सिक्किम का इतिहास और जानकारी

Sikkim History in Hindi

सिक्किम जैसा काफी छोटा राज्य भारत के उत्तरपूर्वी दिशा में स्थित है। इसके उत्तर और पूर्व में चीन, पूर्व में भूटान, पश्चिम में नेपालऔर इसके दक्षिण में पश्चिम बंगाल राज्य है। गंगटोक इस राज्य की राजधानी है। यहापर हमारे देश का सबसे बड़ा और दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा पर्वत कन्चंजुन्गा भी पाया जाता है। राज्य का लगभग 30 प्रतिशत हिस्सा कन्चंजुन्गा राष्ट्रीय उद्यान से घिरा हुआ है।

सिक्किम का इतिहास और जानकारी – Sikkim History in Hindi

Sikkim History Information

सिक्किम राज्य की जानकारी – Sikkim Information in Hindi

राज्य का नामसिक्किम (Sikkim)
राजधानी का शहर (Capital of Sikkim)गंगटोक (Gangtok)
राज्य निर्मिती का साल१६ मई १९७५।
राज्य के अंतर्गत कुल जिलों की संख्या (District in Sikkim)४।
क्षेत्रफल अनुसार राज्य का देश मे स्थान२७ वा(27th)
जनसँख्या अनुसार राज्य का देश में स्थान २८ वा (28th)
राज्य में बोली जानेवाली प्रमुख भाषाए
  • अंग्रेजी,
  • नेपाली,
  • सिक्किमी,
  • लेपचा,
  • लिंबू,
  • मगर,
  • गुरुंग,
  • शेरपा,
  • तमंग,
  • नेवारी इत्यादि।
राज्य का प्रमुख नृत्य (Dance of Sikkim)रेचुंग्मा, मरुनी नृत्य।
प्रमुख पेड़ (वृक्ष) (State Tree of sikkim)रोडोडेंड्रोन।
प्रमुख फूल (पुष्प) (State Flower of Sikkim)नोबल डेंड्रोबियम पुष्प।
प्रमुख फल (State Fruit of Sikkim)मैन्डरिअन संतरा।
राज्य का प्रमुख पक्षी (State Bird of Sikkim)रक्तवर्णीय तितर।
राज्य का प्रमुख जानवर (State Animal of Sikkim)लाल पांडा।
वित्तीय और राज्यनिहाय सिक्किम राज्य की कोड संख्या (State Code of Sikkim)११(11th)

सिक्किम का इतिहास – Sikkim ka Itihaas

17 वी शताब्दी में नामग्याल वंश ने सिल्क रस्ते पर सिक्किम राज्य की स्थापना की थी। उस समय इस राज्य पर चोग्याल नामक राजा का शासन था। सन 1890 मे इस राज्य पर अंग्रेजो ने कब्ज़ा कर लिया था। लेकिन सन 1947 के बाद यह राज्य भारत का स्वतन्त्र राज्य में गिनना शुरू हो गया।

हिमालय में जितने भी राज्य है उनमेसे सबसे ज्यादा साक्षरता का दर और प्रति व्यक्ति आय का दर सबसे ज्यादा यही है। सन 1975 में भारतीय सेना ने इस राज्य में चल रहे राजतन्त्र को ख़तम कर दिया। सन 1975 के जनमत के आधार पर इसे भारत में शामिल कर लिया गया और तभी से यह भारत का 22 वा राज्य बन गया।

इस राज्य की केवल एक या दो विशेषताए नहीं बल्की कई सारी खास बाते इस राज्य से जुडी है। उसमेसे सबसे पहली और खास बात यह है की पुरे भारत में सबसे ज्यादा इलायची का उत्पादन इसी राज्य में होता है। यानि हमारे यहा जो इलायची आती है वो ज्यादातर सिक्किम से ही आती है।

और गौटेमाला के बाद पूरी दुनिया में मसालों के उत्पाद में सिक्किम का दूसरा नंबर लगता है। इस छोटेसे राज्य की दूसरी एक खास बात यह है की पुरे देश में जैविक खेती को पूरी तरह से अपनाने वाला पहला राज्य है। यानि की यहापर जो खेती होती है वो पूरी तरह से सुरक्षित होती है और इससे पर्यावरण को कोई भी हानी नहीं होती।

पर्यावरण की सुरक्षा के लिए इस राज्य ने एक और बात अच्छी की है, वो यह है की यहापर कोई भी प्लास्टिक की बोतल इस्तेमाल नहीं करता। पुरे राज्य में कही भी प्लास्टिक की एक बोतल भी देखने को नहीं मिलती।

सिक्किम के जिले – Districts of Sikkim

सिक्किम के चार जिले है: पश्चिम, पूर्व, उत्तर और दक्षिण।

सिक्किम में धर्मं – Religions in Sikkim

यहाँ पर हिन्दू और वज्रयान बौद्ध धर्मं के लोग बड़ी मात्रा में देखने को मिलते है। जिसमे लगभग 57.8 प्रतिशत लोग हिन्दू धर्म का पालन करते है। और 27.3 प्रतिशत लोग वज्रयान बौद्ध धर्मं का पालन करते है और यह राज्य का दूसरा सबसे बड़ा धर्मं है।

Sikkim Temple

Sikkim Temple
Sikkim Temple

यहापर जितने भी लोग क्रिस्चियन धर्मं के है वो लेपचा वंश के उत्तराधिकारी है और उन्हें अंग्रेजो ने जबरदस्ती धर्म परिवर्तन करने लिए मजबूर किया था। वो कुल जनसँख्या के 10 प्रतिशत है। 2014 की तारीख तक इवैंजेलिकल प्रेसबायतेरियान चर्च सिक्किम का सबसे बड़ा चर्च है। यहापर कुछ बिहार के मुस्लीम धर्मं और जैन धर्मं के लोग रहते है और वो कुल जनसँख्या के केवल 1 प्रतिशत ही है।

सिक्किम राज्य की भाषा – Language of Sikkim

इस राज्य में कई सारे संप्रदाय के लोग और अलग अलग भाषा बोलने वाले लोग है। सिक्किम की 11 अधिकारिक भाषाए है उनमे नेपाली, मगर, सिक्किमी, तमांग, लिम्बू, लेपचा, नेवारी, राइ, गुरुग, सुन्वार, और इंग्लिश भी शामिल है। सभी स्कूलों में इंग्लिश भाषा पढाई जाती है और सभी सरकारी कागजात में भी इंग्लिश भाषा का इस्तेमाल किया जाता है।

सिक्किम की नदिया – Sikkim River

सिक्किम की सबसे बड़ी नदी तीस्ता है। यह नदी सिक्किम को दो हिस्सों में बाटती है। तीस्ता नदी को सिक्किम की गंगा कहा जाता है। सिक्किम के ज्यादातर लोग तीस्ता नदी पर ही निर्भर है। रिंगित नाम की नदी भी यहाँ की प्रमुख नदी मानी जाती है।

सिक्किम की संस्कृति – Sikkim Culture in Hindi

देश में सबसे कम जनसंख्या सिक्किम राज्य में ही है। यहापर नेपाली लोग (75%), लेपचा (20%) और भुतिया और लिम्बस धर्मं के लोग भी कम संख्या में पाए जाते है। इस राज्य में सबसे पहले आनेवाले लोग लेपचा ही थे। 13 वी शताब्दी में तिब्बत के खाम प्रदेश से आनेवाले भूटिया लोगो ने साथ में ही बौद्ध धर्मं के महायान पंथ को भी साथ में लाया था।

सिक्किम में सबसे आखिरी में आनेवाले नेपाली लोग ही थे और वो 19 वी शताब्दी में आये थे। तीनो लोगो की संस्कृति को मिलाकर आज की सिक्किम की नयी संस्कृति हमें देखने को मिलती है। नेपाली भी इस राज्य की भाषा है और ज्यादातर लोग इसी भाषा में बोलते है। एक शब्द जिसे सुखिम कहते हैजिसका अर्थ होता है की ‘सुखी परिवार, शांति की जगह’ और इस सुखिम शब्द से इस राज्य को सिक्किम नाम दिया गया है।

हिन्दू धर्म का पालन करनेवाले लोग ज्यादा होने के बावजूद भी यहापर बौद्ध धर्म का प्रभाव भी काफी हद तक पाया जाता है। यहाँ के शिल्पकला की बात की जाए तो इसमें सबसे महशूर चोकसी टेबल होते है और उन्हें तिब्बत की शैली में बनाया जाता है। यहापर मिलनेवाला ऊनि गलीचा काफी सुन्दर होता है। सोने और चांदी के जेवरात में नक्काशी किये हुए काफी महंगे खड़े मिलते है।

सिक्किम के त्यौहार – Festivals of Sikkim

सिक्किम के सभी लोग भगवान बौद्ध का जन्मदिन मनाते है। ऊन्हे जिस दिन ज्ञान की प्राप्ति होती उसे भी धूम धाम से मनाते है। भगवान बौद्ध का निर्वाण दिन भी यहापर मनाया जाता है। इसके अलावा भी बौद्ध धर्मं का नया साल और फसल उत्सव भी मनाया जाता है। सिक्किम के सभी लोग भगवान बौद्ध का जन्मदिन मनाते है।

