बांग्लादेश देश की महत्वपूर्ण घटनाएँ और जानकारी | Bangladesh Information

Bangladesh History in Hindi

बांग्लादेश देश की पूरी और महत्वपूर्ण जानकारी – Bangladesh Information हम आपके लिए लाये हैं । आशा हैं की आपके लिए ये जानकारी काफी  लाभदायक सिद्ध होंगी।

बांग्लादेश देश की महत्वपूर्ण घटनाएँ और जानकारी | Bangladesh History Information in Hindi

Bangladesh Information

बांग्लादेश देश से जुडी संक्षेप मे महत्वपूर्ण जानकारी – Bangladesh Information

देश का नाम (Country Name)बांग्लादेश(Bangladesh)
बांग्लादेश की राजधानी (Capital of Bangladesh)ढाका(Dhaka)
देश की प्रमुख भाषाएँ (Languages in Bangladesh)बंगाली(बांग्ला), उर्दू, अंग्रेजी, चकमा, गारो, मेईतेई, रखाईन, संताली इत्यादि।
कुल जनसँख्या (Population of Bangladesh)१६ करोड ३० लाख।
देश का राष्ट्रीय पशु (National Animal)रॉयल बंगाल टाइगर (बाघ)
राष्ट्रीय पक्षी (National Bird)नीले कंठ का रॉबिन पक्षी।
देश का राष्ट्रीय फुल (पुष्प) (National Flower of Bangladesh)वॉटर लिली पुष्प।
राष्ट्रीय पेड (वृक्ष) (National Tree of Bangladesh)आम का वृक्ष।
देश मे मौजूद कुल राज्य की सँख्या (Total Number of States in Bangladesh)आठ(८)
देश का राष्ट्रीय खेल (National Sport of Bangladesh )कबड्डी।
राष्ट्रीय फल (National Fruit of Bangladesh)कटहल(जैकफ्रुट)
देश के अंतर्गत मौजूद प्रमुख नृत्य प्रकार(Dance in Bangladesh) कथ्थक, मोर नाच, बाउल, बिझू नृत्य, मरमा नृत्य, मणिपुरी नृत्य इत्यादि।
देश मे मौजूद कुल नदियाँ (Total Number of Rivers in Bangladesh)लगभग ७०० नदियाँ।

 बांग्लादेश की भौगोलिक और ऐतिहासिक पृष्ठभूमी – Bangladesh History in Hindi

बांग्लादेश, अधिकारिक रूप से पीपल्स रिपब्लिक ऑफ़ बांग्लादेश दक्षिण एशिया का एक संप्रभु राज्य है। इसके पूर्वी भाग में  बंगाल की जातीय-भाषाई क्षेत्र का निर्माण किया हुआ है।

यह देश बंगाल की खाड़ी के सर्वोच्च स्थान पर बना हुआ है,  इस देश में भारत और म्यांमार की सीमाये है और सिलिगुरी गलियारे की वजह से यह नेपाल और भूटान से अलग है।

170 मिलियन की जनसँख्या के साथ, जनसँख्या की दृष्टी से बांग्लादेश दुनिया का आठवा सबसे बड़ा देश है, और एशिया में जनसँख्या की दृष्टी से पाँचवा सबसे बड़ा देश और सर्वाधिक मुस्लिम जनसँख्या की दृष्टी से तीसरा सबसे बड़ा देश है।

अधिकारिक बंगाली भाषा दुनिया में सातवी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा है, जिसका उपयोग बांग्लादेश के साथ-साथ पडोसी राष्ट्र भारत के पश्चिम बंगाल, त्रिपुरा और असम  में भी किया जाता है।

एशिया की तीन विशाल नदियाँ, गंगा (पद्मा), ब्रह्मपुत्र (जमुना) और मेघना, बांग्लादेश और उपजाऊ बांग्ला डेल्टा से होकर ही बहती है – जो दुनिया का सबसे बड़ा डेल्टा है।

समृद्ध जैव विविधता के साथ, बांग्लादेश 700 से भी ज्यादा नदियों का घर है, जिनमे से ज्यादातर सुंदरबन में है, जिसे दुनिया का सर्वश्रेष्ट सदाबहार वन और वर्षावन माना जाता है, 600 किलोमीटर के समुद्र तट के साथ ही यह दुनिया के सबसे लंबे बिच (समुद्र तट) में से एक है। साथ ही यहाँ कोरल रीफ जैसे दुसरे द्वीप भी है।

बांग्लादेश दुनिया में सबसे घनी आबादी वाला देश है, जिसका नंबर दक्षिण कोरिया और मोनाको के साथ आता है। बांग्लादेश की राजधानी ढाका और बंदरगाह वाला शहर चित्तागोंग, बांग्लादेश के प्रमुख शहरी इलाको में से एक है।

देश के प्रमुख जातीय समूह बंगाली, बंगाली-मुस्लिम, बंगाली हिन्दू, चक्मास, बंगाली क्रिस्चियन, मर्मस, तंचंग्यास, बिस्नुप्रिया मणिपुरिस, बंगाली बुद्धिस्ट, गारोस, संथाल्स बिहारी, ओरों, त्रिपुरी, मुंडा, रखीं, रोहिंग्या, इस्माइल और बहाई है।

ज्यादातर बंगाल प्राचीन समय में गंगारिदाई के ग्रीक और रोमन के नाम से भी जाना जाता था। डेल्टा के लोगो ने अपनी खुद की भाषा, साहित्य, संगीत, कला, लिपि और आर्किटेक्चर को विकसित किया था।

प्राचीन एशियन साहित्य को इस समय में काफी प्रभावशाली माना गया था। साथ ही यह ऐतिहासिक सिल्क रोड का महत्वपूर्ण पुनर्निर्यात करने वाला देश था।

धीरे-धीरे बंगाल की मुस्लिम राष्ट्र के रूप में ही अवशोषित कर लिया गया और तक़रीबन 4 शताब्दियों तक यहाँ पर सुल्तान ने शासन किया था, जिनमे दिल्ली सल्तनत और बंगाल सल्तनत के शासको का भी समावेश है। बाद में मुग़ल साम्राज्य के एडमिनिस्ट्रेशन ने इसकी बागडोर अपने हाँथो में ले ली।

इस्लामिक बंगाल एक पिघलने वाला बंगाल था, लेकिन मध्यकालीन विश्व व्यापार में यह क्षेत्रीय ताकत के रूप में उभरकर सामने आया। 18 वी शताब्दी में ब्रिटिश ने औपनिवेशिक जीत हासिल की थी। इसके बाद ब्रिटिश राज में 19 वी और 20 वी शताब्दी में राष्ट्रवाद, सामाजिक सुधार और कला का विकास किया गया। उस समय यह क्षेत्र उपमहाद्वीप में विरोधी औपनिवेशिक अभियान का बड़ा केंद्र था।

पहला ब्रिटिश विभाजन 1905 में बंगाल का किया गया, जिसके चलते पूर्वी बंगाल और आसाम प्रांत का निर्माण किया गया, इसीने 1947 में ब्रिटिश भारत के विभाजन की मिसाल रखी थी, और जब पूर्वी बंगाल पाकिस्तान में शामिल हो गया था तब 1955 में इसका नाम बदलकर पूर्वी पाकिस्तान रखा गया था।

यह भारतीय क्षेत्र के पश्चिम पाकिस्तान से 1400 किलोमीटर दूर और अलग था। 1971 में हुए बांग्लादेश मुक्ति संग्राम में परिणामस्वरूप पूर्वी पाकिस्तान का अपगमन कर नये गणराज्य की स्थापना की गयी।

1975 में बांग्लादेश छोटा एक पार्टी का राज्य था, जहाँ बहुत से सैन्य तख्तापलट किये गये और राष्ट्रपति सरकार की स्थापना की गयी। इसके बाद 1991 में संसदीय गणराज्य को पुनर्स्थापित करने के बाद देश की आर्थिक स्थिति में सुधार आया और देश की अर्थव्यवस्था भी स्थिर थी।

लेकिन बांग्लादेश के सामने फिर भी गरीबी, भ्रष्टाचार, ध्रुवीकृत राजनीती, सुरक्षा कर्मियों द्वारा मानव अधिकारों का हनन, बढती जनसँख्या और ग्लोबल वार्मिंग जैसी चुनौतियाँ थी।

जबकि देश ने बहुत कम समय में ही प्रभावशाली रूप से मानव विकास कर लिया था, जिनमे स्वास्थ, शिक्षा, लिंग समानता, जनसँख्या नियंत्रण और खाद्य उत्पादन में सुधार मुख्य रूप से शामिल है। 1990 में जो गरीबी दर बांग्लादेश में 57% थी वह 2014 में घटकर 25.6% ही रह गयी।

बांग्लादेश को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक शक्तिशाली देश के रूप में देखा जाता है और साथ ही इसे नेक्स्ट एलेवेन में भी शामिल किया गया है। निर्वाचित संसद के साथ यह एकात्मक राज्य है जिसे जतियो संग्षद का नाम भी दिया गया है।

