Skip to content

मणिपुर राज्य का इतिहास और जानकारी

Manipur History in Hindi

भारत एक बहुत ही बड़ा देश है और इस बड़े देश की आबादी भी काफी है। पुरे एशिया में भारत की एक अलग पहचान है। एशिया में जितने बड़े देश है उनमे भारत का स्थान काफी ऊपर है। इस विविधता पूर्ण देश में घुमने के लिए, पर्यटन के लिए अनगिनत जगह है। देश काफी बड़ा होने के कारण इसे अलग अलग हिस्सों में दर्शाया जाता है।

देश के उत्तरी हिस्से में कई राज्य आते है और यहापर लोग ज्यादातर हिंदी में बात करते हुए दिखाई देते है। वही दूसरी और दक्षिण भारत उत्तर भारत से बिलकुल अलग है, उनकी संस्कृति, भाषा, कला उत्तर भारत से भिन्न है। भारत का पूर्व हिस्सा काफी महत्वपूर्ण माना जाता है क्यों की इस हिस्से में अन्य देशो की सीमा लगी है साथ ही इस प्रदेश के बहुत ही छोटे छोटे राज्य है जो की केवल इसी प्रदेश में देखने को मिलते है क्यों की देश के सभी हिस्सों में सभी राज्य बड़े बड़े है।

इसी पूर्व हिस्से में स्थित एक छोटासा लेकिन सबसे खास राज्य भी है जिसका नाम मणिपुर – Manipur है। इस राज्य को भारत का स्विट्ज़रलैंड भी कहते है। आज हम आपको इसी राज्य की जानकारी देनेवाले है। इस राज्य की भाषा, कला, संस्कृति, लोग, अन्य राज्यों से बिलकुल अलग है। इस मणिपुर राज्य की कुछ रोचक जानकरी हम आपको देने जा रहे।

मणिपुर राज्य का इतिहास और जानकारी – Manipur History in Hindi

Manipur

Source: Manipur

मणिपुर राज्य से जुडी बुनियादी जानकारी – Information About Manipur State

राज्य का नाम (State Name) मणिपुर(Manipur)।
मणिपुर की राजधानी का स्थान (Capital of Manipur) इम्फाल(Imphal)।
राज्य के अंतर्गत आनेवाले कुल जिलों की सँख्या(Total Districts of Manipur) १६।
राज्य निर्मिति का वर्ष (Formation Year of Manipur) २१ जनवरी १९७२।
कुल क्षेत्रफल (Total Area) २२,३२७ किलोमीटर वर्ग।
क्षेत्रफल अनुसार राज्य का देश में स्थान (Areawise Rank of State in India) तेईसवाँ ( 23rd )
राज्य की कुल जनसँख्या (Total Population of Manipur) २८,५५,७९४।
राज्य का कुल साक्षरता दर (Literacy Rate of Manipur) ७६.९४ प्रतिशत(%)।
प्रमुख जानवर (Mammal of Manipur) सुंगई(Sungai)।
राज्य का प्रमुख पक्षी (State Bird of Manipur) मादा तीतर पक्षी।
राज्य का प्रमुख पेड़ (वृक्ष) (State Tree of Manipur) फोएबे हैनेसियाना वृक्ष(बोनसम)।
प्रमुख पुष्प (फूल) (State Flower of Manipur) शिरुई लिली पुष्प(Shirui Lilly Flower)।
राज्य की प्रमुख भाषाएँ (State Languages of Manipur) मैतेई, अँग्रेजी(English,Meitei)।
प्रमुख फल (State Fruit of Manipur) पाइनएप्पल(अनानास)।
राज्य का प्रमुख खेल (State Game of Manipur) पोलो(Polo Game)।
वित्तीय और राज्यों के निहाय मणिपुर की कोड सँख्या (State Code of Manipur) १४।
राज्य का प्रमुख नृत्य प्रकार (State Dance of Manipur) रास लीला।

