नारी शिक्षा पर निबंध – Nari Shiksha Essay

नारी शिक्षा पर निबंध नंबर 3 (650 शब्द) – Nari Shiksha Essay (300Words)

प्रस्तावना

महिला और पुरुष दोनों से मिलकर ही समाज का निर्माण होता है। वहीं अगर इनमें से कोई एक वर्ग भी कमजोर होता है तो, उस समाज का पूर्ण रुप से विकास नहीं हो सकता है।

वहीं शिक्षा की दोनो को सामाजिक रुप से सामानता प्रदान करती है, इसलिए महिला शिक्षा बेहद जरूरी है, इसके बिना किसी भी समाज और राष्ट्र का पूर्ण रुप से विकास होना संभव नहीं है।
नारी अबला नहीं, आलंबन है, पढ़ाई से उसका, स्वावलंबन है।

नारी शिक्षा के फायदे – Nari Shiksha Benefits

• शिक्षा से मिलेगी लैंगिग भेदभाव को दूर करने में मदत:

महिलाओं के शिक्षित होने से समाज में महिला और पुरुषों के बीच भेदभाव को मिटाने में मदत मिलेगी। इसके साथ ही समाज के लोगो में शिक्षित महिलाओं के प्रति सम्मान का भाव भी पैदा हुआ है।

• शिक्षा से मिलेगा महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा:

नारी शिक्षा से महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा मिलेगा, शिक्षा के माध्यम से महिलाओं ने हर क्षेत्र में खुद को साबित किया है और वह सशक्त बनी हैं और हर क्षेत्र में पुरुषों के कंधे से कंधा मिलाकर चल रही हैं।

• शिक्षा से होगी महिलाओं के प्रतिष्ठा में वृद्धि:

महिलाओं के शिक्षित होने से न सिर्फ महिलाओं का आत्मसम्मान बढ़ेगा और बल्कि वे आत्मनिर्भर बनेगी है, बल्कि इससे समाज और परिवार में उनकी प्रतिष्ठा में भी बढ़ोतरी होगी।

• शिक्षा से महिलाएं अपने अधिकारों के प्रति होगी जागरूक:

आज महिलाएं शिक्षा के माध्यम से ही महिलाएं अपने अधिकारों को पहचानने में समर्थ्य हुईं है औरअपने हक की लड़ाई लड़ रही हैं। वहीं इससे उन्हें आगे बढ़ने में भी मदत मिलेगी और उनका विकास होगा।

• नारी शिक्षा से सामाजिक बुराईयों और रुढिवादी विचारधारा से मिलेगी मुक्ति:

महिलाओं के शिक्षित होने से समाज में फैली दहेज प्रथा, बाल विवाह जैसी बुराइयों को खत्म करने में मदत मिलेगी, जिससे उनका शोषण नहीं होगा और उन्हें विकास के पथ पर आगे बढ़ने में मदत मिलेगी।

• महिला शिक्षा से घरेलू हिंसा और अत्याचारों में आएगी कमी:

महिलाओं के शिक्षित होने से उनके साथ कोई बुरा बर्ताव नहीं कर पाएगा, और वहीं शिक्षित महिलाएं उन पर हो रहे अत्याचारों के खिलाफ आवाज उठा सकेंगी, जिससे महिलाओं से जुड़े अपराध जैसे यौन हिंसा, घरेलू हिंसा, बलात्कार जैसे मामलों में भी कमी आएगी।

• महिलाओं के शिक्षित होने से परिवार का होगा विकास:

एक शिक्षित महिला अपने परिवार के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है, किसी भी परिवार की बागडोर महिला के हाथ में होती है, वहीं महिला ही अपने बच्चों की पहली शिक्षक होती है, अगर महिला शिक्षित होगी तो वह अपने बच्चों को आगे बढ़ने में अपना सहयोग करेगी और उस परिवार का रहन-सहन भी सुधरेगा और परिवार का विकास होगा।

• महिलाओं के शिक्षित होने से समाज का होगा विकास:

शिक्षित महिलाएं समाज के विकास में पूर्ण रुप से मदत करती हैं, दरअसल महिलाएं समाज की आधी आबादी होती है, वहीं जब आधी आबादी भी पुरुषों की तरह अपनी पूरी शक्ति और सामर्थ्य का इस्तेमाल करेगी तो, समाज के विकास को बढ़ावा मिलेगा, इसके साथ ही एक सभ्य और शिक्षित समाज का निर्माण होगा।

• महिलाओं की शिक्षा से माता-शिशु मृत्यु दर में आएगी कमी:

अशिक्षित महिलाओं को कम समझ और जानकारी होने की वजह से यही नहीं पता होता कि उनको क्या खाना चाहिए और कैसे रहना चाहिए, जिसकी वजह से कई बार उन्हें बड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ता है,वहीं दूसरी तरफ शिक्षित महिलाएं अपने स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहती हैं, जिससे माता-शिशु मृत्यु दर कम करने में मदत मिलेगी।

• महिलाओं के शिक्षित होने से राष्ट्र की होगी उन्नति:

शिक्षित महिलाएं हर क्षेत्र में पुरुषों की तरह अपनी अहम भागीदारी निभाती हैं, और देश को आर्थिक, सामाजिक विकास में मदत मिलती हैं। इसलिए महिलाओं के शिक्षित होने से राष्ट्र का विकास होगा और प्रगति के पथ पर आगे बढ़ेगा।

निष्कर्ष –

इस तरह नारियों की शिक्षा आर्थिक, सामाजिक, राजनीतिक, परिवारिक समेत सभी मायने में अहम है, इसलिए हम सभी को महिलाओं की शिक्षा पर जोर देना चाहिए और इस दिशा में प्रयास करना चाहिए। इसलिए कहा गया है कि-

देश को करनी है तरक्की तो नारी शिक्षा है जरुरी।

Read More:

Hope you find this post about ”Nari Shiksha Essay in Hindi” useful and inspiring. if you like this articles please share on Facebook & Whatsapp.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *