बिहार के दर्शनीय स्थल | Bihar tourism places

Bihar Tourism in Hindi

बिहार राज्य – Bihar State भारत देश के उत्तरी दिशा मे स्थित है। 94,163 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफल में फैला यह प्रदेश जनसंख्या की दृष्टि से भारत का तीसरा सबसे बड़ा राज्य है।

Bihar – बिहार राज्य पूर्व में पश्चिम बंगाल, पश्चिम में उत्तर प्रदेश, उत्तर में नेपाल एवं दक्षिण में झारखंड राज्य से घिरा हुआ है। बिहार राज्य की राजधानी पटना है।

बिहार राज्य अपने देशी अंदाज के लिए दुनिया भर में मशहूर है। यहाँ की बोलचाल एवं संस्कृति की पूरे देश मे एक अलग पहचान है।

प्राचीन काल मे बिहार राज्य बौद्ध एवं हिन्दू धर्म के लोगो का प्रमुख धार्मिक स्थल था। वर्तमान मे भी बिहार में कई ऐसे धार्मिक स्थल मौजूद है जिनकी काफी मान्यता है। Bihar – बिहार राज्य को बौद्ध धर्म के प्रतिस्थापक महावीर की जन्मस्थली के रूप में भी जाना जाता है। साथ ही इनका निर्वाण भी इसी राज्य में हुआ था।

अगर बात की जाए इतिहास की तो इस क्षेत्र में भी बिहार राज्य का महत्वपूर्ण योगदान है। अगर इतिहास की माने तो बिहार राज्य मौर्य और गुप्त वंश के उदय और उनके पतन का गवाह रहा है।

Bihar tourism

बिहार की समृद्ध संस्कृति | Bihar Tourism Places in Hindi

बिहार राज्य यहाँ होने वाले पर्व, मेले इत्यादि के लिए प्रसिद्ध है। देश – विदेश से आने वाले पर्यटकों के बीच बिहार राज्य में आयोजित होने वाले विशेष पर्व एवं मेले का मुख्य आकर्षण होता है।

बिहार राज्य का खान – पान – Bihar Food

अगर बात की जाए खान – पान की तो बिहार राज्य में मुख्यतः शाकाहारी भोजन किया जाता है, पर मांसाहार के लिए कोई रोक नही है। यहाँ के भोजन में बाटी – चोखा का मुख्य स्थान है, यही नही यहाँ के बाटी – चोखा देश भर में प्रसिद्ध है।

बिहार कैसे पहुँचे – How to reach Bihar

बिहार पहुँचने के लिए आप बस, ट्रेन अथवा फ्लाइट की सुविधा ले सकते हैं।

  • बिहार में दो अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे हैं, एक बिहार की राजधानी पटना में स्थित है, एवं दूसरा गया शहर में। यहाँ से देश विदेश के लिए फ्लाइट्स का आवागमन होता है। इसके अलावा बिहार राज्य में कई घरेलू हवाई अड्डे हैं, जहाँ से देश के विभिन्न हिस्सों से फ्लाइट्स का आवागमन होता है।
  • बिहार राज्य में रेलवे की बहुत अच्छी सुविधा उपलब्ध है। देश के लगभग हर हिस्से से बिहार राज्य के लिए ट्रेनें चलती हैं।
  • बिहार राज्य में सड़क परिवहन की भी अच्छी सुविधा उपलब्ध है।

बिहार राज्य के प्रमुख पर्यटन स्थल – Tourist Places in Bihar

बिहार राज्य में कई ऐसे ऐतिहासिक एवं धार्मिक स्थल है जो पर्यटन की दृष्टि बहुत ही महत्वपूर्ण हैं, एवं देश – विदेश से लाखों की संख्या में पर्यटक इसे देखने के लिए खींचे चले आते हैं।

आईये जानते बिहार राज्य के प्रमुख स्थलों के बारे में

  • महाबोधि मंदिर – Mahabodhi Temple

महाबोधि मंदिर बिहार राज्य का एक प्रसिद्ध बौद्ध मंदिर है, जो बिहार के गया शहर में स्थित है। इस मंदिर के संदर्भ में यह मान्यता है कि यहाँ पर गौतम बुद्ध को ज्ञान की प्राप्ति हुई थी। यह मंदिर बौद्ध धर्म का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है।

महाबोधि मंदिर के सम्बंध में महत्वपूर्ण जानकारियां –  Information about Mahabodhi Temple

  • यह मंदिर बिहार राज्य के गया शहर में स्थित है। गया रेलवे स्टेशन से इस मंदिर की दूरी 17 किमी है। यहाँ पहुँचने के लिए टैक्सी की सुविधा उपलब्ध है।
  • यहाँ घूमने में 1 से 2 घंटे का समय लग जाता है।

प्रवेश शुल्क –

  • निःशुल्क।
  • महावीर मंदिर – Mahavir Mandir

महावीर मंदिर हिंदुओ के प्रमुख मंदिरों में से एक है जो भगवान हनुमानजी को समर्पित है। यहाँ बड़ी मात्रा में श्रद्धालु दर्शन के लिए आते हैं। रामनवमी के पावन अवसर पर यहाँ पर भक्तों की कतार लग जाती है।

महावीर मंदिर से सम्बंधित महत्वपूर्ण बातें – Mahavir Mandir Information

  • यह मंदिर पटना रेलवे स्टेशन से 7 किमी की दूरी पर स्थित है। यहाँ पहुंचने के लिए टैक्सी की सुविधा उपलब्ध है।
  • यहाँ घूमने में लगभग 1 घंटे का समय लग जाता है।

प्रवेश शुल्क –

  • निःशुल्क।
  • पाटन देवी – Devi Patan Temple

यह मंदिर बिहार के प्रमुख धार्मिक स्थलों में से एक है, जो बिहार की राजधानी पटना में स्थित है। पौराणिक मान्यता के अनुसार यहाँ पर देवी सती की दाहिनी जांघ गिरी थी। इस मंदिर को शक्ति उपासना का प्रमुख केंद्र मन जाता है। नवरात्रि के समय मे यहाँ लाखो की संख्या में श्रद्धालु आते हैं।

पाटन देवी मंदिर से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां – Devi Patan Temple Information

यह मंदिर पटना रेलवे स्टेशन से 11 किमी की दूरी पर स्थित है। यहाँ पहुंचने के लिए टैक्सी की सुविधा उपलब्ध है।

प्रवेश शुल्क –

  • निःशुल्क।
  • मंगल गौरी मंदिर – Mangla Gauri Temple

आदि शंकर के मुताबिक मंगला गौरी मंदिर महाशक्ति पीठों में से एक है। इस मंदिर में जो उपा शक्ति पीठ है उसे भगवान शिव के शरीर का हिस्सा माना गया है। हिन्दू धर्म के अनुसार इस मंदिर में शक्ति का वास माना गया है। यही नही तांत्रिक कार्यो में भी इस मंदिर को प्रमुखता दी जाती है।

मंगला गौरी मंदिर से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां – Mangla Gauri Temple Information

  • यह मंदिर गया रेलवे स्टेशन से 4 किमी की दूरी पर स्थित है। यहाँ पहुँचने के लिए टैक्सी इत्यादि की सुविधा उपलब्ध है।
  • यहाँ घूमने में लगभग 1 से 1रू30 घंटे का समय लग जाता है।

प्रवेश शुल्क –

  • निःशुल्क।
  • तख्त श्री पटना साहिब गुरुद्वारा – Takht Sri Patna Sahib

यह सिखों की आस्था से जुड़ा एक ऐतिहासिक दर्शनीय स्थल है। यह गुरुद्वारा सिखों के पांच पवित्र तख्तों में से एक है। इसकी स्थापना 18वीं शताब्दी में हुई थी। प्रकाशोत्सव के समय पर यहाँ पर्यटकों की भीड़ लग जाती है।

तख्त श्री पटना साहिब गुरुद्वारा से जुड़ी खास बातें – Takht Sri Patna Sahib Information

यह पटना रेलवे स्टेशन से 13 किमी की दूरी पर स्थित है। यहाँ पहुँचने के लिए टैक्सी की सुविधा उपलब्ध है।

प्रवेश शुल्क –

  • निःशुल्क
  • गोलघर – Golghar

इसका निर्माण ब्रिटिश गवर्नर जनरल वारेन हेस्टिंग्स द्वारा 1784 – 1786 में कराया गया था। मुख्य रूप से इसका निर्माण अनाज के भंडारण के लिए कराया गया था। इसमे लगभग 140000 टन अनाज का भंडारण किया जा सकता है।

यह बिहार राज्य की राजधानी पटना के गांधी मैदान में के पश्चिम में स्थित है। इसके छत से पटना शहर का एक बड़ा हिस्सा देखा जा सकता है।

गोलघर के संदर्भ में महत्वपूर्ण जानकारियां – Patna Golghar Information

  • यह पटना जंक्शन से 5 किमी की दूरी पर स्थित है। यहाँ पहुँचने के लिए टैक्सी की सुविधा उपलब्ध है।
  • यहाँ घूमने में 1रू30 से 1 घण्टे का समय लग जाता है।

प्रवेश शुल्क-

  • निःशुल्क
  • पटना म्युज़ियम – Patna Museum

इस संग्रहालय को यहाँ के स्थानीय लोगो द्वारा प्यार से जादूगर नाम से सम्बोधित किया जाता है। इसमें भगवान गौतम बुद्ध के अवशेष, दीदारगंज याक्षी की मूर्तियां ऐसे और भी बहुत से बेशकीमती चीजे पदसंग्रहित की गई है। इतिहास प्रमियों के लिए यह जगह काफी अच्छी है।

पटना म्यूजियम से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारियां – Patna Museum Information

  • यह म्यूजियम पटना रेलवे स्टेशन से 4 किमी की दूरी पर बना हुआ है। यहाँ पहुँचने के लिए टैक्सी की सुविधा उपलब्ध है।
  • यहाँ घूमने में 1 से 2 घण्टे का समय लग जाता है।

प्रवेश शुल्क –

  • 15 रु / व्यक्ति ( भारतीय पर्यटक के लिए)
  • 250 रु / व्यक्ति (विदेशी पर्यटक के लिए) (Approx Changeable)
  • बिहार म्यूजियम – Bihar Museum

बिहार संग्रहालय पटना जिले में खोला गया एक नवनिर्मित संग्रहालय है, जो साल 2015 में खोला गया था। इस संग्रहालय में पटना संग्रहालय की तुलना में 100 से अधिक कलाकृतियां संग्रहित की गई हैं।।

बिहार म्यूजियम से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारियां – Bihar Museum Information

  • यह म्यूजियम पटना रेलवे स्टेशन से 5 किमी की दूरी पर है। यहाँ पहुंचने के लिए टैक्सी की सुविधा उपलब्ध है।
  • सोमवार बन्द

प्रवेश शुल्क-

  • 20 रु / व्यक्ति (भारतीय पर्यटक के लिए)
  • 250 रु / व्यक्ति (विदेशी पर्यटक के लिए) (Approx Changeable)
  • 2 रु / व्यक्ति (छात्रों के समूह के लिए)
  • 2 रु / बैग (लाकर रूम)

बुद्धा अवशेष गैलरी के लिए –

  • 100 रु / व्यक्ति (भारतीय पर्यटक के लिए)
  • 500 रु / व्यक्ति (विदेशी पर्यटक के लिए ) (Approx Changeable )

