Skip to content

आवेदन पत्र कैसे लिखे?

Aavedan Patra Kaise Likhe

बहुत बार हमें किसी खास मकसद हेतु किसी व्यक्ति, संस्था या कंपनी इत्यादि को आवेदन लिखना होता है, हालाँकि हर आवेदन को लिखने के पीछे का उद्देश्य भिन्न हो सकता है। यहाँ पर सबसे महत्वपूर्ण बात ये होती है के हमें आवेदन पत्र लिखने की बुनियादी रचना मालूम होनी चाहिए जो के अनिवार्य भी होता है, तभी हम सही तरीके से आवेदन पत्र लिख सकते है।

आप में से कुछ लोग शायद इस बात से अंजान होंगे के वो कौनसी बाते होती है जिनका आवेदन पत्र में होना आवश्यक होता है, जिससे सामने वाले व्यक्ति तक आपका उद्देश्य सही तरीके से पहुँचता है तथा इन बातो को उल्लेखित करने से आवेदन पत्र आकर्षक और अच्छी तरह से व्यवस्थित भी दिखाई पड़ता है। इस लेख द्वारा दी जानेवाली अहम जानकारी में इन सभी पहलुओं पर रोशनी डालने का हमारा प्रयास होगा साथ ही उदहारण के तौर पर कुछ आवेदन पत्र भी यहाँ आपको पढ़ने को मिलेंगे।

यहाँ पर हर मुद्दे को आपको बारीकी से जानना और समझना है ताकि भविष्य में जब भी कभी आपको आवेदन पत्र लिखना होगा तब इस जानकारी के सन्दर्भ का आप उचित लाभ प्राप्त कर सकेंगे तथा किसी भी प्रकार के उलझन के बिना बेहतरीन आवेदन पत्र लिखने में सक्षम बन जायेंगे।

आवेदन पत्र कैसे लिखे? – How to write Application in Hindi

How to write Application in Hindi

प्रमुख मुद्दें :

  1. संक्षेप में आवेदन पत्र के बारे में महत्वपूर्ण बाते – Important Key Points About Application Letter.
  2. कैसे लिखना होता है प्रभावशाली आवेदन पत्र? जानिए विस्तार से – How to Write Application by Effective Way.
  3. विभिन्न उद्देश्य के लिए आवेदन के उदाहरण – Examples of Application.
  4. FAQ.

संक्षेप में आवेदन पत्र के बारे में महत्वपूर्ण बाते – Important Key Points About Application Letter

यहाँ मुख्य विषय की तरफ बढ़ने से पहले हम कुछ अहम बातो पर नजर डालेंगे, जो के आवेदन पत्र से सम्बंधित है और इसे जानने के बाद आप इस विषय को स्पष्ट रूप से जान सकेंगे, वो सभी मुद्दे निम्नलिखित तौर पर दिए हुए है जो के इस प्रकार से है;

  • आवेदन पत्र का उद्देश्य अलग अलग हो सकता है पर अधिकतर बार आवेदन पात्र द्वारा व्यक्ति, संस्था या कंपनी इत्यादि को अनुरोध किया जाता है।
  • आवेदन पत्र लिखना अनुरोध करने का वो सरल और मान्य तरीका होता है, जिस से स्पष्ट और कम शब्दों में आपको अपना उद्देश्य अन्य व्यक्ति, संस्था, कंपनी आदि तक पहुँचना होता है।
  • आम तौर पर शिक्षा संस्थान, वित्तीय संस्था, रोजगार कार्यस्थल, सार्वजनिक क्षेत्र तथा निजी क्षेत्र के कामकाज से सम्बंधित उद्देश्य आदि हेतु आवेदन पत्र लिखा जाता है, परंतु इन सभी के लिए लिखे जानेवाले आवेदन पत्र में कुछ बुनियादी बदलाव होते है जिसे आप आगे बेहतर ढंग से जान पायेंगे।
  • आवेदन पत्र लिखते समय ना केवल शब्दों की मर्यादा को ध्यान में रखना होता है, बल्कि भाषाशैली और भाषा शुद्धता भी काफी अनिवार्य बात होती है। इन सभी बातो को आपको आवेदन पत्र लिखते समय ध्यान में रखना आवश्यक होता है।
  • हम किस व्यक्ति या संस्था को आवेदन लिख रहे है तथा हमारा आवेदन लिखने के पीछे का मकसद क्या है ये बाते प्रतिक्षण आवेदन लिखते समय हमारे दिमाग में स्पष्ट होनी चाहिए।
  • आवेदन पत्र में आदर तथा अनुरोध स्पष्ट रूप से झलकना चाहिए, इस बात का सदैव स्मरण रखे।
  • किसी भी आवेदन पत्र में व्यक्तिगत जीवन से संबंधित बातो को उल्लेखित करने की आवश्यकता होने पर ही उन्हें लिखना आवश्यक होता है, पर हमेशा मर्यादा रखकर अत्यंत कम शब्दों में इसे बयान करे। किसी अपवाद के परिस्थिति में ही व्यक्तिगत बातो को आवेदन पत्र में लिखना उपयुक्त समझा जाता है, वरना ऐसी बाते जितना हो सके टालने की कोशिश करे।