बांग्लादेश की अर्थव्यवस्था को दुनिया की  प्रमुख  अर्थव्यवस्थाओ की सूची मे स्थान प्राप्त  हुआ है और दक्षिण एशिया में इसकी सैन्य शक्ति भारत और पाकिस्तान से थोड़ी कम है।

बांग्लादेश SAARC (सार्क) का संस्थापक सदस्य और BIMSTEC का स्थायी सेक्रेटरी भी है। यूनाइटेड स्टेट के शांति अभियान एम बांग्लादेश का महत्वपूर्ण योगदान रहा है।

विकसनशील 8 देशो में बांग्लादेश का भी नाम है, साथ ही बांग्लादेश OIC, कामनवेल्थ ऑफ़ नेशन, वर्ल्ड ट्रेड आर्गेनाईजेशन, G-77 और नेचुरल गैस और लाइमस्टोन का सदस्य भी है।

बांग्लादेश में मुख्यतः चावल, जूट और चाय की खेती की जाती है। ऐतिहासिक रूप से यह मलमल और रेशम के लिये भी प्रसिद्ध है, आधुनिक बांग्लादेश दुनिया के प्रमुख टेक्सटाइल उत्पादक देशो में से एक है। इसके प्रमुख्य व्यापर सहयोगियों में यूरोपियन संघ, यूनाइटेड स्टेट, जापान और आस-पास के देशो में चाइना, सिंगापूर, मलेशिया और भारत का समावेश है।

बांग्लादेश की संस्कृती – Culture of Bangladesh

भारत के विभाजन के बाद पूर्वी पाकिस्तान जिसे आज बांग्लादेश कहा जाता है, उसका पाकिस्तान से स्वतंत्रता का संग्राम काफी रक्तरंजित था। धार्मिकता के आधार पर हुए भारत के विभाजन मे पूर्वी बंगाल प्रांत मे मुस्लीम जनसंख्या अधिक थी, जो के स्वतंत्र देश के रूप रहना चाहती थी, और साफ तौर पर पाकिस्तान मे अपने प्रांत के विलय से इन लोगो का इनकार रहा।

भारत की मध्यस्तता से साल १९७१ मे बने ‘बांग्लादेश’ की संस्कृती पे अधिकतर भारत का और भारतीय राज्य पश्चिम बंगाल का प्रभाव देखने को मिलता है, इसका सबसे बेहतर उदाहरण ये है के बांग्लादेश की राष्ट्रभाषा बंगाली है तथा गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर की कविता ‘आमार सोनार बांग्ला’ ही इस देश का राष्ट्रगान है।

देश मे मुस्लीम जनसंख्या सबसे अग्रक्रम पर है इसके अलावा हिंदू, इसाई इत्यादि जनसंख्या का क्रम लगता है। बंगाली साहित्य और साहित्यिक रचनाओ का बांग्लादेश के कला संस्कृती और सामाजिक जीवन पे गहराई से प्रभाव देखने को मिलता है।

देश मे विभिन्न जनजाती से जुडे लोगो का अधिवास होने से मिश्र जीवनशैली देखने को मिलती है जिसमे भारत के पूर्वोत्तर राज्यो की जनजातियाँ शामिल है। मुस्लीम धर्म के अलावा हिंदू और अन्य धर्मीय लोगो के सालभर मे आनेवाले त्यौहार बांग्लादेश में मनाए जाते है।

बंगाली के अलावा उर्दू भाषा को आम तौर पर बोलीचाली मे अधिकतर उपयोग मे लाया जाता है, इसके अलावा शिक्षा और कार्यालयीन कामकाज हेतू कुछ हद तक अंग्रेजी का भी उपयोग किया जाता है।

बांग्लादेश मे हिंदू, मुस्लीम धर्म के साथ जनजातीय मान्यताए और परंपराओ का पालन कर मिश्रित शैली का समाजजीवन जिया जाता है, जिसमे सर्वाधिक धार्मिक जनसंख्या मुस्लीम धर्म की होने के कारण इस धर्म का सभी क्षेत्रो पर प्रभाव दिखाई पडता है। हालाकि, बांग्लादेश ने राजकीय व्यवस्था मे लोकतंत्र प्रणाली का स्वीकार किया हुआ है।

बांग्लादेश के लोगो का प्रमुख खानपान/भोजन – Staple Food of Bangladesh

यहाँ आप बांग्लादेश मे प्रमुखता से भोजन मे शामिल होनेवाले कुछ व्यंजनो का सुचीगत विवरण पढ सकेंगे, जो के इस प्रकार से है –

  • भुना खिचुडी
  • कच्ची बिरयानी
  • पराठा
  • मोरोग पोलाव
  •  ग्रिल्ड चिकन विथ नान रोटी
  • पतला खिचुडी
  • करी, दाल, वोर्ता, वाजी विथ राईस
  • शिक कबाब
  • हलीम
  • मिस्टी दोई
  •  फुचका
  • दोई चिरा
  • रसमलाई
  • फालुदा
  • स्वीट लस्सी
  • बोरहानी, इत्यादि..

