भारत की मुख्य नदियां

Bharat Ki Nadiya

नदियां न सिर्फ देश की अर्थव्यवस्था के विकास में सुधार लाने का काम करती है, बल्कि व्यापारिक गतिविधियों को बढ़ावा भी देती हैं और देश की संस्कृति को दर्शाने में अपनी महत्वपूर्ण हैं।

वहीं भारत में नदियां न सिर्फ पानी का स्त्रोत हैं, बल्कि इनसे लाखों लोगों की धार्मिक आस्था भी जुड़ी हुई है। जैसे हम जानते हैं की भारत देश के ज्यादातर धार्मिक स्थल किसी न किसी नदी के पास हैं और उनका पौराणिक इतिहास नदियों से किसी न किसी रुप में जुड़ा हुआ है।

वहीं प्रतियोगी परीक्षाओं में अक्सर भारत की नदियों (Rivers Of India in Hindi) पर सवाल पूछा जाता है, इसलिए आज हम आपको अपने इस पोस्ट में भारत की नदियों के बारे में बता रहे हैं –

भारत की मुख्य नदियां – Bharat Ki Nadiya

Rivers of India in Hindi
Rivers of India in Hindi

भारत में नदियों को चार अलग-अलग भागों में बांटा गया है-

  • हिमालय से निकलने वाली नदियां
  • तटवर्ती नदियां
  • दक्षिण से निकलने वाली नदियां
  • अन्तर्देशीय नालों से द्रोणी क्षेत्र की नदियां

ऐसे माना जाता है कि मध्य भारत में गंगा, प्रायद्दीपीय भारत में महानदी, नर्मदा, कावेरी,उत्तर पूर्व भारत में ब्रह्रापुत्र आदि नदियां एक विस्तृत नदी प्रणाली का निर्माण करती हैं।

हिमालय से निकलने वाली नदियां – River Flowing From Himalayas

हिमालय से निकलने वाली नदियां में मुख्य रुप से ब्रहापुत्र, गंगा नदी, सिंधु, मेघना हैं।

  • गंगा नदी – Ganga River

गंगा नदी भारत की पवित्र नदियों में से एक है, जिससे लाखों लोगों की आस्था जुड़ी हुई है। जिसका उद्गम गंगोत्री के पास गोमुख हिमानी से हुआ है, इसकी समुद्र तल से ऊंचाई करीब 4000 मीटर है।

  • सिंधु नदी – Indus River

यह नदी विश्व की महान नदियों में  से एक है, जो कि तिब्बत के मानसरोवर के पास से निकलती है। इसकी सहायक नदियों में झेलम, सतलुज, रावी, चिनाब, व्यास और रावी नदी है।

  • ब्रहापुत्र नदी – Brahmaputra River

यह नदी तिब्ब्त से निकलती है जो कि तिब्बत और भारत से होकर बांग्लादेश में बहती है। इस नदी सांगोपो, डीह आदि नामों से भी जाना जाता है। तिस्सा, लोहित, सुवनश्री इस नदी की सहायक नदियां हैं।

  • मेघना नदी – Meghna River

यह बांग्लादेश की मुख्य नदी है, जिसकी सहायक नदियां बराक नदी है जो कि मणिपुर से निकलती है।

दक्षिण से निकलने वाली नदियां – River Flowing from South

दक्कन क्षेत्र में ज्यादातर नदियां पूर्व दिशा की तरफ प्रवाहित होती है और अंत में बंगाल की खाड़ी से मिल जाती हैं। इन नदियों में कावेरी, गोदावरी, महानदी, कृष्णा,आदि नदियां शामिल हैं। जबकि वहीं दूसरी तरफ नर्मदा और ताप्ती पश्चिम में बहने वाली नदियां हैं। दक्षिण प्रायद्दीप में गोदावरी दूसरी सबसे बड़ी नदी है।

वहीं दक्कन के ऊपरी भूभाग में नर्मदा का द्रोणी क्षेत्र है, यह अरब सागर ओर बहती हैं। हालांकि इसकी खासियत और बनावट बिल्कुल अलग है।

तटवर्ती नदियां – Coastal Rivers

भारत में बहुत सी अलग-अलग तरह की तटवर्ती नदियां हैं, ऐसी नदियों में कुछ नदियां-पूर्वी तट के डेल्टा के पास सागर में मिलती हैं। जानकारी के मुताबिक राजस्थान में कुछ ऐसी नदियां भी हैं, जो समुद्र में नहीं बल्कि खारे पानी के झीलों आदि में मिल जाती हैं और फिर रेत में लुप्त हो जाती है, इसके अलावा कुछ मरुस्थली नदियां, मरुस्थल में गायब हो जाती हैं। ऐसी नदियों में सरस्वती, स्पेहन, मच्छक, घग्घर, बनास, लुणी आदि नदियां हैं।

भारत की प्रमुख नदियां की लिस्ट एक नजर में – Indian Rivers Name List

सतलुज नदी – Sutlej River

  • उद्गम स्थल – मानसरोवर के पास राकसताल
  • सहायक नदियां – स्पिती, व्यास, बस्पा

गंगा नदी – Ganga River

  • उद्गम स्थल – गंगोत्री के पास गोमुख से
  • सहायक नदियां – कोसी, सोन, गंडक, अलकनंदा, यमुना, रामगंगा, गोमती, बागमती।

यमुना नदी – Yamuna River

उद्म स्थळ – यमुनोत्री ग्लेशियर

सहायक नदियां – गिरी, सिंध, टोंस, काली, आसन, चम्बल, केन, बेतवा

चिनाब नदी – Chenab River

  • उद्गम स्थल- बारालाचा दर्रे के पास
  • सहायक नदियां- चन्द्रभागा

रावी नदी – Ravi River

  • उद्गम स्थल – रोहतांग दर्रा, कांगड़ा
  • सहायक नदी साहो सुइल

चम्बल नदी – Chambal River

  • उद्म स्थळ – मऊ के निकट जानापाव पहाड़ी से
  • सहायक नदियां –  काली सिंध, सिप्ता, पार्वती, बनास,

झेलम नदी – Jhelum River

  • उद्गम स्थल –  शेषनाग झील, जम्मू-कश्मीर
  • सहायक नदियां – सिंधु, पूंछ, करेवाल, किशन गंगा।

व्यास नदी – Vyas River (Beas River)

  •  उद्गम स्थल – रोहतांग दर्रा
  • सहायक नदियां – हुरला, पार्वती, तीर्थन

रामगंगा नदी – Ramganga River

  • उद्म स्थळ – नैनीताल के निकट एक हिमनदी से
  • सहायक नदियां –  खोन

कोसी नदी – Kosi River (Koshi River)

  • उद्म स्थळ – नेपाल में सप्तकोशिकी (गोंसाईधाम)
  • सहायक नदियां – अरुण, कोसी, तामुर, इन्द्रावती

घाघरा नदी – Ghaggar River

  • उद्म स्थळ – मप्सातुंग (नेपाल) हिमनद
  • सहायक नदियां – राप्ती, शारदा, कुवाना, करनली,चौकिया

बेतवा नदी – Betwa River

  • उद्म स्थळ- भोपाल के पास उबेदुल्ला गंज के पास

सोन नदी – Sone River

  • उद्म स्थळ – अमरकंटक की पहाड़ियों से
  • सहायक नदियां – रिहन्द, कुनहड़
Previous articleकल्पना शक्ति सर्वश्रेष्ठ उद्धरण
Next articleबेस्ट हिन्दी व्हाट्सअप कोट्स
शिवांगी अग्रवाल , जिन्हें मीडिया में करीब साढ़े 5 साल का अनुभव है । वे मीडिया की जानी-मानी संस्थान न्यूज 18 न्यूज चैनल से भी लगभग 2 साल जुड़ी रही हैं । इसके अलावा वे इलैक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया के दैनिक जागरण समेत कई और संस्थानों में भी काम कर चुकी हैं । उन्होनें मीडिया के सर्वश्रेष्ठ संस्थान जामिया-मिलिया-इस्लामिया से मास कम्युनिकेशन की डिग्री भी प्राप्त की है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.