मणिपुर राज्य की जानकारी – Manipur History Information

मणिपुर एक तरह से इस धरती का स्वर्ग ही दीखता है। कुछ लोग मणिपुर को सोने की नगरी भी कहते है। प्राकृतिक रूप से मणिपुर बहुत ही सुन्दर दीखता है।संगाई जाती का हिरण केवल मणिपुर में ही पाया जाता है और सिरोय लिली के फुल भी केवल मणिपुर के सिरोय पहाड़ी में देखने को मिलते है।

पंडित जवाहरलाल नेहरू ने मणिपुर को “ज्वेल ऑफ़ इंडिया” कहा था। मणिपुर की उत्तर दिशा में नागालैंड, दक्षिण में मिजोरम, पूर्व में म्यांमार और इसके पश्चिम में आसाम का जिला कैचर स्थित है। मणिपुर जैसे छोटे से राज्य में केवल 16 जिले स्थित है।

मणिपुर राज्य का इतिहास – History of Manipur

मणिपुर के मिति राजा का इतिहास पुयास में देखने को मिलता है कुछ लोग पुयास को पुवारिस भी कहते है। इसमें मिति लिपि में निंगथौ कंगबलोन, चिथारोल कुमबाबा, निंगथौरोल लम्बुबा, पोरेटन खूनथोकपा, पनथोईबी खोंगकुल की जानकारी दी गयी है। इस पूरी जानकारी को मिति राजा महाराजा और उनके समय के विद्वान लोगो ने लिखा है।

पहाड़ी में रहनेवाले लोगो की उनकी खुद की लोक कथाए और कहानिया होती है। अलग अलग समय में मणिपुर को अलग अलग नाम से पहचाना जाता था जैसे की तिल्ली कोकतोंग, पोरी लाम, सन्ना लीपक, मित्रबक और अभी मणिपुर।

इसकी राजधानी का नाम कंगला, युम्फाल था। आज मणिपुर की राजधानी को इम्फाल कहते है। इस राज्य के लोगो को कई तरह के नाम से बुलाया जाता है जैसे की मिति, पीरी मिति, मैती और मिति।

3500 सालों तक जीन राजा महाराजा ने इस राज्य में शासन किया उन सभी की जानकारी पुवारिस, निंगथौ, कंगबलोन, निंगथौरोल, लम्बुबा, चिथारोल, कुम्बाबा, पीरीटन ने लिखकर रखा है। सन 1955 तक इस राज्य पर 108 से भी ज्यादा राजा महाराजा ने शासन किया था।

निंगथौ कंग्बा मणिपुर के सबसे पहले राजा थे। ईसापूर्व 1129-ईसापूर्व 44 तक जब देश में किसी राजा का शासन नहीं था उस वक्त सभी तरफ़ उथल पुथल मची हुई थी। सन 1891 में खोंगजोम में एंग्लो मणिपुरी युद्ध में मिति राजा बुरी तरह से हार गए उस समय इतिहास में पहली बार मनिपुर गुलाम बन चूका था।

28 अगस्त 1947 में मणिपुर को आजादी मिल तो गयी लेकिन यह ख़ुशी लम्बे समय तक टिक नहीं सकी क्यों की 15 अक्तूबर 1949 को मणिपुर को भारत में एक राज्य के तौर पर शामिल कर लिया गया।

मणिपुर राज्य का सामाजिक जीवन तथा संस्कृति और परंपरा – Social Life, Culture and Tradition of Manipur

पूर्वोत्तर भारतीय राज्य मणिपुर को प्राकृतिक सुंदरता का अनुपम उपहार मिला हुआ है जहाँ पर सामाजिक जीवन पर अधिकतर पहाड़ी प्रदेश और पडोसी देश नेपाल, तिब्बत का कुछ प्रभाव दिखाई देता है।

यहाँ मौजूद प्रमुख धर्म हिन्दू होने के कारण अधिकतर इसी धर्म से जुडी मान्यताओं का पालन राज्य में होता है जिसके अंतर्गत कई सुन्दर हिन्दू मंदिर यहाँ मौजूद है।

