Skip to content

नागालैंड का इतिहास और जानकारी | Nagaland History information

Nagaland History in Hindi

Nagaland – नागालैंड 1 दिसम्बर 1963 को भारत का 16वाँ राज्य बना। यह भारत का सबसे छोटा राज्य है। इसकी राजधानी कोहिमा है। इस राज्‍य के पूर्व में म्यांमार, पश्चिम में असम, उत्तर में अरुणाचल प्रदेश, और दक्षिण में मणिपुर से घिरा हुआ है। और इसे ‘पूरब का स्विट्जरलैंड’ भी कहा जाता है।

नागालैंड का इतिहास और जानकारी – Nagaland History in Hindi

राज्य का नाम (State Name)नागालैंड (Nagaland)
नागालैंड की राजधानी (Capital of Nagaland)कोहिमा (Kohima)
राज्य निर्मिति का साल(Statehood) १ दिसंबर १९६३।
राज्य अंतर्गत कुल जिलों की सँख्या(Number of Districts in Nagaland)१२ (Twelve)
राज्य की प्रमुख भाषाएँ(State Languages)अँग्रेजी, हिंदी, कोन्याक, आओ, लोथा, चोकरी, संगताम, बंगाली इत्यादि।
क्षेत्रफल अनुसार राज्य का देश में स्थान(Areawise Rank in Country) २६ वा(Twenty Sixth)
जनसँख्या अनुसार राज्य का देश में स्थान(Populationwise Rank in Country) २५ वा (Twenty Fifth)
राज्य की कुल जनसँख्या(Total Population of State)१९,८०,६०२। (साल २०११ के जनगणना अनुसार)
राज्य का प्रमुख जानवर(State Mammal)मिथुन (पूर्वोत्तर विभाग में पाया जानेवाला बैल)
राज्य का प्रमुख पक्षी(State Bird))ग्रे बिल्लिएड ट्रेगापोन।
राज्य का प्रमुख पेड़(वृक्ष)(State Tree)अल्डर।
नागालैंड राज्य का प्रमुख पुष्प (फूल)- State Flowerरोडोडेंड्रॉन।
नागालैंड राज्य का प्रमुख फल (State Fruit of Nagaland) क्वीन वैरायटी पाइनएप्पल(Queen Variety Pineapple)।
राज्य का प्रमुख खेल(State Game of Nagaland)कुश्ती(Wrestling)।
नागालैंड राज्य की वित्तीय तथा राज्यनिहाय कोड सँख्या (State Code of Nagaland) १३(Thirteen)

 

नागालैंड की जानकारी – Nagaland information in Hindi

नागालैंड का कोई प्रारंभिक लिखित इतिहास नही है, जबकि पडोसी असम राज्य के अहोम साम्राज्य में नागा समुदाय, उनकी अर्थव्यवस्था और रीती-रिवाजो का उल्लेख किया गया था। 1816 में जब म्यांमार के बर्मन ने असम पर आक्रमण किया तो इसके परिणामस्वरूप 1819 में दमनकारी बर्मन शासन की नीव रखी गयी और 1826 में असम में ब्रिटिश शासन की स्थापना तक यह शासन चला।

1947 में भारत की आज़ादी के बाद, नागा समुदाय के लोग असम के छोटे से भाग में बसे हुए थे। जबकि मजबूत राष्ट्रिय अभियान के माध्यम से नागा समुदाय के राजनितिक संघ की भी मांग की गयी। इस अभियान के चलते बहुत सी हिंसक गतिविधियाँ हुई और 1955 में भारतीय सेना को व्यवस्था पुनर्स्थापित करने का आदेश भी दिया गया।

1957 में नागा लीडर और भारत सरकार के बीच अग्रीमेंट बनाने के बाद, असम के पहाड़ी क्षेत्रो में रहने वाले नागा और तुएंसंग फ्रंटियर डिवीज़न के नागाओ को भारत सरकार के प्रशासन में एक ही छत के निचे लाया गया। अग्रीमेंट के बावजूद भारत सरकार से असहकार, कर ना देना, तोड़-फोड़ और सेना पर आक्रमण करने जैसी हरकते होने लगी।

Nagaland Ka Itihas

Nagaland History in Hindi

Nagaland History in Hindi

1960 में नागा लोगो के सम्मलेन बैठक इस बात को पेश किया गया की नागालैंड को भारतीय संघ का हिस्सा होना चाहिए। 1963 में नागालैंड को राज्य का दर्जा दिया गया और 1964 में लोकतांत्रिक ढंग से यहाँ के कार्यालय की स्थापना की गयी थी। विद्रोही गतिविधियाँ जारी थी, साथ ही क्षेत्र में डाकुओ की संख्या भी बढ़ रही।

मोल भाव कर कुछ समय तक विद्रोह को रोका गया और मार्च 1975 में राज्य पर प्रत्यक्ष राष्ट्रपति शासन लागु किया गया। 1980 में शक्तिशाली समर्थक अलगाववादी चरमपंथी समूह, दी नेशनल सोशलिस्ट कौंसिल ऑफ़ नागालैंड की स्थापना की गयी।

नागालैंड की संस्कृति और परंपरा – Culture And Tradition of Nagaland State.

नागालैंड राज्य जितना प्राकृतिक दृष्टी से सुंदर है उतना ही यहाँ के जीवनशैली में खूबसूरती और विविधता देखने को मिलती है। राज्य में अधिकतर जनजातीय समुदाय के लोगो का अधिवास है जिसमे प्रमुख १६ जनजातियों के साथ कुल ६६ उपजनजातियाँ शामिल है।

बात करे प्रमुख जनजातियों की तो यहाँपर चाखेसांग, चाओ, अंगामी, चांग, फौम, पोचूरी, रेंग्मा, संगताम, सुमी, यिमसचुंगरू, जेलिआंग इत्यादि देखने को मिलती है जिनकी स्वतंत्र मान्यताये और परंपराये होती है। इस राज्य नागा लोगो का प्रमुख अधिवास क्षेत्र माना जाता है, जो के मंगोल और भारतीय वर्ग में से एक माने जाते है।

राज्य में ज्यादातर ईसाई धर्म का पालन करनेवाले लोग मौजूद है, नागा जनजाति के लोगो के अलावा क्षेत्र में ज्यादातर लोग हिन्दू और इस्लाम धर्म को मानते है। नागालैंड को सबसे बड़े बैपटिस्ट स्थान में से एक माना जाता है जहाँ आपको कई सारे सुंदर चर्च देखने को मिलेंगे, बात करे त्योहारों की तो यहाँ का हॉर्नबिल नामक त्यौहार इस राज्य का खास आकर्षण होता है।

नागालैंड की जातीयता में बहुत से आदिवासी जनजाति और उप जनजाति समूहों का मिश्रण है, यह समुदाय अति प्राचीन काल के है। सभी नागा जनजाति के समूहों की सामाजिक संरचना एक-दूजे से अलग है। सभी समुदायों के रीती-रिवाज, महोत्सव और धारणा उन्हें एक-दूजे से अलग बनाती है। नागा समुदाय के लोगो की सांस्कृतिक विरासत समृद्ध है।

सदियों से वे सौहार्दपूर्वक राज्य में रह रहे हैं, जातीय समुदायों ने यहाँ सांस्कृतिक गतिशीलता का जीवंत मंच विकसित किया है। यहाँ के ग्रामीण भाग में रहने वाली जनजाति ने पुराने रीती-रिवाज और अनुष्ठान को सुरक्षित रखा है। वे दोस्ताना व्यवहार और कड़ी महेनत के लिए जाने जाते है, राज्य के सामाजिक-सांस्कृतिक विकास में नागालैंड के लोगो का महत्वपूर्ण योगदान रहा है।