कैमरा चार्ज –

  • मोबाइल कैमरा – 20 /-
  • फ़्लैश कैमरा – 100 /-
  • वीडियो कैमरा – 500 /-

गाइड चार्ज –  

  • 1 व्यक्ति के लिए – 25 /-
  • 2 – 5 व्यक्तियों के लिए – 50 /-
  • 6 – 10 व्यक्तियों के लिए – 100 /-
  • संजय गांधी जैविक उद्यान – Sanjay Gandhi Jaivik Udyan

संजय गांधी जैविक उद्यान की स्थापना 1969 में हुई थी परन्तु इसकी शुरुआत 1973 में हुई। यह बिहार की राजधानी पटना में स्थित है। यहाँ पर हर वर्ष लगभग 20 लाख पर्यटक आते हैं। 152.95 एकड़ के क्षेत्र में फैले इस उद्यान में जानवरों की कुल 70 प्रजातियां पायी जाती हैं। इसके अलावा यहाँ मछलियों की 35 प्रजातियां, सर्प की 5 प्रजातियां एवं लगभग 300 प्रकार के वृक्ष पाए जाते हैं।

संजय गांधी जैविक उद्यान से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारियां – Sanjay Gandhi Jaivik Udyan Information

  • यह उद्यान पटना रेलवे स्टेशन से 6 किमी की दूरी पर स्थित है। यहाँ पहुँचने के लिए टैक्सी की सुविधा उपलब्ध है।
  • सोमवार बंद
  • यहाँ घूमने में 1 से 2 घंटे का समय लग जाता है।

प्रवेश शुल्क –

  • 30 / व्यक्ति (वयस्को के लिए)
  • 10 / व्यक्ति (बच्चों के लिए)
  • 5 / व्यक्ति (छात्रों के समूह के लिए)
  • बराबर गुफाएं – Barabar Caves

बराबर गुफाएं चट्टानों से काटकर बनाई गई भारतीय गुफाओं में से सबसे प्राचीन गुफा है। इन गुफाओं का प्रयोग विविध सम्प्रदायों जैसे – जैन सम्प्रदाय, बौद्ध सम्प्रदाय और आजीविका सम्प्रदाय के सन्यासियों द्वारा होता था। वर्षा ऋतु के दौरान ये सन्यासी बारिश से अपनी रक्षा करने के लिए इन्ही गुफाओं में शरण लेते थे।

बराबर गुफाओं से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारियां – Barabar Caves  Information

यह जहानाबाद रेलवे स्टेशन से 33 किमी की दूरी पर है, वही गया रेलवे स्टेशन से इसकी दूरी 31 किमी की है। यहाँ पहुँचने के लिए प्राइवेट टैक्सी की सुविधा उपलब्ध है।

यहाँ घूमने में 3 से 4 घंटे का समय लग जाता है।

प्रवेश शुल्क –

  • निःशुल्क।
  • बुद्धा स्मृति पार्क – Buddha Smriti Park

यह बुध्द स्मृति पार्क बिहार राज्य की राजधानी पटना में बना हुआ हैए जो कि 22 एकड़ जमीन पर फैला हुआ है। इस पार्क के बीचोबीच 200 फ़ीट ऊंचा एक स्तूप बनाया गया है इस स्तूप में बुद्ध की अस्थि के अवशेष रखे गए हैं। यह पार्क पूरी दुनिया के बौद्ध पर्यटकों के बीच आकर्षण का केंद्र है।

बुद्धा स्मृति पार्क से जुड़ी मुख्य जानकारियां – Buddha Smriti Park Information

यह पार्क पटना रेलवे स्टेशन से 4 किमी की दूरी पर स्थित है। यहाँ पहुँचने के लिए टैक्सी की सुविधा उपलब्ध है।

प्रवेश शुल्क:

  • 10 / व्यक्ति (2 घंटे के लिए वैद्य )

मेडिएशन सेंटर प्रवेश शुल्क:

  • 200 / व्यक्ति  (2 घंटे के लिए वैद्य)
  • फंटसिया वॉटर पार्क – Funtasia Water Park