हिन्दू धर्म के बाद ईसाई को माननेवाले लोगो का क्रम लगता है, जिसके साथमे मुस्लिम की संख्या लगभग ८ प्रतिशत होने के कारण तीनो धर्म का मिला जुला असर सामाजिक जीवन में दिखाई देता है।

कुल मिलाकर इन सभी धर्मो से जुड़े त्यौहार, अन्य कार्यक्रम सालभर राज्य में संपन्न होते है। यहाँ लगभग 30 प्रकार की जनजातियों का निवास है इस वजह से उनकी स्वतंत्र धार्मिक, सांस्कृतिक मान्यताये होने से उनसे जीवनपद्धति में भिन्न बदलाव देखने को मिलते है।

सामान्यतः मणिपुरी लोग धार्मिक और सरल स्वभाव के होते है, जिनको संगीत और नृत्य आदि में अत्यंत रूचि होती है।मैतेई और अंग्रेजी भाषा को राज्य में प्रमुख स्थान दिया हुआ है, जिसके अंतर्गत यहाँ के सभी प्रमुख कार्य पुरे किये जाते है साथमे आम बोलीचाली में भी इन भाषाओ का इस्तेमाल किया जाता है।

इस राज्य में कला और संस्कृति में किसी भी तरह की कमी नहीं और यह राज्य सभी तरफ़ से नीली पहाडियों से घिरा हुआ है। इस राज्य के हर इन्सान को कला और संस्कृति से काफी लगाव है और यहापर एक भी ऐसी लड़की नहीं मिलेगी जिसे गाना नहीं आता और नाचना नहीं आता।

इन लोगो के सुन्दर हैंडलूम और हस्तशिल्प देखके पता चलता है की इनकी कला कितनी समृद्ध है। यहाँ के लोग अन्धविश्वासी है लेकिन इनके धर्म और प्रथाओ में जो विश्वास है वह काफी विश्वसनीय है।

सभी धर्म और जाती के लोग कई शतको इस राज्य में शांति से रहते है। मिति जनजाति के लोग यहापर बड़ी संख्या में पाए जाते है और वे सभी घाटी में रहना पसंद करते है साथ ही नागा, कुकी, मिज़ो जनजाति के लोग पहाड़ी में रहना पसंद करते है।

मणिपुर राज्य के जिलों की सूची – Districts List of Manipur

यहाँ हम नजर डालेंगे मणिपुर राज्य के सभी प्रमुख जिलों पर, जिनका ब्यौरा इस प्रकार से है –

  1. बिष्णुपुर (Bishnupur)
  2.  पूर्वी इम्फाल (Eastern Imphal)
  3.  थौबल (Thoubal)
  4.  सेनापती (Senapati)
  5.  पश्चिमी इंफाल (West Imphal)
  6.  चंदेल (Chandel)
  7.  उखरुल (Ukhrul)
  8.  तमेंगलोंग (Tamenglong)
  9. चुरचंदपुर (Churchandpur)
  10.  कांगपोक्पि (Kangpokpi)
  11.  जिरीबाम(Jiribam)
  12.  काकचिंग( Kakching)
  13.  कमजोंग (Kamjong)
  14. टेंगनोपाल (Tengnopal)
  15.  फेरजॉल (Ferzawl)
  16.  नोने (None)

मणिपुर राज्य की प्रमुख भाषाएँ – Manipur State Languages.

पूर्वोत्तर भारतीय राज्य मणिपुर में मैतेई और अँग्रेजी ऐसे दो भाषाओ को आधिकारिक भाषा के रूप स्वीकृत किया गया है इसके अलावा कुकी चीन भाषा समूहों के अधिकतर भाषाओ का यहाँ पर आम बोलीचाली में प्रयोग किया जाता है,जिसमे ठाडो भाषा प्रमुख है।

अन्य भाषाओ में नागा भाषाएँ उपयोग की जाती है जिसमे रोंगमेई, पौला, तांगखुल, माओ इत्यादि भाषाएँ शामिल होती है। राज्य के कुछ हिस्सों में बंगाली और नेपाली भाषा का भी इस्तेमाल किया जाता है।