नागालैंड का संगीत और नृत्यकला – Folk Dance and Music of Nagaland

इस राज्य में विभिन्न प्रकार के जनजाती के लोगो का अधिवास है जहाँ पर कई सारे नृत्य और संगीत प्रकार मौजूद है, यहाँ के प्रमुख नृत्य प्रकार में नागा युध्द नृत्य, जेलियांग लोकनृत्य, मुर्गा नृत्य, क्रिकेट नृत्य, भालू नृत्य,मोडसे, अगरशिकुकुला, बटरफ्लाई नृत्य, अलॉयटु, सड़ल केकई, चंगाई, इत्यादि प्रसिध्द नृत्य शामिल है।

बात करे संगीत की तो राज्य में शास्त्रीय गीत संगीत के साथ लोकसंगीत और लोकगीत का अधिक प्रचलन हुआ है, साथमे आधुनिक गीत संगीत भी आम तौर पर सुना जाता है।

नागालैंड राज्य के लोगो की प्रमुख वेशभूषा – Dress of Nagaland

इस राज्य में महिलाओ के प्रमुख परिधान में स्कर्ट, लोथा, सुंगकोटेप्सु, चंगेस इत्यादि शामिल होते है, वही पुरुषो के परिधान में चंगेस, क्लित, मयूर टस्क, अलुंगस्तु इत्यादि शामिल होते है।

नागालैंड की प्रमुख भाषाए – Languages in Nagaland

जितनी भाषाई विविधता नागालैंड में है, शायद ही उतनी विविधता भारत के किसी और राज्य में होंगी। नागा लोग तक़रीबन 36 अलग-अलग भाषा और बोलियों का उपयोग करते है। नागा भाषा के अलावा राज्य के बहुत से लोग दूसरी भाषा का भी प्रयोग करते है।

यहाँ के बोलीचाली में प्रमुखता से अंग्रेजी, संगतम, बंगाली, चोकरी, आओ, कोन्याक, लोथा, अंगामी, ज़ेलिआंग, जेमी, इमचूंगरे, चांग, खिअमनीउंगन, रेंग्मा, फोम आदि भाषाओं का प्रयोग किया जाता है।

नागालैंड की नदियाँ – Rivers of Nagaland

इस राज्य में बहने वाली मुख्य नदियों में धनसिरी, दिखू , डोयंग,और झांजी है।

नागालैंड के प्रमुख त्यौहार/महोत्सव – Festivals in Nagaland

इस राज्य के महोत्सव ज्यादातर कृषि से जुड़े हुए है। समुदाय के सभी लोग बढ़-चढ़कर महोत्सव में भाग लेते है और बड़ी धूम-धाम से राज्य के सभी उत्सव मनाये जाते है। यहाँ के पर मनाये जाने वाले त्यौहारों में शामिल प्रमुख त्यौहारों की सूचि निम्नलिखित तौर पर है, जैसे के-

  • सेक्रेनयी
  • मोआत्सु
  • तोकु इमोंग
  • तुलिनी
  • हॉर्नबिल
  • तसुखेनेई
  • ओलांग
  • नाकनीलेम
  • मिमकुट

नागालैंड राज्य का भोजन प्रकार – Staple Food in Nagaland

नागा जनजाति का मुख्य खाद्य पदार्थ चावल है इसे मांस या सब्जियों के साथ खाते है। नागा लोगो को मिर्च और सेमस खाने की काफी रूचि है, राज्य में अधिकतर चावल और इससे बने पदार्थ सेवन किये जाते है।

यहाँ के प्रमुख भोजन प्रकार में एक्सोन, बाम्बू शूट, फर्मेन्टेड ड्राई फिश, अनिशि, समाथु, एकीबेये, बॉइल्ड वेजिटेबल्स, अकिनी, बुश मीट, जुठो इत्यादि शामिल होते है।

नागालैंड राज्य के संपूर्ण जिलों की सूचि – List of Districts in Nagaland

यहाँ हम आपको नागालैंड राज्य के सभी जिलों का विवरण दे रहे है, जिसकी सूचि निम्नलिखित तौर पर है, जैसे के;

  1. दिमापुर
  2. किफिर
  3. लोंगलेंग
  4. कोहिमा
  5. मोकोकचुंग
  6. मोन
  7. पेरेन
  8. त्युएनसांग
  9. फेक
  10. वोखा
  11. नोकलक
  12. जुन्हेबोटो

नागालैंड राज्य के प्रमुख शिक्षा संस्थान / यूनिवर्सिटी – Educational Institutions/Universities in Nagaland.