बांग्लादेश की प्रमुख जनजातियाँ – Tribes of Bangladesh

जैसा के हमने आपको पहले बताया है के बांग्लादेश मे कुछ जनजातीय विशेष लोगो का अधिवास भी मौजूद है, यहाँ हम आपको सुचीगत तौर पर इन सभी जनजातियों का ब्यौरा देंगे जो के इस प्रकार से है –

  • मरमा
  • तंचान्ग्या
  • चकमा
  • त्रिपुरा जनजाती
  • म्रो
  • खूमी
  • खिआंग
  •  लुशाई
  • चाक
  • बावम और पंखू, इत्यादि..

बांग्लादेश के प्रमुख त्यौहार – Festivals of Bangladesh

यहाँ हम जानेंगे बांग्लादेश मे सालभर मे मनाए जानेवाले उन सभी प्रमुख त्यौहारो के बारे में, जिसमे सभी धर्म से जुड़े त्यौहारो के साथ राष्ट्रीय उत्सव भी शामिल है, जो के इस प्रकार से है –

  • दुर्गा पूजा
  • बुध्द पूर्णिमा
  • ईद -उल -फित्र
  • ईद-उल-आधा
  • ख्रिसमस
  • पोहेला फाल्गुन
  • पोहेला बैसाख
  • नौका बाईच
  • जातिया पीठा उत्सब
  • नाबन्ना
  •  शाक्रेन
  • एकुशेय बोई मेला
  • जोय बांग्ला कॉन्सर्ट
  •  नेशनल ट्री मेला
  •  आंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला, इत्यादि…

बांग्लादेश के प्रसिध्द पर्यटन स्थल – Famous Tourism Places in Bangladesh

Tourism Places in Bangladesh
Tourism Places in Bangladesh

अगर आपको बांग्लादेश मे घुमने जाना हो तो देश मे मौजूद पर्यटन स्थलो की जानकारी होना आवश्यक होता है, इसलिए यहाँ हम आपको इस देश मे मौजूद कुछ प्रसिध्द पर्यटन स्थलो से परिचित करायेगे, जो के निम्नलिखित तौर पर है –

  • चिटगॉन्ग हिल ट्रैक
  • सुंदरबन सदाबहार जंगल
  • कप्ताई लेक
  • सेंट मार्टिन आइलैंड
  • कॉक्स बाजार बिच
  • अहसान मंझिल म्युजियम
  • लालबाग किला
  • इनानी बिच
  • बोगा लेक
  • कर्झन हॉल
  • सेन्ट्रल शहीद मिनार
  • नाफा खूम
  • खोईयाचोरा वॉटरफॉल
  • पद्मा ब्रिज
  • बलीती पैलेस, इत्यादि…

बांग्लादेश मे मौजूद प्रमुख शिक्षा संस्थान/युनिवर्सिटी – Educational Institutions/Universities in Bangladesh.

  • ढाका युनिवर्सिटी
  • बांग्लादेश युनिवर्सिटी ऑफ इंजिनीरिंग एंड टेक्नोलॉजी
  • नेशनल युनिवर्सिटी, गाझीपूर
  • बांग्लादेश ओपन युनिवर्सिटी
  • यूनाइटेड इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी
  • खुलना यूनिवर्सिटी
  • जगन्नाथ विश्वविद्यालय
  • इस्लामिक यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी
  • स्टैमफोर्ड यूनिवर्सिटी
  • अन्वर खान मॉडर्न मेडिकल कॉलेज, इत्यादि..