मणिपुर राज्य के प्रमुख धर्म – Religions of Manipur State

भारत के अन्य राज्यों की तुलना में मणिपुर राज्य की धार्मिक पहचान काफी ज्यादा अमन और सौहार्दपूर्ण धार्मिकता वाले माहौल के तौर पर होती है।इस राज्य का प्रमुख धर्म हिन्दू होता है, जिसके अंतर्गत राज्य की सबसे बड़ी जनसँख्या रहती है।

वही ईसाई धर्म के लोगो की संख्या भी यहाँ अच्छी खासी मौजूद है, इस्लाम धर्म को माननेवालो की जनसँख्या राज्य की तीसरी बड़ी धार्मिक जनसँख्या है। वही राज्य अंतर्गत आपको विभिन्न जनजातियाँ भी देखने को मिलेगी जिनकी संख्या लगभग 30 के करीब है, इनकी अपनी स्वतंत्र धार्मिक मान्यताये होती है।

मणिपुर राज्य की प्रमुख जनजातियाँ :- Tribes in Manaipur

इस राज्य में लगभग ३० जनजातीय समुदायों का निवास है जिसमे कुछ मणिपुरी आदिवासी समुदाय है तो अन्य कुछ नागा जनजातीय समुदाय होते है।

यहाँ के प्रमुख जनजातीय समुहो में अनल, गंगटे, चोटे, अंगामी, चिरु, कबुई, हमार, कोइरांग, कैराव, आइमोल, माओ,लामलंग,मोनसांग, मोयोन , पैइट, पुरुम, तांगखुल, थाडौ, वैफा, मारिंग, राल्ते, सेमा, सिम्टे, सबटे इत्यादि शामिल होते है।

मणिपुर राज्य के लोगो का प्रमुख भोजन – Staple Food of Manipur State Peoples

यहाँ आप जानेंगे मणिपुर राज्य में प्रमुख पसंदीदा तौर पर खाये जाने वाले व्यंजनों की जानकारी जिनमे प्रमुखता से शामिल है –

  •  चामथोंग/कांगशोई
  •  मोरोक मेटपा
  •  एरोम्बा
  •  पाकनाम
  •  सिंगजु
  •  नगा अतौबा थोंगबा
  •  चाक हाओ खीर
  •  बीटरूट एंड पनीर सलाद
  •  ग्रेटेड कॅरोट सलाद
  •  ब्लैक बीन एंड कॉर्न सलाद
  •  क्विनोआ लेंटिल सलाद
  •  ओलिव
  •  नट्स
  •  तोफू
  •  दही

मणिपुर राज्य के अंतर्गत आनेवाले पर्यटन स्थल – Tourist Places in Manipur

यहाँ आप जान पायेंगे मणिपुर राज्य के सभी प्रसिध्द पर्यटन स्थलों के बारे में जिनका ब्यौरा निचे दिया हुआ है, जिसमे शामिल है –

  •  कांगला फोर्ट
  •  शिरुई काशोंग
  •  सिंगड़ा डैम
  •  साडू चिरु वॉटरफॉल
  •  सेंदरा पार्क
  •  खोपम वॉटरफॉल
  •  इंफाल पीस म्यूजियम
  •  थांगजिंग हिल
  • बरुनी हिल
  •  ककचिंग गार्डन
  •  मोवा केव्ज
  •  माउंट इसो
  •  करांग आइलैंड
  •  पाइन वुड गार्डन
  •  फायेंग चेकपा हे – यू पार्क
  •  बराक वॉटरफॉल
  • थारों केव्ज
  •  संतई नैचरल पार्क
  • वॉर सिमेट्री
  •  मणिपुर जूलॉजिकल गार्डन

मणिपुर राज्य का संगीत और नृत्य प्रकार – Dance and Music of Manipur

मणिपुर राज्य के लोग नृत्य कला और संगीत के काफी ज्यादा शौक़ीन होते है जिसमे विभिन्न नृत्य प्रकारो के दर्शन यहाँ है।इनमे से प्रमुख नृत्य प्रकारो में खंबा थोईबी नृत्य, माईबी नृत्य, पुंग चोलोम, नुपा पाला, रास लीला आदि शामिल होते है।

रास लीला नृत्य जिसमे कृष्ण राधा के साथ अन्य गोपिया भी होती है ठीक उसी प्रकार से गोपियाँ और कृष्ण का श्रृंगार कर ये नृत्य किया जाता है, जिसे राज्य का प्रमुख नृत्य माना जाता है।

राज्य के मुख्य संगीत प्रकार में प्रेम गीत, लोक गीत, धार्मिक गीत, शास्त्रीय एवं पारंपारिक गीत शामिल होते है, वही जनजातीय समूहों द्वारा उनके मान्यता और परंपराओं के अनुसार गीत संगीत गाया और सुना जाता है।

मणिपुर राज्य के प्रमुख महोत्सव – Main Festivals of Manipur State

यहाँ आप जानेंगे मणिपुर राज्य के सभी प्रमुख त्यौहारों के बारे में जिनकी सूची निम्नलिखित तौर पर दी हुयी है इनमे शामिल सांस्कृतिक, धार्मिक और राष्ट्रिय त्यौहार इस प्रकार से है , जैसे के –

  • कूट फेस्टिवल
  • याओसांग
  •  ख्रिसमस
  •  चैराओबा
  •  रमजान
  •  कांग महोत्सव
  •  लाई हरोबा
  •  मणिपुर संगाई फेस्टिवल
  •  चुम्फ़ा फेस्टिवल
  •  लुइ नगाई नी

मणिपुर राज्य में बहनेवाली प्रमुख नदियाँ – Rivers in Manipur State

  •  इरिल नदी
  •  मणिपुरी नदी
  •  खुगा नदी
  •  इंफाल नदी
  •  तुईवई नदी
  •  नाम्बुल नदी
  •  जीरी नदी
  •  बराक नदी
  •  टुइथा नदी

मणिपुर राज्य के प्रमुख शिक्षा संस्थान/यूनिवर्सिटी – Educational Institutions/University in Manipur

यहाँ संक्षेप में नजर डालेंगे मणिपुर राज्य के अंतर्गत आनेवाले प्रमुख शिक्षा संस्थानों पर जिनका सूचीगत ब्यौरा निचे दिया हुआ है, जिसमे शामिल है –

  •  मणिपुर टेक्निकल यूनिवर्सिटी
  •  संगाई आंतरराष्ट्रिय यूनिवर्सिटी
  •  मणिपुर यूनिवर्सिटी
  •  नॅशनल इंस्टिट्यूट टेक्नोलॉजी
  •  प्रेसीडेंसी कॉलेज
  •  ग्रेस बाइबिल कॉलेज
  •  नॅशनल स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी
  •  सेंट्रल एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी
  •  स्टैण्डर्ड कॉलेज
  • वीर टिकेन्द्रजीत यूनिवर्सिटी

मणिपुर के पवित्र धार्मिक स्थल – Holy Religious Places in Manipur

  • लियांगथांग लैरेम्बी मंदिर
  •  सनमाही कियोंग मंदिर
  •  सेंट जोसेफ कैथेड्रल चर्च
  •  इबुधोऊ थांगजिंग मंदिर
  • जामा मस्जिद