यहाँ हम आपका परिचय करायेंगे नागालैंड राज्य में मौजूद प्रमुख शिक्षा संस्थानों से, जिनकी सूचि निचे दिए हुए प्रकार से है, जैसे के;

  • नागालैंड यूनिवर्सिटी – लुमामी
  • द ग्लोबल मुक्त शिक्षा यूनिवर्सिटी – दिमपुर
  • सेंट जोसफ यूनिवर्सिटी – नागालैंड
  • आई सी एफ ए आई यूनिवर्सिटी
  • कोहिमा कॉलेज
  • ओरिएंटल थिओलॉजिकल सेमिनरी
  • जीसाजी प्रेसीडेंसी कॉलेज

नागालैंड राज्य के प्रमुख पर्यटन स्थल – Tourism Places in Nagaland State.

Tourism Places in Nagaland State नागालैंड प्राकृतिक दृष्टी से काफी सुंदर और अद्भुत रमणीय स्थलों से घिरा हुआ राज्य है, जिसके अंतर्गत मौजूद कई सारे मनमोहक पर्यटन स्थल पर्यावरण प्रेमी और पर्यटन के शौक़ीन लोगो का ध्यान अपने और आकर्षित करते है। ऐसेही कुछ सुंदर स्थलों का ब्यौरा यहाँ आपके जानकारी हेतु निचे दिया हुआ है, जिसमे शामिल स्थल ऐसे है –

  • कचारी रूइंस
  • कोहिमा वॉर सेमेन्ट्री
  • शिलोई लेक
  • नागालैंड स्टेट म्यूजियम
  • नागा हेरिटेज विलेज
  • ग्लोरी पीक
  • नागालैंड जूलॉजिकल पार्क
  • डजुलेके
  • नागा हिल्स
  • पुलिएबाड़जे
  • ग्रीन पार्क
  • माउंट तीयी
  • साइंस सेंटर
  • सारामती पीक
  • त्सुमान्ग लेक
  • चिल्ड्रेन पार्क
  • स्टोन गार्डन
  • तुलु पार्क

नागालैंड राज्य के अंतर्गत आनेवाले पवित्र धार्मिक स्थल – Holy Religious Places in Nagaland State.

Temples in Nagaland नागालैंड राज्य में ईसाई धर्म के लोगो की संख्या प्रमुखता से मौजूद होने के कारण यहाँ आपको सबसे अधिक चर्च देखने को मिलेंगे, इसके बाद कुछ हिन्दू धार्मिक स्थल और अन्य प्रार्थना स्थल भी यहाँ उपलब्ध है। ऐसेही कुछ स्थलों की जानकारी निचे दी हुई है –

  • शिवा टेम्पल – दिमपुर
  • दुर्गाबारी मंदिर
  • कैथेड्रल चर्च
  • जैन मंदिर
  • नेपाली मंदिर – कोहिमा
  • बैप्टिस्ट चर्च उंग्मा
  • एमिफोटो प्रेयर चर्च
  • संगतम चर्च
  • अंगामी चर्च
  • रॉसकिंग चर्च

नागालैंड राज्य बारेमें अधिकतर बार पूछे जाने वाले सवाल – Quiz on Nagaland State

  •  नागालैंड राज्य के इतिहास की जानकारी हमें कौनसे किताबों से प्राप्त होती है? (Nagaland State History Books? )                                                                                                                  जवाब: अ हिस्ट्री ऑफ़ नागा एंड नागालैंड, नागालैंड – अ जर्नी टू इंडियाज फॉरगॉटन फ्रंटियर, एमेर्जेंस ऑफ़ नागालैंड, नागालैंड द नाईट ऑफ़ द गुर्रिल्ला, ए नागा ओड़ाएसी, द हार्नबिल स्पिरिट, द नागा स्टोरी, पीस इन नागालैंड इत्यादि।
  •  क्या नागालैंड राज्य के अंतर्गत कोई समुद्री तट मौजूद है? (Is there any beach available in Nagaland State?)                                                                                                    जवाब: नहीं।
  • नागालैंड राज्य में कुल कितने हवाई अड्डे मौजूद है? इनके नाम क्या है? (How Many Airports are available in Nagaland? What is the name of Airport in Nagaland?)                      जवाब: नागालैंड राज्य में मात्र एक हवाई अड्डा मौजूद है जो के देशांतर्गत हवाई यात्रा के लिए उप्लब्ध है जिसका नाम दिमपुर एअरपोर्ट है।
  • वन्य जिव संरक्षण हेतु कौनसे अभयारण नागालैंड राज्य में मौजूद है? (Wild life sanctuaries in Nagaland)                                                                                                          जवाब: पुली बाडजे अभयारण, रंगपहर अभयारण, फकिम अभयारण, घोसू अभयारण।
  • नागालैंड राज्य में कौनसा बाँध मौजूद है? (Dam in Nagaland)                                                  जवाब: दोयांग हेप बाँध।
  • पर्यटन के लिए अगर नागालैंड राज्य में घूमने हेतु जाना हो तो कौनसा समय सबसे उचित होता है? (Best time to visit Nagaland State)                                                                                           जवाब: जून माह से लेकर फरवरी माह तक।
  • नागालैंड राज्य में कौनसा जिला सबसे बड़ा है? (Largest district in Nagaland State)                  जवाब: दिमपुर।
  • नागालैंड राज्य का कौनसा जिला प्राकृतिक सुंदरता के दृष्टी से सबसे सुंदर और रमणीय है? (Most Beautiful district in Nagaland State)                                                                                      जवाब: मोकोकचुंग।
  • भारतीय राज्य नागालैंड के अंतर्गत कौनसी नदी की लंबाई सबसे अधिक है? (Longest river in Nagaland State)                                                                                                                      जवाब: धनसिरी नदी।
  • नागालैंड राज्य देश दुनिया में प्रसिध्द क्यों है? (Why Nagaland State is famous?)                      जवाब: नागालैंड राज्य में अधिक पर्वत और पहाड़ो की वजह से यहाँ बसे लोगो को नागा कहते है जिसके वजह से इस राज्य का नाम नागालैंड है। पूर्वोत्तर भारतीय राज्य नागालैंड को प्राकृतिक सुंदरता का अनमोल उपहार मिला हुआ है जहा सालभर पर्यटक घूमने के लिए आते है। इत्यादि प्रमुख कारणों की वजह से नागालैंड राज्य देश दुनिया में खास तौर पर पहचाना जाता है।
  • नागालैंड राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री कौन थे? (Who was the first chief minister of Nagaland State? )                                                                                                          जवाब: पी शीलू आओ।

 

1 thought on “नागालैंड का इतिहास और जानकारी | Nagaland History information”

  1. ज्ञानी पण्डित जी , नागालैंड के बारे में आपने बहुत
    ही अच्छी जानकारी दी है ,
    क्योकि आपने इसके गठन को लेकर काफी सही और तथ्यों को स्पष्ट करते हुए ,
    ये बातें बताई है , नागालैंड बहुत ही खूबसूरत जगह है प्राकृतिक रूप से ,

    और पर्यटन के हिसाब से भी ये एक अच्छी जगह है , आपने इसमे एक खास बात बताई है पण्डित जी ,

    की यहाँ जो लोकल्स है , उनकी सेना के साथ झड़प होती रहती थी , वो कहि ना कहि अंदरूनी रूप से आज भी होती रहती है ,

    इसकी नदिया , संस्कृति और इतनी भाषाओं के बारे में भी आपने बताया , जो कि नॉलेज बढ़ाने वाली बातें है ,

    पूरा आर्टिकल ज्ञान से भरपूर है , Good

Leave a Reply

Your email address will not be published.