बांग्लादेश के इतिहास के कुछ महत्वपूर्ण दिन – Important Dates in Bangladesh History

  • 1947 – भारत में ब्रिटिश औपनिवेश शासन का अंत हुआ। सर्वाधिक मुस्लिम जनसँख्या वाले राज्य पूर्वी और पश्चिमी पाकिस्तान की स्थापना की गयी। इस दोनों प्रांतो को एक दुसरे से 1500 किलोमीटर की दुरी से अलग किया गया।
  • 1971 – बंगाल के राष्ट्रवादीयो  और पाकिस्तान के बीच नौ महीने तक चले युद्ध के बाद आज़ादी मिली।
  • 1973 – पहले संसदीय चुनाव में आवामी लीग ने एकतरफा जीत हासिल की।
  • 1975 – सैन्य बलो ने देखा की संस्थापक राष्ट्रपति शेख मुजीबुर रहमान और उनके परिवार के सदस्यों की हत्या कर दी गयी, और इस प्रकार नागरिक शासन का अंत हुआ।
  • 1979 – दुसरे संसदीय चुनाव में बांग्लादेश राष्ट्रवादी पार्टी के लीडर और भूतपूर्व आर्मी चीफ ज़ौर रहमान को राष्ट्रपति बनाया गया।
  • 1981 – निष्फल सैन्य तख्तापलट के समय में ज़ौर रहमान की हत्या कर दी गयी।
  • 1982 – जनरल इरशाद को आर्मी की ताकत सौपी गयी। उन्होंने संविधान और राजनीतिक पार्टी को बर्खास्त कर दिया था।
  • 1991 – पाँचवे संसदीय चुनाव में, बांग्लादेश राष्ट्रवादी पार्टी के नेता जिया के खिलाफ खालेदा जिया ने जीत हासिल की और उन्होंने राजनीतिक ताकत सौपी गयी। और देश में फिर से संसदीय शासन प्रणाली को लागु किया गया।

इस प्रकार से अबतक आपने बांग्लादेश के बारे मे विभिन्न पह्लुओ पर महत्वपूर्ण जानकारी को जाना, हमे विश्वास है के ये जानकारी आपको काफी पसंद आई होगी। दिए हुए जानकारी को अन्य लोगो तक पहुचाने हेतू लेख को अवश्य शेयर करे, हमसे जुडे रहने हेतू बहुत बहुत धन्यवाद..

बांग्लादेश के बारे मे अधिकतर बार पुछे जाने वाले सवाल – Bangladesh Quiz Questions and Answers

Q. बांग्लादेश मे कुल कितने हवाई अड्डे मौजूद है? (How many airports are there in Bangladesh?)

जवाब: लगभग १५ प्रमुख हवाई अड्डे बांग्लादेश मे मौजूद है।

Q. बांग्लादेश मे कौनसे प्रमुख खुबसुरत शहर/स्थल मौजूद है? (Which are the most beautiful places/Cities available in Bangladesh?)

जवाब: ढाका, खुलना, राजशाही, बरीशाल, सिल्हेट, रंगामती, कुमिल्ला इत्यादि।

Q. कौनसे ऐतेहासिक किताबो से हमे बांग्लादेश की जानकारी प्राप्त होती है?(History books of Bangladesh?)

जवाब: अ हिस्ट्री ऑफ बांग्लादेश, बांग्लादेश – अ लेगसी ऑफ ब्लड, ऑपरेशन बांग्लादेश, अ ग्लोबल हिस्ट्री ऑफ द क्रिएशन ऑफ बांग्लादेश, बांग्लादेश – अ पॉलिटिकल हिस्ट्री सीन्स इंडिपेंडेंस, १९७१ द फॉल ऑफ़ ढाका, मिथ्स एंड फैक्ट्स बांग्लादेश लिबरेशन वॉर।

Q. बांग्लादेश का स्वतंत्रता दिवस कौनसे दिन मनाया जाता है? (Independence day of Bangladesh?)

जवाब: २६ मार्च को।

Q. दुनियाभर मे बांग्लादेश क्यो प्रसिध्द है? (Why Bangladesh is so famous into the world?)

जवाब: बांग्लादेश मे दुनिया का सबसे बडा त्रिभुज प्रदेश प्रदेश मौजूद है जो ब्रम्हपुत्रा और गंगा नदी से बना है, जो के दुनियाभर मे प्रसिद्ध है। सुंदरबन नामक दुनिया का सबसे बडा सदाबहार जंगल बांग्लादेश मे मौजूद है जो सालभर हरियाली से व्याप्त होता है, इसी जंगल मे बंगाल का प्रसिध्द बाघ भी पाया जाता है। उच्च दर्जे का मलमल बांग्लादेश मे तैयार किया जाता है जिसे दुनियाभर मे काफी ज्यादा मांग रहती है, इसके वजह से भी बांग्लादेश दुनिया मे काफी प्रसिद्ध हुआ है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here