यह वॉटर पार्क बच्चों से लेकर बड़ो तक के लिए अत्यंत रोमांचक जगह है। अगर आप बिहार भ्रमण कमलिये आते हैं, तो इस वॉटर पार्क में घूम कर आप अपने टूर को बेहतरीन बना सकते हैं। यह हर उम्र के लोगो के लिए अलग – अलग राइड्स उपलब्ध हैं, जिनका आनन्द आप ले सकते हैं।

फंटसिया वॉटर पार्क से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां – Funtasia Water Park Information

यह वॉटर पार्क पटना रेलवे स्टेशन से 10 किमी की दूरी पर स्थित है। यहाँ पहुँचने के लिए टैक्सी की सुविधा उपलब्ध है।

  • ककोलत जलप्रपात – Kakolat Waterfall

ककोलत जलप्रपात को बिहार राज्य के कश्मीर नाम से भी सम्बोधित किया जाता है। इसकी प्राकृतिक सुंदरता अतिशोभनीय है। ककोलत जलप्रपात की ऊंचाई लगभग 160 फ़ीट है। गर्मी के मौसम में इस जलप्रपात पर पर्यटकों की भीड़ देखने को मिलती हैए देश विदेश से पर्यटकों की भीड़ यहाँ पिकनिक मनाने आती है।

  • ककोलत जलप्रपात से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां – Kakolat Waterfall Information

यह जलप्रपात बिहार राज्य के नवादा जिले में स्थित है। यह नवादा रेलवे स्टेशन से 33 किमी की दूरी पर स्थित है। यहाँ पहुँचने के लिए आप प्राइवेट टैक्सी का सहारा ले सकते हैं।

प्रवेश शुल्क –

  • निःशुल्क।
  • श्रीकृष्णा विज्ञान केंद्र – Srikrishna Science Centre

यह पर्यटन की दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण जगह है। यह न केवल पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण है अपितु यहाँ आने से आपको विज्ञान से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां भी प्राप्त होती है। यहाँ पर विज्ञान को रोचक बनाने के लिए अनेक अद्भुत इंटरएक्टिव प्रदर्शनियां लगाई जाती हैं।

श्रीकृष्णा विज्ञान केंद्र से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारिया – Srikrishna Science Centre Information

  • यह पटना रेलवे स्टेशन से 5 किमी की दूरी पर स्थित है। यहाँ पहुँचने के लिए आप टैक्सी का सहारा ले सकते हैं।
  • यहाँ घूमने में 2 से 3 घंटे का समय लग जाता है।
  • शेर शाह सूरी का मकबरा – Sher Shah Suri Tomb

शेर शाह सूरी का मकबरा बिहार राज्य के सासाराम जिले में स्थित है। यह मकबरा अफगानी स्थापत्य कला का बेजोड़ नमूना है। शेर शाह सूरी का यह मकबरा अपने ऐतिहासिक महत्व के साथ – साथ बेजोड़ खूबसूरती के लिए भी प्रसिद्ध है। इस मकबरे को सन 1998 में संयुक्त राष्ट्र ने विश्व धरोबर मे शामिल करने का फैसला लिया। इस मकबरे की अद्भुत एवं बारीकी से की गई कलाकारी पर्यटकों को खूब लुभाती है।

शेर शाह सूरी के मकबरे से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां – Sher Shah Suri Tomb Information

यह मकबरा सासाराम रेलवे स्टेशन से 2 किमी की दूरी पर स्थित है। यहाँ पहुचने के लिए आप टैक्सी का सहारा ले सकते हैं। इसके अलावा यदि आप पैदल जाना चाहते है तब भी यह जगह ज्यादा दूर नही है।

  • द ग्रेट बुद्धा स्टेचू – The Great Buddha Statue

बिहार राज्य के बोधगया शहर में स्थित बुद्ध की यह प्रतिमा बौद्ध धर्म के लोगो का प्रमुख धार्मिक स्थल है। बुद्ध के यह प्रतिमा 25 मीटर ऊंची हैए जिसमे भगवान बुद्ध ध्यान की मुद्रा में बैठे हुए हैं। बुद्ध का यह रूप शांति प्रदान करने वाला है।

द ग्रेट बुद्धा स्टेचू से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारियां – The Great Buddha Statue Information

द ग्रेट बुद्धा स्टेचू गया रेलवे स्टेशन से 16 किमी की दूरी पर है। यहाँ जाने के लिए आप टैक्सी का सहारा ले सकते हैं।

प्रवेश शुल्क –

  • निःशुल्क।
  • रोहतास दुर्ग – Rohtas Fort

बिहार राज्य के रोहतास जिले में स्थित रोहतास  दुर्ग, भारत के सबसे प्राचीन दुर्गों में से एक है। इसका निर्माण 17वीं शताब्दी में हुआ था।

रोहतास दुर्ग से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां – Rohtas Fort Information

यह रोहतास जिले से लगभग 120 किमी की दूरी पर स्थित है।

  • जल मंदिर – Jal Mandir

जल मंदिर एक तालाब के बीचोबीच बना हुआ मंदिर हैए जहाँ भगवान महावीर की चरण पादुका रखी हुई है। ऐसी मान्यता है कि भगवान महावीर का अंतिम संस्कार इसी तालाब के पास हुआ था। चूंकि यह मंदिर पानी के बीचोबीच बना हुआ है, अतः इस मंदिर तक पहुँचने के लिए 600 फ़ीट लम्बा एक पल बना हुआ है। यह मंदिर जहाँ एक तरफ धार्मिक आस्था के लिए महत्वपूर्ण है वही दूसरी तरफ इसकी सुंदरता भी लुभाने वाली है।

जल मंदिर से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां – Jal Mandir Information

यह मंदिर पावापुरी रेलवे स्टेशन से 10 किमी की दूरी पर स्थित हैए वही पटना रेलवे स्टेशन से इसकी दूरी 94 किमी है, जबकि गया रेलवे स्टेशन से इसकी दूरी 80 किमी है।

  • मुंडेश्वरी मंदिर  – Mundeshwari Temple

यह मंदिर बिहार राज्य के कैमूर जिले में रामगढ़ के निकट स्थित है। यह मंदिर ऐतिहासिक दृष्टि से अत्यंत पुराना मंदिर है। इतिहास की माने तो इस मंदिर में पिछले 1900 सालों से पूजा हो रही है। इस मंदिर की खास विशेषता यह है कि यहाँ सात्विक तरीके से पशु की बलि दी जाती हैए अर्थात यह पर बाली तो दी जाती है परन्तु पशु का जीवन नही खत्म किया जाता है। नवरात्र के समय मे यहाँ श्रद्धालुओं की भीड़ देखने को मिलती है।

यह मंदिर न केवल धार्मिक दृष्टि से महत्वपूर्ण है अपितु ऐतिहासिक दृष्टि से भी इसका अत्यंत महत्व है।

मुंडेश्वरी मंदिर से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां – Mundeshwari Temple Information

यह मंदिर कैमूर शहर से 22.3 किमी की दूरी पर स्थित है।

प्रवेश शुल्क –

  • निःशुल्क।

दोस्तो यह थी बिहार राज्य से जुड़ी खास जानकारियां एवं इस राज्य में घूमने लायक मुख्य जगहों के बारे में जानकारियां। इसके अलावा यहाँ पर देखने लायक जगहों में महात्मा गांधी सेतु, वेणु वन, गांधी संग्रहालय इत्यादि जगह है।

Read More:

Hope you find this post about ”बिहार के दर्शनीय स्थल – Tourist places in Bihar” useful. if you like this information please share on Facebook.

Note: We try hard for correctness and accuracy. please tell us If you see something that doesn’t look correct in this article about Bihar tourism and if you have more information about Bihar tourism places then help for the improvements this article.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.