मणिपुर के विषय में अधिकतर बार पूछे जाने वाले सवाल – Gk Quiz On Manipur State

  •  मणिपुर राज्य के अंतर्गत कुल कितने जिले मौजूद है? (How many Districts are there in Manipur State?)
    जवाब :- सोलह (१६)
  •  कुल कितनी जनजातियो का मणिपुर राज्य में अधिवास है?(Total number of tribes in Manipur State?)
    जवाब :- लगभग ३० जनजातीय विशेष का मणिपुर राज्य में अधिवास है।
  • मणिपुर राज्य के इतिहास से जुडी जानकारी हमें कौनसे किताबो से प्राप्त होती है?(Manipur state history books?)
    जवाब :- हिस्ट्री ऑफ़ मणिपुर प्री कोलोनियल पीरियड, मणिपुर पास्ट एंड प्रेजेंट द हेरिटेजएंड ऑरडियल्स ऑफ़ अ सिविलाइज़ेशन, द मदर्स ऑफ़ मणिपुर -ट्वेल्व वूमेन व्हू मेड हिस्ट्री, ऑन हिस्ट्री एंड हिस्ट्रोग्राफी ऑफ़ मणिपुर, द मेइतेइस, सोशल हिस्ट्री ऑफ़ मणिपुर, द कुकीस ऑफ़ नार्थ ईस्ट इंडिया – पॉलिटिक्स एंड कल्चर इत्यादि ।
  • मणिपुर राज्य में कौनसा जिला प्राकृतिक दृष्टी से अत्यंत खूबसूरत है? (Most beautiful district of Manipur State?)
    जवाब :- सेनापति जिला।
  • पर्यटन हेतु मणिपुर राज्य में घूमने जाने के लिए सबसे उत्तम समय कौनसा होता है?(Best time to visit Manipur State?)
    जवाब :- जून माह से लेकर फरवरी माह तक का समय मणिपुर राज्य में पर्यटन हेतु अत्यंत सुहावना माना जाता है, जिसमे प्राकृतिक सुंदरता के विलोभनीय दर्शन आपको यहाँ मिल जाते है।
  • मणिपुर राज्य देश दुनिया में प्रसिध्द क्यों है? (Why Manipur is so famous?)
    जवाब :- पूर्वोत्तर भारतीय राज्य मणिपुर को अनेक प्राकृतिक सुंदरतापूर्ण स्थल मौजूद है जिसके कारण इसका उल्लेख ‘लैंड ऑफ़ जेवेल्स ‘ ऐसे किया जाता है, जहाँ सालभर देश-विदेशो से पर्यटन यात्री घूमने हेतु आते है।इसके अलावा इस राज्य के व्यक्ति काफी ज्यादा सरल स्वभाव के और धार्मिक प्रवृत्ति के होते है इस वजह से यहाँ अमन और शांतिपूर्ण समाजिक माहौल देखने को मिलता है।राज्य का प्रमुख नृत्य रास लीला होता है जिसमे प्रस्तुत की जानेवाली नृत्य कला, आभूषण पद्धति, साज श्रृंगार और वस्त्र परंपरा अद्भुत होती है जो के सबका ध्यान आकर्षित करती है।प्रचुर मात्रा में नैसर्गिक संसाधन, वन्य संपदा, जलस्त्रोत इत्यादि वजहों से इस राज्य को प्रसिद्धि हासिल हुई है।
  • मणिपुर राज्य में कुल कितने हवाई अड्डे मौजूद है? उपलब्ध हवाई अड्डे का नाम बताये? (Total number of Airports in Manipur?Name of Airport in Manipur State?)
    जवाब :- मणिपुर राज्य में केवल एक हवाई अड्डा मौजूद है, जिसका नाम इंफाल आंतरराष्ट्रिय एयरपोर्ट है।
  • कुल कितनी नदियाँ मणिपुर राज्य में मौजूद है? (Total number of rivers in Manipur state?)
    जवाब :- लगभग नौ (९ )
  • मणिपुर राज्य की राजधानी क्या है? (Capital of Manipur State?)
    जवाब :- इम्फाल।
  •  कुल कितने वन्यजीव अभयारण मणिपुर राज्य में मौजूद है? इनके नाम बताये? (Wild life sanctuaries in Manipur State? Their Names?)
    जवाब :- कुल दो वन्यजीव अभयारण मणिपुर राज्य में मौजूद है जो के इस प्रकार से है, १. खोंगजिन्गम्बा चिंग २. यांगोपोक्पि – लोकचाओ

Leave a Reply

Your email address will not be published.