। आपको भले ही इस बात की जानकारी नही होंगी, लेकिन आपकी भावनाओ का असर आपकी लिखावट पर भी पड़ता है। इसीलिए हमेशा आपको धैर्य बनाए रखने की जरूरत है। हमेशा खुश रहे। अंततः, खुश रहकर आप कभी गलत नही हो सकते।

5. रचनात्मक बने रहे।

लिखावट में सुधार लाने के लिए रचनात्मक बने रहना भी बहुत जरुरी है। किसी प्रकाशन में से अच्छी दिखने वाली लिखावट की प्रतिलिपि करने से अच्छा खुद की शैली को विकसित करना है।

इन उपायों को अपनाकर आप आसानी से अपनी लिखावट में सुधार ला सकते है। ऊपर दिए गए उपाय विद्यार्थियों के लिए काफी फायदेमंद साबित होंगे।

If you like Self Development in Hindi then more article for you.

  1. Success steps and tips
  2. सफलता के लिये ज्ञान की बाते
  3. 5 प्रेरणादायक जीवन मंत्र
  4. लक्ष्य कैसे निश्चित करे
  5. Self Confidence

Note: If you like How to Improve Handwriting then share it. Note: E-MAIL Subscribes and Find good Handwriting tips Hindi and more personality development article.

loading...
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.