ऊन्हे जिस दिन ज्ञान की प्राप्ति होती उसे भी धूम धाम से मनाते है। भगवान बौद्ध का निर्वाण दिन भी यहापर मनाया जाता है। इसके अलावा भी बौद्ध धर्मं का नया साल और फसल उत्सव भी मनाया जाता है। भारत के अन्य राज्यों की तरह हिन्दूओ के त्यौहार दीपावली, दशहरा, संक्रांति तथा राम नवमी बड़े उत्साह के साथ सिक्किम राज्य में भी मनाए जाते है।

सिक्किम राज्य के प्रमुख त्योहारों में सोनम लोचर, साकेवा, लोसर, बहारिमजोग आदि स्थानिक उत्सवों को भी हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता है। इसके अलावा तिब्बती नव वर्ष को भी सिक्किम में प्यार और भाईचारे के साथ मनाया जाता है। इस प्रकार से बुध्द तथा हिंदू धर्म के सालभर में आनेवाले त्यौहारों को सिक्किम में मनाया जाता है, जिसमे सभी लोग आपस में एक दूसरे के साथ शामिल होकर खुशियों से जीवन जीते है।

सिक्किम राज्य के लोगो की वेशभूषा – Traditional Costume/Dress of Sikkim People

सिक्किम के पुरुषो के प्रमुख पेहराव मे ‘थोकोरा दम’ प्रकार होता है जिसमे सफ़ेद पजामा, टोपी और शर्ट शामिल होता है, इसके अलावा यहाँ पर बसे नेपाली लोगो के पहनावे में नेपाली संस्कृति की झलक होती है। सिक्किम में रहने वाले भूतिया संप्रदाय के लोग बाखू या खू नामक पहनावे को पहनना पसंद करते है जो के उनका परंपरागत पोषाख होता है।

सिक्किम का कलानृत्य – Folk Dance of Sikkim State

मुखौटा नृत्य सिक्किम का सबसे प्रसिद्ध नृत्य है। इस नृत्य को त्यौहार के दौरान गोम्पा आंगन में किया जाता है। इस नृत्य में उनके पैरों की हालचाल काफी सुन्दर और देखनेलायक होती है। इस नृत्य के दौरान लाम लोग बहुत सुन्दर रंग वाले मुखौटे पहनेते है और पूरी तरह नृत्य के दौरान जेवरात से सजे हुए रहते है और उनके हातो में तलवार भी होती है और दूसरी तरफ़ ड्रम बजाये जाते है और तुरही बजायी जाती है और आजूबाजू में सभी मठवासी खड़े रहकर गाना गाते है।

सिक्किम के लोकनृत्य में विभिन्न प्रकार शामिल है जिसमे परंपरा और कला की अनोखी मनोरंजक झलक देखने को मिलती है, इनके प्रमुख लोकनृत्य में छू फाट नृत्य, याक छाम, सिंघई चाम, स्नो लायन नृत्य, सिकमारी, डेनजोंग नेनहा, मारुनी नृत्य, ताशी यांगुक, खुखरी नृत्य, चुटके नृत्य इत्यादि शामिल होता है।

सिक्किम के लोगो का प्रमुख खानपान- Staple food of Sikkim State

सिक्किम के लोगो के खानपान में नजदीकी क्षेत्र का प्रभाव अधिक दिखता है जिसमे पहाड़ी क्षेत्र जैसे के तिब्बत के खानपान से काफी ज्यादा समानता दिखाई पड़ती है। यहाँ के लोगों के खानपान शाकाहारी मोमो, चिकन मोमो, शाभाले तथा थुकपा आदि व्यंजन का प्रमुखता से शामिल होते है।

सिक्किम के जीवनशैली से जुड़ा कलाआविष्कार- Arts in Sikkim

प्राचीन कल से इस राज्य पर बौध्द दर्शन तथा मान्यताओं का काफी ज्यादा प्रभाव देखने को मिलता है जिसमे आसपास के इलाखे जैसे तिब्बत तथा नेपाल में मौजूद थांगका चित्रकला का काफी ज्यादा विस्तार और प्रचलन हुआ है। इस कालपद्धति का पेंटिंग तथा शिल्पकला में सुन्दर और काफी आकर्षक नक्काशियों का निर्माण प्रमुखता से देखने को मिलता है, इसमें भित्ति चित्र में इस अनूठे चित्रशैली का निर्माण राज्य में मौजूद विभिन्न बौध्द धर्मिक स्थलों पर मौजूद है।
 
बुध्द दर्शन, बुद्ध के जीवन से जुडी घटनाए तथा कल्पना शक्ति द्वारा उतारे गए अनेको प्रकार की मनोहारी चित्र कला को आप यहाँ आसानी से देख सकते है, जिसको देखने के बाद तिब्बती बुध्द मठो के दर्शन अनायास ही होने का अनुभव प्राप्त हो जाता है। सदियों से जुडी हुई धार्मिक बुध्द मान्यताए, पूजा पध्दति, योग आसन, पारंपरिक नियम इत्यादि का मिला जुला संयोग सिक्किम के थांगका कालपद्धति से बने वास्तु निर्माणों में तथा दीवारों पे लगाने योग्य पेंटिंग में आसानी से देखने को मिल जाता है।
 
इसके लिए आवश्यक सामग्री में सफ़ेद मिटटी, जिप्सम, आकर्षक रंगो का प्रयोग किया जाता है, जिसके बाद अत्यंत कुशलता और मेहनत के साथ आकर्षक कला आविष्कार का निर्माण होता है। ये जितना सुनने और पढ़ने में दिलचस्प है उससे कई गुना अधिक प्रत्यक्ष अनुभव में मन को प्रसन्न और आश्चर्यचकित करनेवाला होता है।

सिक्किम राज्य के प्रमुख शिक्षा संस्थान/यूनिवर्सिटी – University of Sikkim

  1. सिक्किम यूनिवर्सिटी
  2. सिक्किम मणिपाल यूनिवर्सिटी
  3. सिक्किम प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी
  4.  एस आर एम् यूनिवर्सिटी
  5. द आई सी एफ ए आई यूनिवर्सिटी
  6. विनायक मिशन सिक्किम यूनिवर्सिटी

सिक्किम देखने का सबसे अच्छा समय – Best Time to Visit Sikkim

यहाँ का सामान्य तापमान करीब 28 डिग्री ही रहता है। आप यहापर मार्च से जून और सितम्बर से दिसंबर तक आ सकते है। अगर आप यहापर होने वाली बारिश से बचाना चाहते है तो बारिश में मौसम में यहापर ना आना ही समझदारी वाला काम है।

Sikkim Tourist Places
Sikkim Tourist Places
भारत के इस छोटेसे राज्य ने बाकी बड़े बड़े राज्य की तुलना में काफी विकास किया है और आगे भी विकास के मार्ग पर बड़ी तेजी से जा रहा है। इसी बात को ध्यान में रखकर हमारे देश के सभी राज्यों में सबसे तेज विकास करनेवाले राज्य में सिक्किम जैसे छोटेसे राज्य को भी शामिल किया गया है।
 
हर राज्य की कम से कम एक अधिकारिक भाषा होती है लेकिन सिक्किम जैसे छोटेसे राज्य की केवल एक अधिकारिक भाषा नहीं बल्की कुल 11 अधिकारिक भाषाए है। इतना छोटासा राज्य होने के बाद भी इस राज्य की 11 भाषाए हो सकती है इसपर कोई विश्वास ही नहीं कर सकता। लेकिन हमें यह माननी पड़ेगी क्यों की यही इस राज्य की सच्चाई है।
 
इस विषय पर अधिकतर बार पूछे जाने वाले सवाल – GK Quiz on This Topic
  • भारत का राज्य सिक्किम किस खास विशेषता की वजह से प्रसिध्द है? (Why sikkim is so much famous?)                                                                                                जवाब: सिक्किम भारत का एकमात्र राज्य है जहा देश में सबसे अधिक मात्रा में इलायची का उत्पादन होता है, इसके अलावा मसालों से जुड़े पदार्थो के निर्माण में भी सिक्किम का भारत के अन्य राज्य के तुलना में श्रेष्ठ क्रम लगता है। बात करे पर्यटन की तो इस राज्य में अधिकतर हिमालयीन पहाड़ियों को देखने को मिलता है जिसके अंतर्गत प्राकृतिक सुंदरता का अद्भुत नजारा पर्यटकों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करता है।इस राज्य का सालभर तापमान लगभग २८ डिग्री सेंटीग्रेड होता है जिससे इसकी ठंडकता का अनुमान लगाया जा सकता है, जहाँ सालभर देश विदेश से पर्यटक पैराग्लाइडिंग, ट्रेकिंग आदि का लुफ्त उठाने के लिए आते रहते है। सिक्किम भारत का शायद एकमात्र राज्य है जहाँ आधिकारिक तौर पर ११ भाषाओ को मान्यता दी गई है, जहाँ पर विभिन्न धर्मीय लोग भाईचारे और शांति से जीवन जीते है।इत्यादि कारणों की वजह से सिक्किम देश और दुनिया में प्रसिध्द हुआ है।
  • सिक्किम में जाने के लिए यातायात की दृष्टी से कौनसे प्रमुख विकल्प मौजूद है? (How to reach at Sikkim?) जवाब: सड़क मार्ग से दार्जिलिंग से लेकर गंगटोक तक राष्ट्रीय महामार्ग क्रमांक १० द्वारा पहुँच सकते है, वही रेलमार्ग के लिए नजदीकी रेल स्टेशन सिलीगुड़ी और जलपाइगुड़ी जहा से लगभग देश के सभी प्रमुख शहरो से रेल गाड़िया आती जाती है। अभी तक इस राज्य में कोई एअरपोर्ट मौजूद नहीं है पर राज्य की राजधानी गंगटोक के साथ बागडोगरा स्थान से हैलीकैप्टर सेवा उप्लब्ध कराई गई है।
  • सिक्किम राज्य कहा पर स्थित है ?(Where is located Sikkim?)                                जवाब: सिक्किम के उत्तरी और उत्तर पूर्वी सिमा से जुडी चीन की सीमाए है, वही पूर्वी सिमा पर भूतान तो पश्चिमी सिमा पर नेपाल की सीमाए जुडी है इसके साथ दक्षिणी छोर पर भारत का राज्य पश्चिम बंगाल की सिमा सिक्किम से जुडी है जहा से पश्चिम बंगाल का सिलीगुड़ी सबसे नजदीकी हिल स्टेशन है। सिक्किम की राजधानी गंगटोक का अक्षवृत्तीय परिमाण २७ अंश ३३ मिनट उत्तर ८८ अंश ३० मिनट पूर्व है।
  • कौनसा समय सिक्किम में पर्यटन की दृष्टी से उत्तम होता है?(What is the best time to Visit Sikkim?)                                                                                                        जवाब: इस राज्य का अधिकतम तापमान सालभर में २८ डिग्री सेंटीग्रेड होता है, पर यहाँ बरसात के समय पहाड़ी इलाखा होने की वजह से धुँवाधार बारिश होती है इस लिए जून से लेकर सितम्बर माह को छोड़कर अन्य सभी माह में पर्यटन की दृष्टी से उत्तम समय होता है।
  • सिक्किम राज्य से जुडी ऐतिहासिक जानकारी को प्राप्त करने हेतु कौनसी किताबे फायदेमंद साबित होती है? (Sikkim History related informative books)                                                       जवाब: हिस्ट्री, कल्चर एंड कस्टम्स ऑफ़ सिक्किम, सिक्किम – रेक्विम फॉर अ हिमालयन किंगडम, सिक्किम – डौन ऑफ़ डेमोक्रेसी द ट्रुथ बिहाइंड द मर्ज ऑफ़ इंडिया, सन्स ऑफ़ सिक्किम – द राइज एंड फॉल ऑफ़ नामग्याल डायनेस्टी ऑफ़ सिक्किम, लीजेंड्स ऑफ़ द लेप्चास, द लामा व्हू नेव्हर वाज़ इत्यादि।
  • सिक्किम राज्य के अंतर्गत कौनसे प्राकृतिक सुंदरता से समृध्द पर्यटन स्थल मौजूद है? (What to see in Sikkim/ Tourism places in Sikkim)                                                          जवाब: नथुला पास (भारत चीन के बिच की अत्यंत नजदीकी सीमारेखा), त्सोमगो लेक, गोएचेला, झुलुक, बेस कैम्प, कंचनजंघा, तीस्ता नदी इत्यादि।
  • विभिन्न खेलों के प्रकार में से कौनसा सिक्किम राज्य का प्रमुख खेल है?(State Game of Sikkim) जवाब: फुटबॉल।
  • क्या सिक्किम राज्य से जुडा कोई समुद्री तटवर्तीय इलाखा उपलब्ध है? (Is there any beach available in Sikkim?)                                                                                                      जवाब: नहीं।
  •  सिक्किम राज्य के प्रथम गवर्नर कौन थे ?(First governor of Sikkim state)                जवाब: बी.बी. लाल।
  • सिक्किम राज्य अंतर्गत वन्य जीव संरक्षण हेतु कौनसे अभयारण मौजूद है? (Wildlife sanctuaries in Sikkim)                                                                                                  जवाब: कांचनजंघा नेशनल पार्क, क्योन्गोसला अल्पाइन अभयारण, फेम्बोंग ल्हो अभयारण, बार्सी रोडोडेंड्रोन अभयारण।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here