उपरोक्त दी हुयी बातो को आपको किसी भी उद्देश्य से लिखे जानेवाले आवेदन पत्र को लिखते समय ध्यान में रखना है, आगे हम अपने मुख्य विषय की ओर बढ़ेंगे जिसमे आपको आवेदन पत्र को पूर्ण रूप से जानने को मिलेगा।

कैसे लिखना होता है प्रभावशाली आवेदन पत्र? जानिए विस्तार से – How to Write Application by Effective Way

निम्नलिखित तौर पर दी हुयी बाते आवेदन पत्र में होना आवश्यक होता है जो के इस प्रकार से है;

  • आवेदन पत्र की शुरुवात अभिवादन से करे: कभी भी किसी भी प्रकार के आवेदन पत्र की शुरुवात आदर युक्त शब्दों द्वारा करनी चाहिए इस हेतु “सेवा में” या फिर “आदर पूर्वक सेवा में” आदि शब्दों का इस्तेमाल करना उचित और औपचारिक होता है।
    उदहारण के तौर पर जैसे के: आदर पूर्वक सेवा में, सेवा में, नम्रतापूर्वक सेवा में इत्यादि।
  • उसके पश्चात आपको निचे उस व्यक्ति का पद नाम, कार्यस्थल का पता आदि बातो का विवरण देना होता है।
    उदाहरण: प्रधानाचार्य, शाखा प्रबंधक, नगर निगम आयुक्त, जिलाधिकारी इत्यादि।
  • पद नाम के विवरण के बाद आपको उस व्यक्ति के कार्यस्थल का पता ठीक निचे लिखना होता है।
  • अब आपको आवेदन पत्र लिखने का सटीक और सत्य उद्देश्य लिखना लिखना होता है जिसे आपको ‘विषय’ के तौर पर लिखना होता है।
    उदाहरण: बैंक शाखा को बदलने हेतु, शिक्षा प्रमाणपत्र को प्राप्त करने हेतु, शहर में स्वच्छता और पानी की समस्या से अवगत कराने हेतु, नौकरी से कुछ दिनों के छुट्टी मिलने हेतु इत्यादि।
  • इस प्रकार से आवेदन की शुरुवात की जाती है जिसमे अब सबसे अंत में आपको ‘महोदय’, ‘महाशय’, ‘श्रीमान’ आदि शब्दों का उल्लेख करना होता है। इन शब्दों के पश्चात कॉमा का इस्तेमाल करके निचे से नए पैराग्राफ के साथ आपको आवेदन के प्रमुख भाग को लिखने के लिए आगे बढ़ना होता है।
  • आवेदन पत्र के मुख्य विभाग को लिखने की शुरुवात कुछ असरदार तथा आदरयुक्त शब्दों से करना आवश्यक होता है जैसे के ‘नम्रतापूर्वक निवेदन’, ‘सविनय निवेदन’, यह दर्शाता है के आप के मन में विनम्रता का भाव है तथा आप आदरपूर्वक भाव से आवेदन कर रहे है।
  • आवेदन पत्र के मुख्य विभाग में आपको उन सभी महत्वपूर्ण बातो को अत्यंत कम शब्दों में लिखना होता है, जिस हेतु आप आवेदन पत्र लिख रहे है मतलब आपका उद्देश्य यहाँ पर स्पष्ट रूप से उल्लेखित होना आवश्यक होता है।
  • आवेदन पत्र का आपको कुछ विशिष्ट शब्दों के साथ अंत करना होता है जैसे के ‘आपका आज्ञाकारी शिष्य’, ‘आपका जागरूक उपभोक्ता’, ‘जागरूक नागरिक’, ‘आपका विनम्र कर्मचारी’ इत्यादि।
  • उपरोक्त विशिष्ट शब्द लिखने के बाद ठीक उसके निचे आपको अपना मोबाइल नंबर, मौजूदा तारीख, अगर आप ग्राहक है तो उसका विवरण इसके अलावा शिष्य है तो रोल नंबर आदि बातो को वर्णित करे। इसके अलावा अगर आवेदन दफ्तर के कामकाज, सरकारी मामलो से संबंधित हो या फिर किसी कंपनी और संस्था आदि हेतू होने की स्थिति में आपकी दस्तखत भी यहाँ पर लिखना बहुत जरुरी बात होती है।
  • आपको बता दे की आवेदन अधिकतर बार औपचारिक उद्देश्य से ही किया जाता है, बहुत कम बार अनौपचारिक उद्देश्य से आवेदन किया जाता है।

अबतक आपने उन सभी महत्वपूर्ण मुद्दों को पढ़ा जिसके द्वारा आप किसी भी उद्देश्य हेतु आवेदन लिख सकते है, अब आगे आप आवेदन के कुछ उदाहरण देखेंगे जिसे पढ़ने के पश्चात आपके सामने पूर्णतः ये बात स्पष्ट हो जाएगी की आवेदन किस प्रकार से करना होता है।

विभिन्न उद्देश्य के लिए आवेदन के उदाहरण – Examples of Application

  • उदाहरण १ – बैंक से नया पासबुक हासिल करने हेतु आवेदन।
  • उदाहरण २ – विद्यालय में अध्यापक पद हेतु आवेदन पत्र।
Examples of Application 1

१. उदाहरण १ – बैंक से नया पासबुक प्राप्त करने हेतु आवेदन। (Application for New Passbook)

_________________________________________

सेवा में,
शाखा प्रबंधक,
स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया,
संत कबीर चौक, गोदरेज शोरूम के सामने, भोपाल (मध्य प्रदेश)

विषय: नया पासबुक प्राप्त करने हेतु।

महोदय,
सविनय निवेदन, मै श्री. राकेश सुंदरलाल शर्मा पिछले ५ साल से आपके बैंक शाखा का ग्राहक हूँ, मेरा अकाउंट नंबर —————– है। पिछले हफ्ते कुछ व्यक्तिगत कारण से सफर के दौरान मेरा पासबुक गुम हो गया है जिसकी शिकायत मैंने नजदीकी पुलिस स्टेशन में की है। पर अब मुझे भविष्य में बैंक से संबंधित आर्थिक लेन देन हेतु पासबुक की जरुरत होगी इसलिए आपको नम्रता पूर्वक ये आवेदन करता हु के मुझे नया पासबुक दिया जाए। इस हेतु मैं आवेदन के साथ पुराने पासबुक की नक़ल कागजात, पुलिस स्टेशन की शिकायत की कागजात आदि को जोड़ रहा हूँ। मुझे पूरा विश्वास है के अगले कुछ दिनों में मेरे आवेदन पर विचार करने के बाद जल्द ही मुझे नया पासबुक आपके बैंक शाखा से उपलब्ध कराया जाएगा।

आपका विश्वसनीय ग्राहक,
राकेश सुंदरलाल शर्मा,
दस्तखत: ————
खाता संख्या: ——————-
मोबाइल नंबर: —————–
तारीख: १५ / १२ / २०१५

_________________________________________

Examples of Application 2

उदाहरण २ : विद्यालय में अध्यापक पद हेतु आवेदन पत्र। (Application for Teaching Job)

_________________________________________

सेवा में,
श्रीमान प्रधानाचार्य,
सरस्वती विद्या भवन स्कुल, रेल स्टेशन रोड, भटिंडा (पंजाब),

विषय: हिंदी विषय के अध्यापक पद इच्छुक आवेदन।

आदरणीय महोदय,
विनम्रतापूर्वक निवेदन, मै जसपाल सिंह बाजवा निम्नलिखित तौर पर दस्तखत करने से पूर्व आवेदन करता हु के मैंने अख़बार पत्र में आपके विद्यालय में हिंदी विषय के लिए आवश्यक अध्यापक पद हेतु पढ़ा है। आपको बताना चाहूँगा के विगत ४ साल से मैं हिंदी अध्यापक के रूप में कार्य कर रहा हु, तथा मैंने हिंदी विषय में स्नातकोत्तर पढाई के साथ शिक्षा में स्नातक डिग्री भी पूरी की है। इसीलिए मैं आपके विद्यालय में हिंदी अध्यापक के रूप में कार्य करने के लिए इच्छुक हूँ, आपसे इस आवेदन के द्वारा नम्र निवेदन करता हु के मुझे साक्षात्कार का एक अवसर प्रदान करे जिस से मैं आपके समक्ष छात्रों को हिंदी से संबंधित कुछ पढ़ाकर दिखा सकूँ। मेरा परिचय पत्र इस आवेदन के साथ जोड़ रहा हु, मूल कागजात आपके सामने साक्षात्कार के समय प्रस्तुत करूँगा। मैं पूरी तरह से आश्वस्त हूँ के मेरे इस आवेदन पर आपके तरफ से पूर्ण विचार किया जायेगा तथा इस विषय में मुझे जल्द ही सूचित किया जाएगा।

विनम्र आवेदक,
जसपाल सिंह बाजवा
दस्तखत:
मोबाइल नंबर: —————–
तारीख: ०५/ ०२/२०१८

_________________________________________

नोट: उदाहरण में दिए गए स्थल, व्यक्ति नाम तथा कंपनी या संस्था की जानकारी केवल उदाहरण मात्र दी गई है जिसका किसी भी वास्तविक बातो से कोई संबंध नहीं है, अगर किसी भी स्थिति में इस प्रकार की समानता पायी जाती है तो इसे केवल मात्र संयोग माना जाएगा।

इस प्रकार से अबतक आपने आवेदन की संपूर्ण पध्दति के साथ इसके कुछ उदाहरणों को पढ़ा, हमे पूरा विश्वास है के दी गई जानकारी को आप अच्छे तरह से समझ चुके होंगे। अन्य विषयो से जुडी जानकारी को पढ़ने हेतू हमारे विभिन्न विषयो पर बने लेख अवश्य पढ़े तथा इस महत्वपूर्ण जानकारी को सभी के साथ साझा करे। अबतक हमसे बने रहने हेतु बहुत बहुत धन्यवाद…

आवेदन के बारे में अधिकतर बार पूछे जाने वाले सवाल – Gk Quiz on Application

Q. आवेदन के कितने प्रकार होते है? वो कौनसे है? (How many types of Application Letter? What is that?)

जवाब: आवेदन के दो प्रकार होते हैं, जो के औपचारिक और अनौपचारिक आवेदन होते है।

Q. नौकरी हेतु आवेदन पत्र में शिक्षा संबंधी उल्लेख करना आवश्यक होता है क्या? (Is it essential to mention about education in to employment related application letter?)

जवाब: यह अनिवार्य नहीं होता है, क्योंकि इन बातो को आपने परिचय पत्र में उल्लेखित किया होता है।

Q. एक ग्राहक के रूप में अगर किसी भी बैंक में आवेदन करना हो तो किसके प्रति आवेदन करना होता है? (As a customer, if applying to any bank, to whom one has to apply?)

जवाब: शाखा प्रबंधक को।

Q. किसी भी विद्यालय में नौकरी हेतु आवेदन करना हो तो ऐसा आवेदन किसके प्रति करना होता है? (For employment if applying to any school, then to whom one has to apply?)

जवाब: प्रधानाचार्य।

Q. कार्यस्थल पर छुट्टी हेतु आवेदन करना हो तो, क्या ईमेल द्वारा आवेदन देना योग्य होता है? (If you want to apply for leave at work, is it eligible to apply by email?)

जवाब: हाँ, आजकल बहुत बार इसी पध्दति का इस्तेमाल किया जाता है।