राजस्थान का रणथम्भौर नेशनल पार्क – Ranthambore National Park

Ranthambore National Park

राजस्थान में कई सारे नेशनल पार्क है उनमे रणथम्भौर का पार्क भी काफी प्रसिद्ध और बड़ा है। यह पार्क असल में एक द्वीप होने के कारण यहापर सभी जगह पर जल के कई सारे स्रोत मिलते है। इस पार्क की ऐसी विशेषता होने के कारण इसमें तीन तीन तालाब देखने को मिलते है। इसके अलावा बंगाली बाघ भी पाए जाते है। आज के इस लेख में रणथम्भौर का पार्क की सारी जानकारी निचे विस्तार से दी गयी है।

Ranthambore National Park

राजस्थान का रणथम्भौर नेशनल पार्क – Ranthambore National Park

रणथम्भौर नेशनल पार्क सवाई माधोपुर जिले से 14 किमी की दुरी पर राजस्थान में स्थित है।
भारत के कुछ खास टाइगर रिज़र्व में से एक रणथम्भौर नेशनल पार्क में भी मौजूद है जो सवाई माधोपुर से काफी नजदीक है। इस रणथम्भौर नेशनल पार्क में एक बंगाली बाघिन है जिसका नाम मछली है जिसे देखने के लिए लोग दूर दुरे से आते है।

रणथम्भौर नेशनल पार्क की सम्पूर्ण जानकारी – Ranthambore National Park Information

इस पार्क में एक रणथम्भौर नाम का बड़ा किला है और इस किले का ही नाम इस नेशनल पार्क को दिया गया। इस नेशनल पार्क के चारो और विंध्य और अरावली पर्वत श्रृंखलाएं है।

रणथम्भौर के इस जंगल में पहले जयपुर के महाराजा शिकार किया करते थे लेकिन बाद में कुछ समय बाद सन 1955 में इसे भारत सरकार ने अभयारण्य बना दिया और बाद में सन 1973 में इसे बाघों के लिए संरक्षित क्षेत्र घोषित किया गया।

सन 1980 में इसे नेशनल पार्क की मान्यता दी गयी और आखिरी में सन 1991 में क्षेत्र में सवाई मान सिंह और कलादेवी अभयारण्य को जोड़कर इसे बड़ा बनाया गया जिसकी वजह से इसका क्षेत्र बढ़कर 1334 वर्ग किमी बन गया।

इस पार्क के दक्षिण में चम्बल नदी और उत्तर में बनास नदी है। सन 2006 में यह रणथम्भौर टाइगर रिज़र्व 1334 वर्ग किमी था लेकिन बाद में वन विभाग ने इसे बढाकर 1700। 22 वर्ग किमी कर दिया। बनास नदी के किनारे पर कलादेवी अभयारण्य है और सवाई मान सिंह अभयारण्य इस पार्क के दक्षिण में स्थित है।

रणथम्भौर नेशनल पार्क एक द्वीप है जहापर विभिन्न जीव और वनस्पति पाए जाते है। इस पार्क के सभी रास्ते पहाड़ो मे से निकलते है जिसकी वजह से इन रास्तो पर काफी कम सरोवर दिखाई देते है। इस पार्क में पदम तालाब, राज बाग तालाब, और मालिक तालाब ऐसे कुल तिन तालाब है। बाघों के लिए यह सबसे अच्छा नेशनल पार्क समझा जाता है। इसके अलावा यहापर बहुत सारी प्रजातियों के जानवर पाए जाते है।

रणथम्भौर नेशनल पार्क की सफारी – Ranthambore National Park Safari

इस पार्क में लोगो को जीप में बैठकर ही जंगल देखना पड़ता है उन्हें यहापर ट्रेकिंग करने के लिए अनुमति नहीं दी जाती क्यों की इस जंगल में काफी महत्वपूर्ण उस्ताद नाम का बाघ (Ranthambore National Park Tiger) भी रहता है। यहापर देखेने के लिए पक्षी भी बड़ी संख्या में है।

इस पार्क में कुछ शाकाहारी प्राणी भी है जैसे की सांबर, नीलगाय और चिंकारा। इस पार्क का सबसे विशेष प्राणी सांबर हिरण है। इस पार्क में जो एशियाई हिरण दिन के समय में दीखते है वैसा एक भी हिरण पुरे एशिया में नहीं।

जंगली भालू और लंगूर यहापर आमतौर पर देखने को मिलते है। मगरमच्छ सरोवर से बाहर आकर सूरज के प्रकाश में खुद को गर्म करते है। तेंदुए, हैना, सियार, जंगली बिल्ली जैसे मांसाहारी प्राणी इस पार्क में पाए जाते है लेकिन इस पार्क का सबसे आकर्षक प्राणी बाघ है।

रणथम्भौर नेशनल पार्क देखने का सही समय – Ranthambore National Park Best time to Visit

इस पार्क को भेट देने का सही समय अक्टूबर से मार्च तक माना जाता है।

इस पार्क में लोगो को सावधानीपूर्वक घूमना पड़ता है। यहापर आने के बाद किसी भी पर्यटक को ट्रेकिंग करने पर पाबन्दी है। यहापर लोगो को जीप का सहारा लेकर ही घूमना पड़ता है। सफारी करने के लिए लोग उंट का भी इस्तेमाल कर सकते है। इस पार्क के बाजु में दो नदिया बहती है जिसके कारण यह पार्क और भी सुन्दर दिखाई देता है।

Read More:

Hope you find this post about “Ranthambore National Park” useful. if you like this article please share on Facebook & Whatsapp. and for latest update download: Gyani Pandit free Android app.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *